5 जिलों में 6 बूथों पर होगा पुनर्मतदान:चौथे चरण में मतदान के दौरान कहीं हुई थी बोगस वोटिंग तो कहीं मतपत्र लगाने में हुई थी गड़बड़ी

पटना7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक तस्वीर। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक तस्वीर।

बिहार पंचायत चुनाव के चौथे चरण का मतदान बुधवार यानी 20 अक्टूबर को संपन्न हो गया। प्रशासनिक स्तर पर मिली शिकायतों के बाद राज्य निर्वाचन आयोग की तरफ से चौथे चरण में 6 बूथों पर पुनर्मतदान कराने का निर्देश दिया गया। 5 अलग-अलग जिलों से सामने आई इन शिकायतों में मतपत्र में गडबड़ी से लेकर बोगस वोटिंग का मामला सामने आया था। इनमें समस्तीपुर, सारण, पश्चिमी चंपारण, पूर्वी चंपारण और कटिहार शामिल हैं।

5 जिलों में 6 बूथों पर फिर से होगा पुनर्मतदान

राज्य निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव के चौथे चरण के दौरान हुई वोटिंग को लेकर आई रिपोर्टिंग के आधार पर 5 जिलों के 6 बूथों पर पुनर्मतदान कराने का निर्देश दिया। इसमें पश्चिम चंपारण जिले के बगहा-1 हरदी नदवा पंचायत के वार्ड संख्या 8 की बूथ संख्या 227 है। यहां पंच पद के मतपत्र गलत छप जाने के कारण पुनर्मतदान होगा। पूर्वी चंपारण, ढाका के भगवानपुर में ग्राम पंचायत सदस्य के लिए वार्ड संख्या 3 के बूथ संख्या 179 पर ईवीएम कमीशनिंग में गलत मतपत्र लग जाने के कारण पुनर्मतदान होगा।

समस्तीपुर के विभुतिपुर में देशरी कर्रख पंचायत के वार्ड संख्या 21 की बूथ संख्या 226 पर पंचायत समिति सदस्य के लिए हुई वोटिंग में ईवीएम के त्रुटिपूर्ण कमीशनिंग के कारण पुनर्मतदान होगा। वहीं, सारण जिले के पानापुर प्रखंड की धेनुकी पंचायत में पंचायत समिति सदस्य, वार्ड संख्या 8 की बूथ संख्या 63 ईवीएम में प्रा.नि.क्षे.सं. 7 का सदस्य मतपत्र लग जाने के कारण पुर्नमतदान होगा। अररिया के नरपतगंज प्रखंड की फरही में बूथ संख्या 344- 345 पर असामाजिक तत्वों द्वारा बोगस मतदान करने एवं मतदान को प्रभावित किए जाने के कारण सभी छह पदों का पुर्नमतदान होगा।

जमीन पर ईवीएम रखने के मामले में दोषी पर आयोग ने कार्रवाई का दिया निर्देश

कटिहार के फलका प्रखंड की सालेहपुर पंचायत की बूथ संख्या 135 पर जमीन पर ईवीएम रखने मामले में राज्य निर्वाचन आयोग ने दोषियों पर कार्रवाई करने का आदेश दिया। आयोग के मुताबिक भवन की कुर्सियां और टेबल एक कमरे में बंद कर रख दी गई थीं। जिसकी वजह से ये परेशानी सामने आई थी। ईवीएम जमीन पर होने के कारण वोटर भी यहां मजबूरी में जमीन पर बैठ कर वोट डालते दिखे थे।

खबरें और भी हैं...