पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Sushil Modi; Bihar Former Deputy Chief Minister Will Now Keep An Eye On Vidhan Parishad Members

नियुक्ति:सुशील मोदी अब विधान परिषद सदस्यों के व्यवहार पर रखेंगे नजर, बने आचार समिति के अध्यक्ष

पटना7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आचार समिति का अध्यक्ष बनने के बाद विधान परिषद के सभापति अवधेश नारायण सिंह के साथ सुशील मोदी। - Dainik Bhaskar
आचार समिति का अध्यक्ष बनने के बाद विधान परिषद के सभापति अवधेश नारायण सिंह के साथ सुशील मोदी।
  • विधान परिषद सत्र की कार्यवाही में शामिल होने वाले सदस्यों के व्यवहार पर नजर रखती है समिति
  • सुशील कुमार मोदी को इस बार मंत्रिमंडल में नहीं दी गई है जगह, केंद्र भेजे जाने की हो रही थी चर्चा

डिप्टी सीएम पद से हटने के बाद सुशील कुमार मोदी अब विधान परिषद के सदस्यों के व्यवहार पर नजर रखेंगे। सुशील मोदी विधान परिषद में आचार समिति के अध्यक्ष बनाए गए हैं। आचार समिति बिहार विधान परिषद की एक ताकतवर समिति है जो विधान परिषद के सदस्यों के कार्यकलापों पर नजर रखती है।

यह समिति विधान परिषद सत्र की कार्यवाही में शामिल होने वाले विधान परिषद सदस्यों के व्यवहार पर नजर रखती है। यदि आचार के मुताबिक उनका व्यवहार ठीक नहीं रहता है, तो कमेटी उन्हें नोटिस करती है और अपना निर्णय सुनाती है। इस समिति में सदस्य एक दूसरे के खिलाफ शिकायत करते हैं तो उसकी जांच कर उचित कार्रवाई का प्रावधान भी है। सुशील मोदी उप मुख्यमंत्री पद से हटने के बाद आचार समिति के अध्यक्ष बने हैं।

नीतीश कुमार को पीएम मैटेरियल कहे जाने पर सुशील मोदी की ली गई कुर्बानी

2014 में जब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया था, तब वो बिहार विधान परिषद के सदस्य थे। उन्होंने अपनी जगह पर जीतन राम मांझी को बिहार का मुख्यमंत्री बनाया था। उस दौरान नीतीश कुमार ही आचार समिति के अध्यक्ष बने थे। यह पद उन नेताओं को दिया जाता है जिनकी बात को सदन का हर सदस्य मान ले, स्वीकार कर ले। इसी के तहत सुशील मोदी को भी इस अहम समिति का अध्यक्ष बनाया गया है।

खबरें और भी हैं...