• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Tejashwi Tejpratap Not Attanded RJD Protest; JDU Attack ON Lalu Son; Bihar Bhaskar Latest News

आंदोलन में नहीं दिखे तेजस्वी-तेजप्रताप:JDU नेता बोले- राजनीति के नव-सामंत हैं लालू पुत्र, RJD के आंदोलन में कल 75 पार के नेता शामिल हुए, युवा गायब रहे

पटना3 महीने पहले
तेजस्वी यादव के साथ तेज प्रताप यादव। (फाइल फोटो)

जातीय जनगणना कराने की मांग को लेकर हो रहे RJD के आंदोलन में लालू प्रसाद के दोनों बेटे शनिवार को नजर नहीं आए। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सोशल मीडिया पर अपने फोटो पोस्ट कर पार्टी कार्यकर्ताओं और आम लोगों से जुलूस-धरना में शामिल होने की अपील की थी। वे खुद इसमें शामिल नहीं हुए। तेजप्रताप भी नजर नहीं आए। तेजस्वी सोशल मीडिया पर जगह-जगह की तस्वीरें डालकर आंदोलन को सफल बनाने के लिए धन्यवाद जरूर देते रहे। प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने इन्कम टैक्स चौराहा पर लोगों को बताया कि जरूरी कारण से तेजस्वी यादव को फ्लाइट छोड़नी पड़ी।

जदयू ने तेजस्वी और तेज प्रताप की गैरमौजूदगी पर सवाल उठाया है। जदयू नेता नीरज कुमार ने कहा है कि लालू प्रसाद के दोनों बेटे नव-सामंत हैं। उनको आंदोलन से कोई मतलब नहीं रहता है। जमीनी मुद्दों पर गायब रहते हैं।

महंगाई के सवाल पर भी नहीं उतरे सड़क पर

19 जुलाई को महंगाई के सवाल पर आंदोलन किया गया था। उस समय तेजस्वी यादव ने राष्ट्रीय जनता दल कार्यालय के बाहर खड़े होकर हरा झंडा दिखाया और दिल्ली रवाना हो गए। कार्यकर्ताओं के बीच लगातार इस बात की चर्चा होती रही कि तेजस्वी-तेजप्रताप महंगाई और जातीय जनगणना दोनों ही आंदोलनों में सड़क पर क्यों नहीं उतरे। कार्यकर्ता बताते हैं कि सरकार पहले भी आंदोलन करने के इल्जाम में मुकदमे कर चुकी है और इस बार भी नया मुकदमा कर दिया जाता, इसका डर था।

मुकदमों से नहीं डरते राजनीति करने वाले

एक तरफ शनिवार को पार्टी के वरिष्ठ नेता अब्दुलबारी सिद्दीकी ने धरना देते हुए कहा कि ' सरकार अगर जुलूस और धरना से नहीं मानी तो हम सभी जेल भरो अभियान चलाएंगे और सरकार का जेल छोटा पड़ जाएगा '। जुलूस और धरना के कार्यक्रम में जगदानंद सिंह, उदय नारायण चौधरी, वृषिण पटेल, श्याम रजक, प्रेम कुमार मणि जैसे 70-75 उम्र पार वरिष्ठ नेताओं ने भाग लिया। सड़क पर धरना दिया तो दूसरी तरफ तेजस्वी-तेजप्रताप युवा नेता नहीं दिखे। सवाल उठ रहा है कि राजनीति करने वाले, आंदोलन करने वाले क्या मुकदमों से डरते हैं।

असली सवाल से भटकाने के लिए तेजस्वी के नहीं आने पर सवाल

पार्टी के वरिष्ठ नेता आलोक मेहता से यह सवाल पूछा गया कि आंदोलन में तेजस्वी क्यों नहीं आए? मेहता ने जवाब दिया कि लालू प्रसाद यादव या तेजस्वी यादव जहां कहीं भी हैं पार्टी के आयोजनों को उनका पूरा समर्थन है। उन्हीं के निर्देशन में यह आंदोलन हो रहा है। कहा कि असली सवाल से भटकाने के लिए सत्ता के लोग इस तरह के सवाल करते रहते हैं।

उनकी पार्टी के नेताओं की जुबान नहीं खुलती - JDU

पूर्व मंत्री और JDU के प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि लालू के बेटे तो राजनीति के नव-सामंत हैं। खास परिवार में जन्म लिया है, इसलिए उनकी अनुपस्थिति पर उनकी पार्टी के अच्छे-अच्छे नेताओं की जुबान भी नहीं खुल सकती। पहले ही इतना अपमान हुआ है कि कौन सवाल उठाएगा। नीरज ने आगे कहा कि यह राजनीतिक आंतक है। आंदोलन से क्या मतलब है नव-सामंतों को। वे तो संपत्ति और उन्माद के नेता हैं। फेसबुक और ट्विटर वाले नेता हैं।

खबरें और भी हैं...