• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Tejpratap Yadav And Chaitanay Patil Meet Lalu Prasad In Delhi; Bihar RJD BIHAR Latest News

तेजप्रताप के दोस्त चैतन्य क्या RJD में आएंगे?:दिल्ली में लालू प्रसाद से दोनों मिले, भास्कर से बोले चैतन्य- RJD सुप्रीमो जैसा निर्देश देंगे, वैसा करूंगा, राजद को मजबूत बनाना है

पटना5 महीने पहले
लालू प्रसाद के साथ तेज प्रताप और उनके मित्र चैतन्य।

दिल्ली में तेज प्रताप यादव की मेजबानी करके चैतन्य पालित चर्चा में आ गए हैं। उनको लेकर तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। वह कांग्रेस के नेता रह चुके हैं और उम्मीद जताई जा रही है कि उन्हें तेज प्रताप अपनी पार्टी में शामिल करा सकते हैं। इन कयासों को बल तब मिल गया, जब चैतन्य ने उनके साथ लालू यादव से मुलाकात की। भास्कर ने लिए चैतन्य से बातचीत की है। पढ़िए, खास इंटरव्यू...

चैतन्य के परिवार के साथ तेज प्रताप यादव।
चैतन्य के परिवार के साथ तेज प्रताप यादव।

तेजप्रताप यादव से आपकी दोस्ती कैसी है?

मैं तो दूसरे दल में था, लेकिन मैं अब भी उनके साथ हूं, पहले भी था। लालू प्रसाद जी हम सभी के गार्जियन हैं।

लालू यादव से आप तेज प्रताप के साथ मिले। लगता है उन्होंने कुछ आश्वासन दिया है?

ऐसा कुछ नहीं है। मेरे पिता जी के लालू प्रसाद से अच्छे संबंध रहे हैं। गया टाउन से पिता जी ने 2000 में RJD के टिकट से चुनाव लड़ा था। छह बार चुनाव लड़े, दो बार जीते। कांग्रेस के टिकट पर भी कई बार लड़े। मैं उनसे आशीर्वाद लेने गया था। बहुत दिनों बाद हम मिले। वे स्वस्थ हैं। अच्छे हैं। एक्टिव है। उन्होंने निर्देश दिया है कि पार्टी को सब मिलकर और मजबूत करें। आगे लालू जी का जैसा निर्देश होगा वैसा करूंगा। पार्टी को और मजबूत बनाना है। सरकार बनाने से हम लोग चूक गए, थोड़े से अंतर से।

फिटनेस को लेकर काफी अवेयर हैं चैतन्य।
फिटनेस को लेकर काफी अवेयर हैं चैतन्य।

आप राजद में शामिल हो चुके हैं क्या?

नहीं, मैंने राजद ज्वाइन नहीं किया है, लेकिन हमलोग साथ हैं। सदस्यता लेने में क्या है, वह तो कुछ देर की बात है। हमारा परिवार सेक्युलर परिवार रहा है। हमारा तन-मन राजद के प्रति समर्पित है। पिताजी भी राजद के टिकट पर चुनाव लड़े हैं। इसलिए मैं खुद को आरजेडी में ही मानता हू।

जगदानंद सिंह और तेज प्रताप के बीच खूब विवाद चल रहा है?

इस पर मैं कुछ नहीं बोलना चाहता। मैं छोटा कार्यकर्ता हूं, लेकिन यह समझ लीजिए पूरी पार्टी एकजुट है।

पावर एक्सपोर्ट के बिजनेस से जुड़े हैं चैतन्य पालित।
पावर एक्सपोर्ट के बिजनेस से जुड़े हैं चैतन्य पालित।

राजद के छात्र नेता आकाश यादव ने पार्टी छोड़ लोजपा (पारस) का दामन थाम लिया है। इससे राजद पर असर नहीं पड़ेगा?

किसी के जाने से पार्टी खत्म नहीं होती। लाखों लोगों से पार्टी बनती है।

चैतन्य आपने तो निर्दलीय चुनाव भी लड़ा था ना?

हां, मैंने निर्दलीय चुनाव लड़ा था। कांग्रेस पार्टी ने मेरे साथ धोखा किया था और टिकट नहीं दिया था।

कांग्रेस में आप किस तरह से जुड़े थे?

मैं 4 साल तक ऑल इंडिया प्रोफेशनल कांग्रेस का बिहार अध्यक्ष रहा। शशि थरूर इसके राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं, लेकिन कांग्रेस ने टिकट नहीं दिया। बाहर से आने वाले को गया में टिकट दे दिया। ऐसे में आदमी का दिल टूट जाता है।

यह तो सभी पार्टियों में होता है?

मैं यह समझता हूं कि राष्ट्रीय जनता दल कार्यकर्ताओं का महत्व समझती है। कांग्रेस में इस बात की कमी है। इसलिए, चुनाव के समय ही मैंने कांग्रेस का साथ छोड़ दिया था।

आप दिल्ली में रहते हैं?

गया में भी रहते हैं और दिल्ली में भी। मां गया में ही रहती हैं। बिहार में कितना स्कोप है आपको भी मालूम है।

आप दिल्ली में किस चीज का कारोबार करते हैं?

हमारा पावर एक्सपोर्ट हाउस है। फीफा वर्ल्ड कप का काट्रैक्ट है। दोहा- कतर में स्टेडियम बन रहा है तो वहां लेबर सप्लाई का कांट्रैक्ट है।

आपके फेसबुक पेज पर आपका सिक्स एब्स दिखता है। आप इससे जुड़ी प्रतियोगिता में भी भाग लेते हैं क्या ?

ये तो बस मेरा पैशन है। ईश्वर की कृपा है कि कोई बुरी आदत नहीं है। इसलिए अच्छ खाता हूं और अच्छे लोगों से मिलता हूं। फिटनेस अपने लिए रखता हूं। प्रतियोगिता से दूर रहता हूं। राजनीति करता हूं। प्रतियोगिता में जाऊंगा तो अंडरवियर पहनकर जाना पड़ेगा स्टेज पर।

लालू प्रसाद के पटना आने के प्रोग्राम का क्या हुआ?

हां, प्लान बन रहा है, जल्द ही लालू जी पटना आएंगे।

खबरें और भी हैं...