• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • She Is Teaching Children On The Song "The Horse's Tail Was Hit With A Hammer, The Horse Ran And Ran...", Video Viral

खगड़िया में डांस के साथ पढ़ाती हैं टीचर, VIDEO:घोड़े की दुम पर जो मारा हथौड़ा....गाने पर खेल-खेल में सीखा रहीं हैं मैडम

खगड़िया2 महीने पहले

खगड़िया में एक टीचर डांस करते करते बच्चों को पढ़ा रही हैं। इसका वीडियो सामने आया है। 'घोड़े की दुम पर जो मारा हथौड़ा, दौड़ा-दौड़ा-दौड़ा घोड़ा...' गाने पर शिक्षिका के साथ बच्चे खूब झूमते नजर आ रहे हैं। यह वीडियो जिले के चौथम प्रखंड अंतर्गत मध्य विद्यालय सोनवर्षा का है।

वीडियो में स्कूल की शिक्षिका कुमारी रितु रिमझिम डांस के माध्यम से बच्चों को पढ़ाती दिख रही हैं। शिक्षिका का यह अंदाज छात्र-छात्राओं को खूब भा रहा है। स्कूल में बच्चों की उपस्थिति बढ़ने लगी है। मैडम का कहना है कि बच्चे स्कूल में बोर फील ना करें, इसलिए वो उन्हें इस अंदाज में पढ़ाती हैं।

ऐसे में यह विद्यालय इन दिनों उनके स्कूल की शिक्षिका के कारण सुर्खियों में है। बताया जा रहा है कि हेडमास्टर ने नदी पार दियारा इलाके के स्कूल भवन को काफी सजाया है। स्कूल में जब कोई अधिकारी जांच करने पहुंचते हैं तो स्कूल के भवन को देखकर हैरान रह जाते हैं।

ऐसे में मध्य विद्यालय सोनवर्षा दियारा इलाके के लिए शिक्षा मामले में अलग छाप छोड़ता दिख रहा है। कहा जा रहा है कि जब से जिला शिक्षा विभाग द्वारा चहक प्रशिक्षण के बाद शिक्षक इन दिनों बच्चों को निराले और अनोखे अंदाज से खेल-खेल में पढ़ाने की कोशिश में लगे हुए हैं। तब से शिक्षक और शिक्षिका भी नए अंदाज में पढ़ाने में जुट गए है। पढ़ाई के साथ-साथ मनोरंजन भी हो रहा है।

इसी तरह रोचक तरीके से पढ़ाने वाले टीचर की खबरें पढ़ें:

स्कूल में डांस करते-करते पढ़ाई का VIDEO:क्लास में बच्चे बोर फील ना करें, इसलिए खेल-खेल में पढ़ाती हैं खुशबू मैडम

बांका में एक टीचर डांस करते-करते बच्चों को पढ़ाई करवा रही हैं। टीचर के साथ बच्चे भी डांस करते-करते पढ़ाई कर रहे हैं। ये कटोरिया के प्रोन्नत मध्य विद्यालय कठौन का है। बच्चों को डांस के जरिए पढ़ाई शिक्षिका का नाम खुशबू है। मैडम का कहना है कि बच्चे स्कूल में बोर फील ना करें, इसलिए वो उन्हें इस अंदाज में पढ़ाती हैं। टीचर के इस तरह से पढ़ाने का अंदाज सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। ट्विटर पर भी लोग इसे लगातार ट्वीट कर रहे हैं। पूरी रिपोर्ट पढ़ने के लिए यहां क्लिक करिए

शिक्षक ने पढ़ाने का तरीका बदला तो क्लास फुल:पूर्णिया में गाना गाकर सिखाते हैं वर्णमाला, पैरेंट्स बोले- आप जैसे शिक्षकों की जरूरत...

