• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Tej Pratap Yadav Refused To Campaign Against RJD In By elections, Blesses Younger Brother Tejashwib Yadav To Become CM

राबड़ी देवी के पटना आने का असर!:तेजप्रताप ने उपचुनाव में RJD के खिलाफ प्रचार से मना किया, तेजस्वी को CM बनने का आशीर्वाद भी दिया

पटना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राबड़ी देवी से मुलाक़ात के बाद तेज प्रताप ने इस पुरानी तस्वीर को फिर से फेसबुक पर प्रोफाइल बनाई है। - Dainik Bhaskar
राबड़ी देवी से मुलाक़ात के बाद तेज प्रताप ने इस पुरानी तस्वीर को फिर से फेसबुक पर प्रोफाइल बनाई है।

तेजप्रताप ने तारापुर और कुशेश्वरस्थान में हो रहे उपचुनाव में राजद प्रत्याशी के खिलाफ चुनाव प्रचार करने से मना कर दिया है। माना जा रहा है कि मां राबड़ी देवी के पटना आकर उन्हें समझाने का असर हुआ है। सिर्फ यही नहीं, तेजप्रताप ने छोटे भाई तेजस्वी को मुख्यमंत्री बनने का आशीर्वाद भी दुर्गा पूजा में दिया। इसके पहले दोनों भाई के बीच की तनातनी की खबरें मीडिया की सुर्खियां बन रहीं थीं। दोनों भाई एक साथ न तो शहाबुद्दीन के बेटे ओसामा की शादी में दिखे और न RJD के अन्य कार्यक्रमों में।

नपा-तुला जवाब दे रहे तेज, अब नहीं दिख रहा गुस्सा
तेजप्रताप यादव अलग मूड के नेता हैं। वे एकाएक क्या कर बैठेंगे, यह किसी को मालूम नहीं रहता। वे साफ-साफ बोलने वाले हैं, लेकिन राबड़ी देवी से मुलाकात के बाद बहुत नपा-तुला बोल रहे हैं। बयानों में कोई गुस्सा नहीं दिख रहा। मीडिया के सवालों का जवाब भी कम शब्दों में देते हैं। तेजस्वी से तमाम मुद्दों पर विवाद के बावजूद उन्होंने आशीर्वाद देते हुए कहा कि वे अच्छे से काम करें और मुख्यमंत्री बनें।

पटना आईं राबड़ी सीधे तेजप्रताप के घर पहुंचीं थीं
राबड़ी देवी रविवार 10 अक्टूबर की शाम 7 बजे पटना पहुंची थीं। एयरपोर्ट से वे सीधे अपने बड़े बेटे के सरकारी आवास पर पहुंची थीं, लेकिन उनकी भेंट नहीं हो सकी। तेजप्रताप उस समय आवास पर नहीं थे। कुछ देर इंतजार के बाद राबड़ी देवी अपने सरकारी आवास 10 सर्कुलर रोड चली गईं थीं। तेज प्रताप से उनकी मुलाकात अगले दिन यानी करीब 24 घंटे बाद हुई। जेपी जयंती के दिन 11 अक्टूबर को पदयात्रा निकालने के बाद तेजप्रताप मां राबड़ी से मिलने उनके सरकारी आवास पहुंचे थे।

अब संजय यादव भी पलट गए
इससे पहले तारापुर के निर्दलीय उम्मीदवार संजय यादव ने कहा था कि तेजप्रताप यादव के कहने पर ही वे निर्दलीय खड़े हुए हैं। बाद में तेजस्वी यादव से मिलकर संजय यादव ने अपना नामांकन वापस लेने की बात कही थी। संजय यादव, तेजप्रताप यादव के संगठन छात्र जनशक्ति परिषद के मुंगेर प्रमंडल प्रभारी हैं।

कांग्रेस के लिए प्रचार करने का भी था दावा
कांग्रेस और राजद में चल रही तनातनी के बीच बिहार कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष अशोक राम ने कुछ दिनों पहले तेजप्रताप यादव से मुलाकात की थी। कुशेश्वरस्थान से अशोक राम के बेटे अतिरेक कुमार चुनाव लड़ रहे हैं। मुलाकात के बाद अशोक राम ने कहा था कि तेजप्रताप यादव ने आश्वासन दिया है कि वे अतिरेक के चुनाव प्रचार में कुशेश्वरस्थान जाएंगे।

खबरें और भी हैं...