पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • BJP Manifesto 2020: Bihar | Bihar Election Chunav News: BJP Manifesto Announcement News Updates For Bihar Assembly Elections 2020

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बिहार में भाजपा का घोषणापत्र:जुमला 19 लाख रोजगार का, लेकिन सीधे तौर पर सिर्फ 4 लाख सरकारी नौकरियों का वादा

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फोटो 10 अक्टूबर की है, जब पटना में केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का अंतिम संस्कार किया गया था। तब तेजस्वी यादव सीएम नीतीश कुमार के ठीक पीछे बैठे थे।
  • बिहार के लोगों को फ्री वैक्सीन देने के भाजपा के वादे पर भी उठे सवाल
  • राहुल बोले- फ्री वैक्सीन के लिए ये देख लें कि आपके राज्य में चुनाव कब हैं

बिहार में पहले फेज की वोटिंग से छह दिन पहले भाजपा ने अपना घोषणापत्र जारी कर दिया। 12 पेज के मेनिफेस्टो का आखिरी पन्ना रोजगार के वादों के नाम था। नीतीश कुमार 10 लाख सरकारी नौकरियों का वादा कर चुके राजद नेता तेजस्वी पर तंज कसते रहे, लेकिन अब उनकी ही सहयोगी भाजपा ने ही दोबारा सत्ता में आने पर 19 लाख रोजगार देने की बात कही है। वहीं, 1 करोड़ महिलाओं को ‘स्वावलंबी’ बनाने का वादा किया है। यह भी कहा है कि बिहार के लोगों को कोरोना की फ्री वैक्सीन दी जाएगी। भास्कर ने भाजपा के इस मेनिफेस्टो की पड़ताल की...

19 लाख जुमला क्यों और 4 लाख नौकरियों की बात कैसे?
भाजपा ने घोषणापत्र में 19 लाख रोजगार की जो संभावना दिखाई है, उसमें से सीधे तौर पर नौकरियां सिर्फ चार लाख हैं। वह किस तरह है, यह भी बताते हैं।

  • भाजपा कह रही है कि सत्ता में आने पर वह अगले एक साल में स्कूल, यूनिवर्सिटी और बाकी इंस्टिट्यूट में 3 लाख नए टीचर्स को अपॉइंट करेगी। इनमें से स्कूलों में पौने तीन लाख वैकेंसी है, जबकि 94 हजार पदों पर भर्ती की प्रक्रिया तीन साल से चल रही है।
  • एक और वादा यह है कि 10 हजार डॉक्टर, 50 हजार पैरा मेडिकल स्टाफ समेत 1 लाख लोगों को स्वास्थ्य विभाग में नौकरी मिलेगी।
  • इस तरह 3 लाख और 1 लाख मिलाकर सीधे तौर पर 4 लाख सरकारी नौकरियों की संभावना बनती है।
  • भाजपा के 19 लाख रोजगार के वादे में 4 लाख सरकारी नौकरियों के अलावा बिहार को आईटी हब बनाकर अगले 5 साल में 5 लाख रोजगार के ‘अवसर उपलब्ध कराने’ और खेती-किसानी और औषधीय पौधों की सप्लाई चेन बनाकर 10 लाख रोजगार के ‘अवसर सृजित करने’ का वादा है।
  • इसके अलावा भाजपा ने 50 हजार करोड़ रुपए के माइक्रो फाइनेंस के जरिए 1 करोड़ नई महिलाओं को ‘स्वावलंबी’ बनाने का वादा किया है।

तेजस्वी यादव ने नौकरियों देने का वादा किया है
तेजस्वी यादव ने यह वादा किया है कि जब उनकी सरकार बन जाएगी तो वह कैबिनेट की पहली बैठक में जिस फैसले पर साइन करेंगे, वह 10 लाख युवाओं को पक्की सरकारी नौकरी देने का होगा।

तेजस्वी के वादे पर नीतीश तंज कसते रहे
तेजस्वी के इस बयान पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि बड़ी हास्यास्पद बात है... राजद 10 लाख नौकरी देगा। बीते सोमवार गया के शेरघाटी विधानसभा क्षेत्र में चुनावी सभा के दौरान भी नीतीश ने कहा- "ऊ कहते हैं 10 लाख नौकरियां देंगे। अरे, पैसवा एतना कहां से आवेगा? ई सब संभव है क्या? बताइए कहीं ऐसा न हो नौकरियां देने के नाम पर अपने ही धंधा न शुरू कर दें। 15 साल में कितना नौकरी दे दिए, ये सब जानते हैं।’

कोरोना की फ्री वैक्सीन सिर्फ बिहार के लोगों को?
भाजपा ने घोषणापत्र में बिहार के लोगों को कोरोना की फ्री वैक्सीन देने का वादा किया है। इस पर राहुल गांधी ने तंज कसा है। उन्होंने कहा है कि कोरोना की फ्री वैक्सीन चाहिए तो पहले ये देख लें कि आपके राज्य में चुनाव कब हैं।

