पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Sushil Modi Statement On Population Control Policy; Sushil Modi Attack Nitish Kumar; Bihar Political Latest News

अब सुमो ने CM नीतीश को दी सलाह:बोले- जनसंख्या मुद्दे पर NDA के घटक दल ना करें बयानबाजी, नीतीश ने कहा था- जनसंख्या नियंत्रण के लिए कानून की जरूरत नहीं

पटना18 दिन पहलेलेखक: शालिनी सिंह
  • कॉपी लिंक
सुशील मोदी, राज्यसभा सांसद, बिहार। - Dainik Bhaskar
सुशील मोदी, राज्यसभा सांसद, बिहार।

जनसंख्या नियंत्रण कानून पर पार्टी में अलग-थलग पड़े सुशील मोदी अब पार्टी लाइन पर उतर आए हैं । खास बात ये है कि अब वो सीधे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से टक्कर लेने के मूड में दिख रहे हैं। 3 दिन पहले तक जनसंख्या नियंत्रण के लिए मुख्यमंत्री की महिला शिक्षा से जुड़ी थ्योरी का साथ दे रहे मोदी, अब एनडीए के घटक दल के तौर पर नीतीश कुमार को सलाह दे रहे हैं ।

एनडीए के घटक दल बयानबाजी नहीं, गंभीरता से विचार करें - सुशील मोदी

सुशील मोदी ने बयान जारी कर एनडीए के घटक दलों को जनसंख्या के मुद्दे पर गंभीरता दिखाने की सलाह दी है । पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी का ये बयान तब सामने आया है, जब एक दिन पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यूपी की जनसंख्या नीति और इससे जुड़े कानून को नकार दिया है। ऐसे में सुशील मोदी का यह बयान सीधे तौर पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को दी गई सलाह मानी जा रही है।

सुशील मोदी ने इसके साथ ही घटक दलों को सार्वजनिक तौर पर बयान नहीं देने की भी सलाह दी है। उन्होंने कहा है कि दलों को इस पर मिल-बैठ कर यह विचार करना चाहिए और आबादी को कैसे नियंत्रित की जाए इस पर सोचना चाहिए। राजस्थान, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र, उत्तराखंड और उड़ीसा जैसे राज्यों का उदाहरण देते हुए उन्होंने बिहार के पंचायत चुनाव में भी दो बच्चों वाला नियम लाने की बात सामने रख दी है।

3 दिन पहले तक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की थ्योरी का दे रहे थे साथ

सुशील मोदी भाजपा के राज्यसभा सांसद हैं । 11 जुलाई को उन्होंने जनसंख्या नियंत्रण को लेकर एक बयान जारी किया था। अपने इस बयान में सुशील मोदी ने बिहार सरकार की जनसंख्या नियंत्रण थ्योरी को ही सामने रखा था । सुशील मोदी ने कहा था कि बिहार ने लड़कियों की शिक्षा के जरिये जनसंख्या वृद्धि दर पर नियंत्रण किया है । इसके साथ ही उन्होंने नीतीश कुमार की साइकिल योजना और पोशाक योजना जैसी प्रोत्साहन नीति को भी जनसंख्या नियंत्रण पर कारगर बताया था ।

क्यों बदलना पड़ा सुशील मोदी को अपना स्टैंड

असल मे सुशील मोदी की छवि और उनका बयान दोनों ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से प्रभावित माना जाता रहा है । भाजपा के अंदर उनकी इस छवि का विरोध भी रहा है और इसी के परिणाम के तौर पर उन्हें 2020 में उपमुख्यमंत्री की कुर्सी भी गंवानी पड़ी थी। अब ऐसे में 3 दिन पहले नीतीश की योजनाओं की तारीफ कर सुशील मोदी अपनी ही पार्टी में अलग-थलग पड़ गए हैं। यही वजह है कि आज उन्होंने सीधे घटक दलों पर ही हमला किया।

खबरें और भी हैं...