• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • SBI Bank Case Bihar; Rs 911 Crore Credited In Student Account BY SBI Bank In Bihar Katihar

बिहार में हैरान करने वाला मामला:कटिहार के 2 स्कूली छात्रों के बैंक खाते में आ गए 911 करोड़, गांव में हर कोई चेक करने लगा अपना अकाउंट

पटना/कटिहारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
परिजन और ग्रामीणों के साथ दोनों बच्चे। - Dainik Bhaskar
परिजन और ग्रामीणों के साथ दोनों बच्चे।

बिहार के कटिहार जिले में दो स्टूडेंट्स के खाते में अचानक 911 करोड़ रुपए आने से वे हैरान हो गए। पूरी खबर आग की तरह गांव में फैली तो अन्य लोग भी अपने अकाउंट चेक करने बैंक और एटीएम पहुंच गए। स्टेट बैंक के अधिकारियों को भी जब इसकी जानकारी मिली तो वो भी अवाक हो गए। आनन-फानन में बैंक ने जांच की तो टेक्निकल सेक्शन में गड़बड़ी सामने आई।

मामला कटिहार के आजम नगर का है। यहां पस्तिया गांव में रहने वाले दो स्कूली बच्चों आशीष और गुरु चरण विश्वास के अकाउंट में 911 करोड़ रुपए आए। दोनों स्टूडेंट नॉर्थ बिहार ग्रामीण बैंक में खाता धारक है। क्लास 6 के स्टूडेंट हैं। आशीष के खाते में 6 करोड़ 20 लाख 11 हजार 100 रुपए आ गए हैं। जबकि, गुरु चरण विश्वास के खाते में 905 करोड़ से अधिक रुपए आए।

आमतौर पर सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के अकाउंट्स में पोशाक योजना के तहत सरकार की तरफ से दिए जाने वाले रुपए ही आते हैं, लेकिन एक साथ इतनी बड़ी राशि देखकर बच्चों के साथ-साथ उनके घरवाले भी हैरान रह गए। पोशाक की राशि के लिए इन दोनों बच्चे के परिजन गांव के ही इंटरनेट केंद्र पर जब अपना अकाउंट चेक करवाने गए तब वहां इसकी जानकारी हुई।

टेक्निकल सेक्शन की गलती से आया पैसा
इस मामले पर कटिहार DM उदयन मिश्रा ने बताया, 'कल शाम सूचना आई थी कि कुछ छात्रों के अकाउंट में अधिक राशि दिखा रहा है। सुबह ही ब्रांच खुलवाया गया और जांच कराई गई। ब्रांच मैनेजर ने बताया कि कम्प्यूटर सिस्टम में कुछ गलती हो गई थी जिससे स्टेटमेंट में ये दिख रहा था। खाते में पैसे नहीं आए थे। इसका निराकरण कर लिया गया है। अब उनके खाते में जो वास्तविक पैसा है वही नज़र आ रहा है। हमने जांच करके रिपोर्ट मांगी है। शाम तक रिपोर्ट मिल जाएगी।'

स्टूडेंट्स के बैंक पासबुक।
स्टूडेंट्स के बैंक पासबुक।

खगड़िया में साढ़े पांच लाख ट्रांसफर हुए थे
इससे पहले खगड़िया जिले में एक बड़ा ही दिलचस्प मामला सामने आया था। रंजीत दास के खाते में अचानक साढ़े पांच लाख रुपये आ गए। खाते में रुपये आने के बाद उस व्यक्ति को लगा कि पीएम मोदी ने उसके खाते में ये रुपये भेजे हैं। उसने अपने खाते से वो रुपये निकाल लिए और खर्च करना शुरू कर दिया।

बैंक की ओर से रंजीत दास को रुपये वापस करने के संदर्भ में कई नोटिस भी भेजे गए, लेकिन उसने पैसे वापस करने से साफ मना कर दिया। आखिरकार बैंक की ओर से रंजीत दास के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। पुलिस ने रंजीत को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

ग्रामीण बैंक ने गलती से अकाउंट में डाले 5.50 लाख रुपए, उपभोक्ता बोला- मोदी ने पहली किस्त भेजी है, नहीं लौटाऊंगा

खबरें और भी हैं...