भाजपा का एक लक्ष्य, 5 सूत्र और 11 संकल्प
भाजपा ने ‘आत्मनिर्भर बिहार का रोडमैप’ में एक लक्ष्य, 5 सूत्र और 11 संकल्पों का जिक्र किया है। लालू-राबड़ी के 15 साल के बाद और नीतीश के 15 साल के बाद बिहार के 11 अलग-अलग सेक्टर में आए बदलाव की भी तुलना की गई है। घोषणापत्र जारी करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि लालू-राबड़ी के 15 साल के औद्योगिक उत्पादन का कोई डेटा नहीं मिला, इसलिए हमने इस घोषणापत्र में वो जगह खाली छोड़ दी। हमारे 15 साल के शासन में औद्योगिक विकास में 17% का इजाफा हुआ।

एक लक्ष्य: आत्मनिर्भर बिहार

5 सूत्र
1
. स्वस्थ समाज, आत्मनिर्भर बिहार
2. शिक्षित बिहार, आत्मनिर्भर बिहार
3. गांव-शहर, सबका विकास
4. सशक्त कृषि, समृद्ध किसान
5. उद्योग आधार, सबल समाज

11 संकल्प
1
. बिहार के हर निवासी का मुफ्त कोरोना टीकाकरण कराएंगे।
2. मेडिकल, इंजीनियरिंग समेत तकनीकी शिक्षा अब हिंदी में उपलब्ध कराएंगे।
3. 3 लाख शिक्षकों की नियुक्ति करेंगे।
4. आईटी हब के रूप में विकसित कर 5 साल में 5 लाख से ज्यादा रोजगार के अवसर उपलब्ध कराएंगे।
5. एक करोड़ महिलाओं को स्वावलंबी बनाएंगे।
6. कुल 1 लाख लोगों को स्वास्थ्य विभाग में नौकरी उपलब्ध कराएंगे, अखिल भारतीय आरोग्य संस्थान एम्स का संचालन 2024 तक सुनिश्चित करेंगे।
7. धान और गेहूं के बाद अब दलहन की भी खरीद एसएमपी की निर्धारित दरों पर करेंगे।
8. ग्रामीण क्षेत्रों तथा शहरी क्षेत्रों के और 30 लाख लोगों को वर्ष 2022 तक पक्के मकान देंगे।
9. दो वर्षों में निजी और कॉम्फेड आधारित 15 नए प्रोसेसिंग उद्योग लगाएंगे।
10. अगले 2 वर्षों में मीठे पानी में पलने वाली मछलियों के उत्पादन में राज्य को देश का नंबर एक राज्य बनाएंगे
11. बिहार के 10 हजार नए किसान उत्पाद संघों को आपस में जोड़कर राज्यभर के विशेष फसल उत्पाद जैसे, मक्का, फल, चूड़ा, मखाना, पान, मसाला, मेंथा, औषधीय पौधों की सप्लाई चेन विकसित करेंगे। इससे प्रदेश में 10 लाख रोजगार के अवसर सृजित होंगे।

15 साल बनाम 15 साल
भास्कर ने घोषणापत्र जारी होने से एक दिन पहले ही इसमें शामिल बिंदुओं की खबर छापी थीघोषणापत्र में 15 साल बनाम 15 साल का जिक्र किया गया है। शिक्षा के क्षेत्र में राज्य सरकार में क्या किया गया, उसके बाद नीतीश सरकार ने क्या उपलब्धि हासिल की, यह दर्शाया गया है। तकनीकी शिक्षा में 15 साल के राजद शासन में क्या स्थिति थी और अब के शासन में क्या स्थिति है। भाजपा ने यह भी बताया कि लालू-राबड़ी के 15 साल में प्रति व्यक्ति आय 8 हजार रुपए थी, जो भाजपा-जदयू की गठबंधन सरकार में बढ़कर 43 हजार रु. से ज्यादा हो गई।

क्या कहते हैं घोषणा पत्र बनाने वाले नेता

भाजपा की घोषणा पत्र समिति के सह संयोजक ऋतुराज सिन्हा का कहना है कि ‘आत्मनिर्भर बिहार’ एक नारा नहीं बल्कि भविष्य के बिहार की परिकल्पना है। प्रधानमंत्री मोदी ने देश के सामने जिस आत्मनिर्भर भारत की सोच रखी है, उसको साकार करने के लिए यह बेहद ज़रूरी है कि एक नयी ऊर्जा के साथ, उन बड़े राज्यों में पहल की जाए, जिनमें उस तरीके से विकास नहीं हो पाया, जिसका वह हकदार था। देश की 11 फ़ीसदी जनता बिहार वासी है। ऐसे में आत्मनिर्भर भारत अभियान का आग़ाज़ बिहार से होना स्वाभाविक भी है और न्यायसंगत भी। भाजपा का ‘आत्मनिर्भर बिहार - संकल्प पत्र’, प्रधानमंत्री मोदी के द्वारा बिहार को दी जा रही प्राथमिकता का सूचक है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- यह समय विवेक और चतुराई से काम लेने का है। आपके पिछले कुछ समय से रुके हुए व अटके हुए काम पूरे होंगे। संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी समस्या का भी समाधान निकलेगा। अगर कोई वाहन खरीदने क...

और पढ़ें