• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • UPSC Topper Shubham Said Civil Service Preparation Has Become Easier In The Digital World

UPSC टॉपर ने कहा- डिजिटल दुनिया में आसानी हुई:बिहार के शुभम बोले- लक्ष्य के लिए समर्पण हो तो गांव से भी सफलता मिल जाएगी, इंटरनेट पर स्टडी मटेरियल की नहीं है कोई कमी

पटनाएक महीने पहले

UPSC टॉपर कटिहार के शुभम कुमार ने कहा, 'तैयारी बड़े शहरों से नहीं खुद के डेडिकेशन से होती है। जब हम एक ही लक्ष्य के लिए समर्पित होकर ईमानदारी से जुट जाते हैं तो वह हमें हर हाल में प्राप्त होता है। इसके लिए बड़े शहरों में रहने की जरूरत भी नहीं, ध्येय के प्रति समर्पण है तो गांव से भी सफलता मिल जाएगी।'

उनका कहना है- 'टॉपर का तो कभी सोचा भी नहीं था, बस सफलता के लिए ईमानदारी से तैयारी कर रहा था। यह सफलता समर्पण और मेहनत से मिली है।'

शुभम ने गांव में रहकर तैयारी करने वालों के लिए भी बड़ा संदेश दिया है। उन्होंने कहा- 'डिजिटल मीडिया के इस आधुनिक दौर में तैयारी काफी आसान हो गई है। UPSC की तैयारी के लिए अब ऐसा नहीं है कि बड़े शहरों में खास कोचिंग को ही जॉइन किया जाए। बड़े शहरों में ही नहीं गांव में भी तैयारी हो सकती है और हर हाल में सफलता मिल सकती है। परीक्षा की तैयारी तो छात्र कहीं भी रहकर कर सकता है। बस छात्र को ईमानदारी से इस तैयारी के लिए लक्ष्य बनाकर समर्पित होना पड़ेगा। डेडिकेटेड होकर हर तैयारी और बड़े से बड़ा लक्ष्य हासिल किया जा सकता है। ऑनलाइन कई माध्यमों से लेकर यूट्यूब पर एक से बढ़कर एक मैटीरियल है, जो तैयारी करने वालों का लक्ष्य आसान कर सकते हैं। डिजिटल युग में बिहार में रहकर भी तैयारी की जा सकती है।'

घर वालों से बस 5 मिनट करते थे बात
शुभम अपने लक्ष्य और अपनी तैयारी को लेकर इतने समर्पित थे कि वह घर वालों से भी 24 घंटे में 5 मिनट से अधिक बात नहीं करते थे। उनके पिता देवानंद सिंह का कहना है- 'रात में खाना खाने के बाद वह खुद शुभम को फोन लगाते थे, लेकिन 5 मिनट से अधिक बात नहीं करते थे। घर वालों को भी पता था कि शुभम का लक्ष्य UPSC में अच्छी रैंक लाना है।'

शुभम का कहना है- 'रिजल्ट आने से 24 घंटे पहले भी घर में पापा से बात हुई थी, लेकिन रैंक को लेकर सोचा भी नहीं था कि टॉपर बनूंगा। हमारी तरह कोई भी बच्चा टॉप कर सकता है, बस उसके लक्ष्य ईमानदारी से निर्धारित होने चाहिए। 'पढ़िए UPSC

पढ़िए UPSC क्लीयर करने वाले बिहार के टॉपर्स की कहानी...

खबरें और भी हैं...