पूर्णिया के एक शिक्षक बच्चों को हिंदी की वर्णमाला गा-गाकर पढ़ा रहे हैं। उनका यह अंदाज न सिर्फ बच्चों को बहुत पसंद आ रहा है, बल्कि लोगों को भी खूब भा रहा है। बच्चे भी रूचि लेकर उसे पढ़ रहे हैं। स्कूल का नाम प्राथमिक विद्यालय सुगनी टोला है, जो वसंतपुर पंचायत में स्थित है। वहीं, शिक्षक हैं सतीश कुमार। हिंदी पढ़ाने के अंदाज बच्चों को इतना पसंद आया है कि स्कूल में उनकी उपस्थिति भी डबल हो गई है। पूरी रिपोर्ट पढ़ने के लिए यहां क्लिक करिए

जनरल नॉलेज पढ़ाने का अजब-गजब अंदाज:रोहतास में अटेंडेंस के वक्त राज्यों का नाम लेते हैं बच्चे, टीचर की हो रही तारीफ

सासाराम में एक स्कूल में बच्चों को अलग अंदाज में पढ़ाने का वीडियो सामने आया है। बच्चों को अटेंडेंस के जरिए राज्यों के नाम, जिलों का नाम याद कराया जाता है। इस स्कूल में टीचर द्वारा रौल नंबर बोलने पर बच्चे राज्य का नाम लेते हैं। वे यस सर और नो सर नहीं बोलते हैं। मामला डेहरी प्रखंड का मध्य विद्यालय भेड़िया-सुअरा का है। पूरी रिपोर्ट पढ़ने के लिए यहां क्लिक करिए

बिहार के टीचर का ये गाना दिल छू लेगा:ना जाना... जब धूप रहे तेज; गरम हवाएं चलने लगी हैं... छाता भी लगाओ

बिहार के एक टीचर का दिल छू लेने वाला वीडियो सामने आया है। वे गानों के माध्यम से बच्चों को लू से बचने का टिप्स दे रहे हैं। उनका गाना बॉलीवुड के गाने 'जब दिल न लगे दिलदार' की तर्ज पर है। इसके बोल कुछ इस प्रकार हैं, 'न जाना न जाना, जब धूप रहे खूब तेज, तो बाहर न जाना, खुद को रखना घर में सहेज की बाहर मत जाना।' बच्चों को गर्मी से बचाव की जानकारी देने का यह अनोखा प्रयोग लोगों को खूब भा रहा है। पूरी रिपोर्ट पढ़ने के लिए यहां क्लिक करिए

समस्तीपुर के टीचर का एक और वीडियो:देश के ललनवा, कीमती बारे तोर जीवनवा... तू ध्यान राखो न

अपने गानों के माध्यम से बच्चों को लू से बचने का टिप्स देने वाले बिहार के टीचर का एक और वीडियो सामने आया है। इस बार वह विभिन्न हादसों से बचने का टिप्स दे रहे हैं। उनका गाना भोजपुरी के प्रसिद्ध सिंगर भरत व्यास के गाने 'निमिया के डार मैया' की तर्ज पर है। इसके बोल कुछ इस प्रकार हैं, 'रात हो या दिनवा, हे देश के ललनवा, तू ध्यान राखो न...कीमती बारे तोर जीवनवा की ध्यान राखो न..।' पूरी रिपोर्ट पढ़ने के लिए यहां क्लिक करिए

जमुई में गाने के साथ सीखिए गणित:सरकारी टीचर डांस कर बच्चों को सीखा रहे जोड़-घटाव; चुटकियों में पहाड़ा कंठस्थ

जमुई के सिकंदरा प्रखंड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय कोनन के शिक्षक रंजीत कुमार के पढ़ाने का अंदाज स्टूडेंट्स को भा रहा है। उन्हें पढ़ाता देखकर आपको 2007 में आई आमिर खान की फिल्म 'तारे जमीन पर' में 'रामाशंकर निकुंभ सर' की याद आ जाएगी। वो जैसे अपनी क्लास में बच्चों को मनोरंजक तरीके से पढ़ाते थे। ठीक उसी तरह रंजीत भी बच्चों को पढ़ाते हैं। रंजीत गणित के शिक्षक हैं। वो खेल-खेल में बच्चों को जोड़-घटाव और पहाड़े याद करवाते हैं। गणित का पाठ पढ़ाते हैं। विद्यालय के बच्चे भी उनके पढ़ाने के तरीके से खुश होकर उनकी पढ़ाई बातों को याद रखते हैं। पूरी रिपोर्ट पढ़ने के लिए यहां क्लिक करिए

खबरें और भी हैं...