सरकार की महबूबा हो गई महंगाई:तेजस्वी का तंज, कहा- महंगाई को डायन बताने वाले आज इसे महबूबा समझ बैठे हैं, आम लोगों को भूख से मारेगी सरकार

पटना3 महीने पहले
तेजस्वी यादव, नेता प्रतिपक्ष। फाइल फोटो।

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने महंगाई को लेकर सरकार पर एक बार फिर निशाना साधा है। गुरुवार को उन्होंने कहा- 'NDA सरकार के सौजन्य से देश में महंगाई एक भीषण समस्या बन चुकी है। डबल इंजन सरकार ने भीष्म प्रतिज्ञा ली है कि खाद्य पदार्थों, पेट्रोल-डीजल और गैस सिलेंडर की कीमतें बढ़ाकर आम लोगों को भूखा मार देंगे। महंगाई को डायन बताने वाले आज इसे महबूबा समझ, इससे चिपके बैठे हैं। सरकार में बैठे लोग महंगाई रूपी प्रियतमा को दूर नहीं कर पा रहे हैं।'

केंद्र और राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा- 'खाद्य पदार्थों, तेल के दाम तो आसमान छू ही रहे थे, खाना पकाना भी महंगा हो गया है। पिछले 8 महीनों में रसोई गैस के दाम 190 रुपए तक बढ़ गए हैं। पिछले 2 हफ्तों में 2 बार रसोई गैस की कीमत बढ़ाई गई है। इससे ऐसा प्रतीत होता है कि मोदी सरकार और उसके विभाग कमर कसकर बैठ चुके हैं। गरीबों का जीना मुहाल करके दम लेंगे।

गरीबों के घरों में पड़े खाली गैस सिलेंडर मुंह चिढ़ा रहे

राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा- 'केंद्र सरकार ने उज्ज्वला योजना के खूब कसीदे पढ़े, खूब महिमा-मंडन किया, अपने को स्वघोषित निर्धनता उन्मूलन के पुरोधा होने का दावा किया। क्या आज इस सरकार में हिम्मत है कि गांव-गांव जाकर उज्ज्वला योजना की समीक्षा करे और देश को इसकी वास्तविकता बताए। गरीबों के घर में पड़े खाली LPG सिलेंडर मुंह चिढ़ा रहे हैं।'

सिलेंडर की कीमत एक हजार करके साधी चुप्पी

उन्होंने कहा- '2014 में 384 रुपए प्रति रसोई गैस के सिलेंडर कंधे पर ढो ढोकर प्रदर्शन करने वाले लोग आज प्रति सिलेंडर की कीमत 1000 करने के बाद भी सत्ता में बैठ चुप्पी साधे हुए हैं। चौतरफा महंगाई से गरीबों और मध्यम वर्ग की जेबों पर डाका पड़ ही रहा था, रसोई गैस की कीमतों ने अब पेट पर लात मार दी है। महंगाई, बेरोजगारी और भुखमरी को लेकर सड़क से लेकर सदन तक हमारा संघर्ष जारी रहेगा। हम आम आदमी की लड़ाई लड़ते रहेंगे।'

खबरें और भी हैं...