पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Sri Krishna Janmashtami Being Celebrated With Pomp In The Bihar, Janmotsav At 12 Am; Kanha Will Born In Lockdown For The First Time

बिहार:लॉकडाउन में हुआ कान्हा का आगमन, कोरोना संकट के बीच मंदिरों में मना जन्मोत्सव; पूरे राज्य में धूमधाम से मनाई गई श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव के अवसर पर इस्कॉन पटना के मुख्य प्रतिमा की बड़ी सुंदर सजावट की गई।
  • कोरोना संकट के चलते इस बार मंदिरों में ताले लटके हैं, पुजारी ने भगवान श्रीकृष्ण की पूजा-अर्चना की
  • इस्कॉन पटना के अध्यक्ष कृष्ण कृपा दास ने कहा इस बार भगवान से एक ही प्रार्थना है कि कोरोना संकट से जल्दी पूरे विश्व को उबार दें

कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच भगवान श्रीकृष्ण का आगमन हुआ। भक्तों ने घरों में ही भगवान का जन्मोत्सव मनाया और भजन-कीर्तन किया। मंदिरों में पुजारी ने भगवान की पूजा की। पंचामृत से भगवान को नहलाया और नए कपड़े पहनाकर भोग लगाए। पूरे राज्य में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी धूमधाम से मनाई गई।

ऐसा पहली बार था जब भगवान श्रीकृष्ण लॉकडाउन में पधारे। द्वापर में जैसे भगवान का जन्म हुआ था कमोबेश वैसी ही स्थिति पहली बार इस युग में है। कोरोना की वजह से भक्त घरों में कैद हैं। सभी भक्तों की यह कामना है कि भगवान इस महामारी से मुक्ति दिलाएं। इस दुनिया से जितना जल्द हो सके कोरोना का खात्मा हो।

भगवान श्रीकृष्ण को पंचामृत से नहलाते इस्कॉन पटना के अध्यक्ष कृष्ण कृपा दास।
भगवान श्रीकृष्ण को पंचामृत से नहलाते इस्कॉन पटना के अध्यक्ष कृष्ण कृपा दास।
जन्माष्टमी के अवसर पर इस्कॉन पटना के मेन हॉल को भी भव्य तरीके से सजाया गया।
जन्माष्टमी के अवसर पर इस्कॉन पटना के मेन हॉल को भी भव्य तरीके से सजाया गया।

भक्तों को मंदिर में प्रवेश की अनुमति नहीं
पटना में गौड़ियमठ, श्रीराधा कृष्ण प्रणामी मंदिर और श्री राधा बांकेबिहारी इस्कॉन मंदिर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी कार्यक्रम का हर साल भव्य आयोजन होता है। लेकिन, कोरोना संकट के चलते इस बार मंदिरों में ताले लटके हैं। मंदिर प्रशासन की तरफ से पहले ही नोटिस जारी कर दिया गया था कि इस बार भक्तों को मंदिर में प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। मंदिरों के पुजारी ने भगवान श्रीकृष्ण की पूजा-अर्चना की। कोरोना के चलते इस बार प्रसाद का वितरण भी नहीं किया गया।

श्री राधा बांकेबिहारी मंदिर के अध्यक्ष कृष्ण कृपा दास ने इस्कॉन मंदिर में पूजा की। भगवान श्रीकृष्ण को दूध-दही से नहलाया और नए वस्त्र पहनाए। सभी संतों ने भगवान के आगमन पर मंत्रोच्चा किया। कृष्ण कृपा दास ने कहा कि सभी लोगों की भगवान से यह प्रार्थना है कि जितनी जल्द हो कोरोना महामारी से इस देश और दुनिया को मुक्ति दिलाएं। इस्कॉन का यह प्रयास रहेगा कि अगले साल भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव कई गुना उत्साह के साथ मनाएं। इस बार कोरोना संकट है लेकिन भक्तों का उत्साह बना है।

कृष्ण कृपा दास ने बताया कि हर साल इस्कॉन पटना की तरफ से श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के अगले दिन भक्तिवेदांत स्वामी प्रभुपाद जी की जयंती मनाते हैं। इस मौके पर हजारों लोग जुटते हैं और विशाल भंडारे का आयोजन किया जाता है। लेकिन, कोरोना संकट के चलते इस बार भंडारे का आयोजन नहीं किया जा रहा है।

इस्कॉन में सोशल डिस्टेंसिंग बनाकर भगवान का भजन-कीर्तन करते भक्त।
इस्कॉन में सोशल डिस्टेंसिंग बनाकर भगवान का भजन-कीर्तन करते भक्त।
पटना सिटी के श्रीकृष्ण प्रमाणी मंदिर में भजन-कीर्तन करते भक्तगण।
पटना सिटी के श्रीकृष्ण प्रमाणी मंदिर में भजन-कीर्तन करते भक्तगण।

मटकी फोड़ प्रतियोगिता का भी आयोजन नहीं
पूरे बिहार में जन्माष्टमी के अवसर पर मटकी फोड़ प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है। इसके लिए एक सप्ताह पहले से तैयारी शुरू हो जाती है। कई जगह इसमें पुरस्कार का भी आयोजन किया जाता है। लेकिन, कोरोना संकट के चलते इस बार मटकी फोड़ प्रतियोगिता का आयोजन भी नहीं किया जा रहा है।

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर लोगों ने बच्चों को भगवान कृष्ण के रूप में सजाया है।
श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर लोगों ने बच्चों को भगवान कृष्ण के रूप में सजाया है।
0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप भावनात्मक रूप से सशक्त रहेंगे। ज्ञानवर्धक तथा रोचक कार्यों में समय व्यतीत होगा। परिवार के साथ धार्मिक स्थल पर जाने का भी प्रोग्राम बनेगा। आप अपने व्यक्तित्व में सकारात्मक रूप से परिवर्तन भ...

और पढ़ें