पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Coronavirus Second Wave Alert; Bihar Mumbai News | Covid Cases Come From Maharashtra As Passenger Test Positive In Bihar Patna

कोराेना की दूसरी लहर में रहें अलर्ट:UP-दिल्ली को छोड़कर हिन्दी भाषी राज्यों में बिहार में कोरोना की दोगुना जांच; 3.7% की संक्रमण दर सबसे कम, रिकवरी भी सबसे ज्यादा

पटना3 महीने पहलेलेखक: वरुण राय
  • कॉपी लिंक
  • छत्तीसगढ़ में सबसे ज्यादा पॉजिटिविटी रेट 29%, महाराष्ट्र में 24.6%, राजस्थान में 21.9% व MP में 16.9%

देश में बढ़ते कोरोना संक्रमण से हर तरफ दहशत है। बिहार में भी कोरोना की रफ्तार धीरे-धीरे बढ़ने लगी है। थोड़ी सी राहत भरी बात है कि बिहार में संक्रमण दर अन्य राज्यों के मुकाबले कम है, लेकिन बाहर से लौटने वाले लोग अब चिंता बढ़ाने लगे हैं। बिहार में सोमवार को 80018 लोगों की कोरोना जांच हुई, जिसमें से 3.7% लोग पॉजिटिव पाए गए। मध्य प्रदेश में 38300 की जांच में से 16.9%, राजस्थान में 26300 जांच में से 21.9%, छत्तीसगढ़ में करीब 46 हजार जांच में से 29% पॉजिटिव मिले। हिन्दी भाषी राज्यों में बिहार से अधिक सिर्फ दिल्ली में सोमवार को 92400 और उत्तर प्रदेश में एक लाख 90 हजार जांच हुई, जिसमें क्रमश: 12.9% और 7.1% पॉजिटिव मिले। बिहार का रिकवरी रेट भी देश में सबसे ज्यादा 93.5% हैं।

पैनिक न हों, सतर्क रहें

बिहार में कोरोना के रोज टूटते रिकार्ड से लोग पैनिक हो गए हैं। लेकिन पैनिक होने के बजाय लोग सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें तो कुछ हद तक कोरोना को कंट्रोल किया जा सकता है। लोग अनावश्यक घर से बाहर नहीं निकलें।

महाराष्ट्र से आ रहा है कोरोना का खतरा

महाराष्ट्र से आने वाली ट्रेनों से कोरोना का खतरा ज्यादा है। मंगलवार को मुंबई पाटलिपुत्रा स्पेशल ट्रेन में 474 यात्री आए हैं, जिसमें 4 यात्रियों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। संक्रमण को लेकर पहले से ही जांच की व्यवस्था और आइसोलेशन की तैयारी थी। मुंबई से पाटलिपुत्रा आने वाली एक और स्पेशल ट्रेन में 255 यात्रियों में 12 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसी तरह एक और स्पेशल ट्रेन मुंबई से पाटलिपुत्रा आई है। 36 यात्री सवार थे। इनकी जांच में 1 यात्री की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है।

इमरजेंसी के लिए कुछ सामान स्टॉक में रखें

हो सकता है कि आपके परिवार में किसी को कोरोना न हो। लेकिन दूसरी बीमारियों से लड़ने के लिए हमें अपनी तैयारियों को चाक-चौबंद रखना होगा। एक्सपर्ट्स का मानना है कि इस हेल्थ इमरजेंसी के दौर में हम जितना ज्यादा हॉस्पिटल जाने से बच सकें, उतना ही बेहतर है। हमें दूसरी बीमारियों से बचने के लिए ये 6 चीजें हमारे घर में होनी चाहिए।

  • बुखार की दवा
  • थर्मामीटर
  • एंटी बैक्टिरियल दवा
  • हाइड्रोजन पैराक्साइड
  • सैनेटाइजर
  • डाइपर्स