BJP के निशाने पर आए CM नीतीश कुमार:प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल बोले- अफसर राजतंत्र की तरह करते हैं व्यवहार

पटना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
CM नीतीश कुमार और BJP प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल। - Dainik Bhaskar
CM नीतीश कुमार और BJP प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल।

बिहार में BJP कोटे से आने वाले मंत्री की गाड़ी सुरक्षाकर्मियों के रोकने के मामले में अब BJP अपने नेता के पक्ष में उतर आई है। विवाद सामने आने के महज 3 घंटे के अंदर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने सोशल मीडिया के जरिए इस घटना को लेकर नाराजगी जताई। प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने तो इसकी बिहार की स्थितियों की तुलना की राजतंत्र से कर दी।

मंत्री जीवेश मिश्रा के पक्ष में उतरे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष
BJP के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने विधानसभा परिसर में घटी घटना पर नाराजगी जताई है। संजय जायसवाल ने सोशल मीडिया पर अपना बयान जारी किया है। उन्होंने मुख्य सचिव के उस बयान की भी चर्चा की है जिसमें उन्होंने जिलाधिकारी और आरक्षी अधीक्षक को जनप्रतिनिधियों की सम्मान देने का आदेश दिया था। संजय जायसवाल का कहना है कि ये सारे आदेश बेअसर हैं। क्योंकि बिहार के कुछ अधिकारी राजतंत्र की तरह व्यवहार कर रहे हैं।

पुलिसकर्मियों के गाड़ी रोकने पर भड़क गए थे श्रम संसाधन मंत्री जीवेश मिश्रा
संजय जायसवाल ने जिस घटना को लेकर नाराजगी जताई है वो विधानमंडल के शीतकालीन सत्र से जुड़ी है। दरअसल, सत्र के चौथे दिन जब मंत्री विधानसभा पहुंचे तो उसी समय सीएम का काफिला गुजर रहा था। उनके पीछे डीएम और एसपी की गाड़ी जा रही थी। इसलिए उनकी गाड़ी रोक दी गई। इसके बाद गुस्साए मंत्री जीवेश मिश्रा ने गाड़ी रोकने वाले पुलिस अधिकारी को सस्पेंड करने की मांग की है। उन्होंने सदन में कहा कि डीएम और एसपी बड़ा या मंत्री बड़ा सरकार तय करें।

पहले भी अफसरशाही का उठा चुके हैं मुद्दा
ये पहला मौका नहीं जब संजय जायसवाल ने बिहार में राजतंत्र होने के बात करते हुए सीधे राजा पर निशाना साध दिया है। संजय जायसवाल ने जो बयान दिया है उससे ये साफ है कि बिहार में सिर्फ राजा यानी मुख्यमंत्री की बात सुनी जाती है। मुख्यमंत्री की अफसरों के प्रति नरम रुख के कारण ही ऐसी घटनाएं हो रही हैं। इससे पहले भी कई मामलों में संजय जायसवाल ने बिहार में अफसरशाही हावी रहने का मुद्दा उठाया था।

खबरें और भी हैं...