• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Tej Pratap Yadav, Who Left For Delhi For The Second Time Within 20 Days, Will Also Meet Lalu Prasad

फिर दिल्ली रवाना हुए तेजप्रताप यादव:20 दिन के अंदर दूसरी बार गए हैं दिल्ली, लालू प्रसाद से मुलाकात भी करेंगे

पटना4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तेजप्रताप यादव (फाइल फोटो)। - Dainik Bhaskar
तेजप्रताप यादव (फाइल फोटो)।

राष्ट्रीय जनता दल में चल रहे विवाद और अंतर्द्वंद के बाद लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव से 9 सितंबर को भास्कर ने एक्सक्लूसिव बातचीत की थी। इंटरव्यू सामने आने के बाद तेजप्रताप यादव दिल्ली रवाना हो गए है। 20 दिनों के अंदर तेजप्रताप यादव दूसरी बार दिल्ली गए है। इस बीच पटना में वे पटना यूनिवर्सिटी गए और वहां के सीनियर छात्रों के साथ मीटिंग की। इसके बाद उन्होंने छात्रों का एक नया संगठन छात्र जनशक्ति परिषद् का गठन किया। इसका राष्ट्रीय अध्यक्ष उन्होंने खुद को घोषित भी किया। उन्होंने संगठन नया बनाया, लेकिन साथ में यह भी कहा कि छात्र जनशक्ति परिषद् राजद के लिए बैकबोन के रुप में काम करेगा।

तेजप्रताप यादव लोकनायक जयप्रकाश नारायण के चरखा समिति भी गए और वहां जेपी की तस्वीर पर माल्यार्पण भी किया था। तेज ने इसे विस्तार से बताया था कि क्यों उन्होंने नया संगठन बनाया। उन्होंने कहा कि पार्टी में सामंतवादी सोच वाले लोग कई बार आ जाते हैं जो अपना सिक्का चलाना चाहते हैं। पार्टी में छात्रों का उपयोग कर लिया जाता है और बैकडोर से बाहर निकाल दिया जाता है। छात्रों को यूज एंड थ्रो किया जाता है।

पार्टी में उत्पन्न मनुवादी शक्तियां डैमेज करती रहेंगी

भास्कर के साथ बीतचीत में तेजप्रताप ने कहा था कि तेजस्वी यादव के साथ उनकी कोई लड़ाई नहीं है बल्कि वे तेजस्वी को गद्दी दिला कर रहेंगे। लेकिन साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि संगठन में उत्पन्न मनुवादी शक्तियों से उन्हें घृणा होती है और जब तक ये शक्तियां डेरा बनाकर रहेंगी डैमेज करती रहेंगी। तेजप्रताप यादव ने साफ-साफ कहा कि हम दोनों भाइयों में कोई लड़ाई नहीं है, हमारी सबसे बड़ी लड़ाई भाजपा से है। तेजप्रताप यादव जब दिल्ली जाते हैं तो अपने पिता लालू प्रसाद और मां राबड़ी देवी से जरूर मिलते हैं।

नए संगठन पर लालू प्रसाद क्या कहते हैं यह भी देखना है

लालू प्रसाद, तेजप्रताप यादव को नए संगठन छात्र जनशक्ति परिषद् को लेकर क्या कहते हैं यह आने वाले समय में तेजप्रताप की एक्टिविटी से स्पष्ट होगा। पार्टी के अंदर जिन मनुवादी ताकतों से पार्टी को खतरा की बात तेज ने कही है उस पर लालू प्रसाद, तेजप्रताप को किस तरह से समझाते हैं यह भी देखना है क्योंकि लालू प्रसाद और तेजस्वी यादव की मर्जी से ही हर व्यक्ति को पार्टी में पद मिला हुआ है। हालांकि, तेजस्वी यादव ने पदधारकों को अपना बेहतर परफारमेंस दिखाने का टास्क पिछले दिनों की बैठक में दिया है।

विवाद में आया तेज का नया छात्र संगठन

तेजप्रताप यादव ने छात्र संगठन में प्रदेश अध्यक्ष प्रशांत प्रताप यादव को लेकर भी विवाद सामने आ गया है। प्रशांत एक मामले में आठ माह जेल में रहे और अभी बेल पर बाहर हैं। उन पर 307 का मुकदमा दर्ज है। प्रशांत के पिता रामजी प्रसाद राय राजनीति में एक्टिव रहे हैं और दो बार चुनाव लड़ चुके हैं।

इस बार की मुलाकात खास होगी

पार्टी के अंदर के विवाद और अतर्द्वंद को लेकर तेजप्रताप यादव का इतना बड़ा इंटरव्यू और कहीं नहीं आया। जानकारी है कि भास्कर को दिए इंटरव्यू में उठाए सवालों पर लालू प्रसाद भी मंथन कर रहे हैं। इसलिए इस बार तेजप्रताप यादव और लालू प्रसाद की मुलाकात बहुत मायने रखती है।

तेज प्रताप यादव का EXCLUSIVE इंटरव्यू

खबरें और भी हैं...