पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

18 और 19 जुलाई को RJD का विरोध प्रदर्शन:गैस सिलेंडर, साइकिल और बैलगाड़ी के साथ होगा प्रदर्शन, PM और CM का जलाया जाएगा पुतला

पटना22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मीडिया से बात करते तेजस्वी यादव। - Dainik Bhaskar
मीडिया से बात करते तेजस्वी यादव।

राष्ट्रीय जनता दल ने महंगाई के खिलाफ सरकार पर हल्ला बोलने का फैसला लिया है। बुधवार को RJD ऑफिस में तेजस्वी यादव ने प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह समेत कई वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक की। बैठक के बाद उन्होंने बताया कि 18 जुलाई को बिहार के सभी प्रखंडों में पेट्रोल, डीजल और गैस की बढ़ती कीमतों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। 19 तारीख को हर जिला मुख्यालय में विरोध प्रदर्शन होगा। 18 जुलाई को गैस सिंलेंडर, साइकिल और बैलगाड़ी के साथ प्रदर्शन होगा और साथ में PM और CM का पुतला भी जलाया जाएगा।

कीमतों का असर लोगों के भोजन पर
तेजस्वी यादव ने कहा कि कच्चा तेल सस्ता है फिर भी पेट्रोल-डीजल की कीमत आसमान छू रही है। अच्छे दिन लाने वालों ने बुरे दिन ला दिए। इसलिए इस महंगाई के खिलाफ सदन से सड़क तक आवाज उठायी जाएगी। उन्होंने कहा कि हमारी मांग है कि सरकार जल्द से जल्द आसमान छूती महंगाई को कम करे। बढ़ती कीमतों का असर लोगों के भोजन पर पड़ रहा है।

सवाल पूछने की कीमत लाठी
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि लोग डरे हुए हैं। जनता का सवाल उठाने पर विधायकों को भी लाठी डंटे पड़ते हैं। जनता का सवाल उठाने पर विधायकों को पीटा गया। नौकरी के सवाल पर, बेरोजगारी के सवाल पर युवाओं को डंडे पड़ते हैं। कहा कि ये सरकार फेल हो चुकी है। नीतीश कुमार से अगर सरकार नहीं संभल रही है तो सीधा-सीधा क्यों नहीं बोल देते कि हम से सरकार नहीं संभल रही और तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री बना दिया जाए। सिर्फ हवाई सर्वेक्षण करने में लगे हैं मुख्यमंत्री, जमीन पर जाकर कभी नहीं देखते।

भ्रष्टाचार के भीष्म पितामह हैं नीतीश कुमार
तेजस्वी यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री को सिर्फ अपनी कुर्सी की चिंता है। नीतीश कुमार भ्रष्टाचार के भीष्म पितामह हैं। इनकी सरकार में 60-70 घोटाले हो चुके हैं पर किसी की जांच नहीं करायी गई। सिर्फ छोटी मछलियों को पकड़ा जाता है। बड़े अफसरों पर कोई कार्रवाई नहीं की जाती है। नीतीश के मंत्री ही सवाल उठा रहे हैं और नीतीश कुमार मौनी बाबा बने हुए हैं।

मुख्यमंत्री जमीन पर जाते ही नहीं, हवाई सर्वेक्षण करते हैं
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भ्रष्टाचारियों को संरक्षण दे रहे हैं और आरसीपी टैक्स बिहार का ट्रेडिशन बन गया है। इस सरकार में सच बोलिएगा तो कार्रवाई होगी और झूठ बोलिएगा तो टिके रहिएगा। यही नीतीश कुमार का फार्मूला है। ये सरकार गरीबों की नहीं, बल्कि चंद लोगों की सरकार है। नीतीश कुमार सिर्फ हवाई सर्वेक्षण करते हैं जमीन पर जाते ही नहीं। जब सत्तर घाट वाला पुल टूटा था तो मुख्यमंत्री देखने तक नहीं गए थे। उनकी व्यवस्था यह है कि सत्ता से सवाल नहीं पूछो, विपक्ष से सवाल पूछो। कहा कि लोग परेशान हैं और कोरोना की वैक्सीन नहीं मिल रही।

26 जुलाई को तय करेंगे सत्र में जाएंगे कि नहीं
बिहार विधान मंडल के मॉनसून सत्र में वे और उनकी पार्टी के विधायक जाएंगे कि नहीं, इस सवाल के जवाब में तेजस्वी यादव ने कहा कि 26 जुलाई को विपक्षी दलों की बैठक में यह तय करेंगे कि मॉनसून सत्र में जाएंगे कि नहीं। 26 जुलाई से ही मॉनसून सत्र की शुरुआत हो रही है।

खबरें और भी हैं...