पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Ruckus In BJP Office; Unplanned Executive Assistant Engineer On Dharna Sitting In The Office Demanding Employment Not Assurance

BJP कार्यालय में हंगामा:आश्वासन नहीं रोजगार देने की मांग लेकर भाजपा कार्यालय में धरने पर बैठे इंजीनियर, दरबार लगाने वाले मंत्री निकले पिछले दरवाजे से

पटना10 दिन पहले
कार्यालय के बाहर हंगामा करते अनियोजित कार्यपालक सहायक अभियंता।

अनियोजित कार्यपालक सहायक अभियंताओं ने सोमवार को भाजपा कार्यालय में जमकर हंगामा किया। पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी से मिलने पहुंचे अभ्यर्थी अपनी मांग को लेकर धरने पर बैठ गए। पहले तो मंत्री ने अभ्यर्थियों को आश्वासन देकर शांत करने की कोशिश की, लेकिन जब अभ्यर्थी नहीं माने तो वे चुपचाप पिछले दरवाजे से कार्यालय से बाहर निकल गए।

भाजपा कार्यालय में पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी और वन एवं पर्यावरण मंत्री नीरज सिंह बबलू का जनता दरबार लगा था। बारी-बारी से फरियादी अपनी फरियाद सुना रहे थे और दोनों मंत्री फरियादियों की समस्या का समाधान करने का भरोसा दे रहे थे, लेकिन सारा नजारा तब बदल गया जब नौकरी की मांग को लेकर अनियोजित कार्यपालक सहायक अभियंता अभ्यर्थी बड़ी संख्या में पहुंच गए।

अभ्यर्थियों की मांग पर मंत्री बाहर उनसे मिलने पहुंचे, लेकिन जब मंत्री ने एक बार फिर आश्वासन दिया तो अभ्यर्थी भड़क गए। उन्होंने मंत्री घेर लिया और हंगामा करने लगे।

अब बहाली की जिम्मेदारी आईटी विभाग के जिम्मे हैं: पंचायती राज मंत्री

अनियोजित कार्यपालक सहायक अभियंता की परीक्षा 2019 में हुई थी। परीक्षा में उत्तीर्ण आधे लोगों का ही अब तक नियोजन हो पाया है। जिन अभ्यर्थियों को अब तक नौकरी नहीं मिली है वो अपनी मांग को लेकर कई बार पंचायती राज मंत्री से पहले मिल चुके हैं। हर बार अभ्यर्थियों को मंत्री से आश्वासन मिला। बिहार प्रशासनिक सुधार मिशन द्वारा ली गई परीक्षा से बने पैनल की वैधता 3 साल रखी गई है।

अभ्यर्थियों का कहना है कि अब विभाग की ओर से कहा जा रहा है कि आधे लोगों की बहाली आउटसोर्सिंग से की जाएगी, ऐसे में उनका क्या होगा यही सोचकर अभ्यर्थी अपने भविष्य को लेकर परेशान हैं। पंचायती राज मंत्री ने भी इस बात को माना कि पंचायतों में कार्यपालक सहायक की नियुक्ति की जानी है, लेकिन उनका कहना है कि अब इसकी जिम्मेदारी बेलट्रॉन को सौंपी गई है, जो आईटी डिपार्टमेंट के अंतर्गत आता है।

खबरें और भी हैं...