राष्ट्रपति का कार्यक्रम छोड़ कुशेश्वरस्थान में कैंप करेंगे तेजस्वी:3 दिन चुनावी सभा करेंगे, लालू ने नीतीश से पूछा- विधानसभा भवन को RSS को गिरवी रखेंगे?

पटना3 महीने पहलेलेखक: प्रणय प्रियंवद
  • कॉपी लिंक
नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (दाएं) और लालू प्रसाद यादव (बाएं)।- फाइल - Dainik Bhaskar
नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (दाएं) और लालू प्रसाद यादव (बाएं)।- फाइल

बिहार विधानसभा भवन के सौ साल हो गए। इस अवसर पर भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद पटना आ रहे हैं। विधानसभा भवन सहित पूरे परिसर को ऐसा सजाया गया कि है कि मानों दिवाली है। लोकतंत्र की खूबसूरती तभी है, जब इसमें सत्ता पक्ष के साथ ही विपक्ष की भी दमदार भूमिका हो। लेकिन नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की चुनावी यात्रा को देखकर लग रहा है कि वे राष्ट्रपति से जुड़े आयोजन में भाग नहीं लेंगे।

तेजस्वी यादव का कार्यक्रम इस तरह से निर्धारित है
नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के चुनावी कार्यक्रमों के अनुसार, वे 20 अक्टूबर से 23 अक्टूबर तक दिन-रात दरभंगा में ही रहेंगे और कुशेश्वरस्थान में चुनावी सभाओं को संबोधित करेंगे। रात में भी वहीं विश्राम करेंगे। 20 अक्टूबर को सुबह 10 बजे वे पटना से दरभंगा के लिए रवाना होंगे। रात्रि विश्राम वहीं करेंगे और 21 अक्टूबर को सुबह 10 बजे दरभंगा के कुशेश्वरस्थान विधान सभा के प्रखंड कुशेश्वरस्थान जाएंगे।

वहां विभिन्न पंचायतों में स्थानीय कार्यक्रमों में भाग लेंगे। शाम 4 बजे वापस सोनकी ओपी, दरभंगा लौटेंगे और वहीं रात्रि विश्राम करेंगे। 22 अक्टूबर और 23 अक्टूबर को भी वे कुशेश्वरस्थान विधानसभा में ही रहेंगे। 23 अक्टूबर की रात वे पटना लौटेंगे। बता दें कि बिहार विधान सभा में 21 अक्टूबर को आयोजन है जिसमें राष्ट्रपति 10.50 में शामिल होंगे।

लालू प्रसाद ने पूछा- विधानसभा भवन भी संघ को गिरवी रखेंगे?
मंगलवार को विधानसभा की तैयारियों के बीच राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने सवाल उठाया है और कहा है कि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और संगठन महामंत्री किस क्षमता से बिहार विधान सभा भवन के शताब्दी समारोह की तैयारियों का जायजा ले रहे हैं?

ये दोनों तो इस सदन के सदस्य भी नहीं हैं। उन्होंने पूछा है कि यह कोई संघ और भाजपा का भवन है क्या? नीतीश कुमार, क्या यह भवन भी संघ को गिरवी रखेंगे? इसे लालू प्रसाद की इस नाराजगी का असर माना जा रहा कि तेजस्वी विधान सभा परिसर में आयोजित कार्यक्रम में भाग नहीं ले रहे।

नाराजगी के दो कारणों की चर्चा जोरों पर
लालू प्रसाद भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और संगठन महामंत्री द्वारा विधानसभा में तैयारी का जायजा लेने से तो नाराज हैं ही, इससे भी नाराज हैं कि विधानसभा परिसर में 21 अक्टूबर को आयोजित कार्यक्रम में तेजस्वी यादव को तीन मिनट बोलने का समय दिया गया है और नीतीश कुमार को 10 मिनट का।

RJD ने कहा- नीतीश कुमार RSS के सामने नाक रगड़कर रेंग रहे
राष्ट्रीय जनता दल ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा है कि CM नीतीश कुमार, आरएसएस के सामने नाक रगड़ कर रेंग रहे हैं। किसी ऐसे-गैर संघी और भाजपाई की क्या हैसियत कि वो बिहार विधानसभा भवन के शताब्दी समारोह की तैयारियों का जायजा लेंगे और निरीक्षण करेंगे। राजद ने सवाल पूछा है कि नीतीश कुमार बताएं कि संजय जायसवाल और भीखू भाई दलसनिया किस हैसियत से तैयारियों की देख-रेख कर रहे हैं?

खबरें और भी हैं...