• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Vigilance Team Raid In Engineer Kauntai Kumar Home; Found Two Flats In Boring Road; Bihar Bhaskar Crime Latest News

काली कमाई के जरिए इंजीनियर ने खरीदी करोड़ों की संपत्ति:विजिलेंस टीम को मिले बोरिंग रोड में दो फ्लैट, शगुना मोड़ और हाजीपुर में कीमती जमीन के सबूत, 33.75 लाख की मिली ज्वेलरी

पटनाएक महीने पहले
छापेमारी में बरामद ज्वेलरी।

काली कमाई करने वाले पथ निर्माण विभाग के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर कौंतय कुमार ने करोड़ों रुपए की चल-अचल संपत्ति बना रखी है। जिस फ्लैट में ये अपने परिवार के साथ रह रहे हैं, उसके अलावा पटना के ही बोरिंग रोड में भी इन्होंने दो फ्लैट खरीद रखा है। ये दोनों फ्लैट बोरिंग रोड के प्राइम लोकेशन में स्थित कृष्णा अपार्टमेंट के C ब्लॉक में 8वें फ्लोर पर है। फ्लैट नंबर 82 और 83 को इन्होंने खरीद रखा है। दोनों फ्लैट को अंदर से तोड़कर एक ही में मिलाने का काम चल रहा था। इस फ्लैट को पूरी तरह से लग्जरी बनाने की कवायद चल रही थी।

1 करोड़ से अधिक का सिर्फ फ्लैट

विजिलेंस अधिकारियों के अनुमान के अनुसार दोनों फ्लैट मिलाकर कुल कीमत 1 करोड़ से अधिक की है। इन दोनों फ्लैट को कौंतय कुमार ने हाल के दिनों में ही खरीदा था। अभी इस फ्लैट का डीड भी इप्हें नहीं मिला है। इसके कौंतय ने पटना के ही शगुना मोड़ और हाजीपुर में जमीन का कीमती प्लॉट खरीद रखा है। इन सब के सबूत को लेकर मंगलवार को दिन भर चली छापेमारी के दौरान विजिलेंस टीम के हाथ लगा। कौंतय कुमार साल 2019 से पथ निर्माण विभाग के गुलजारबाग डिवीजन में एग्जीक्यूटिव इंजीनियर के तौर पर पोस्टेड हैं। पिछले तीन सालों में इनकी काली कमाई खूब बढ़ी है।

पटना में इंजीनियर के घर विजिलेंस का छापा

31 पॉलिसी में भी कर रखा इंवेस्ट
विजिलेंस की टीम ने कौंतय कुमार के गोसाईं टोला स्थित नित्यानंद इन्क्लेव अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर 403 पर मंगलवार की सुबह करीब 10 बजे छापेमारी की थी। जो अभी तक चल रही है। टीम को लीड कर रहे डीएसपी सुरेंद्र कुमार महुआर के अनुसार उनकी यह कार्रवाई रात 10 बजे तक चलने की संभावना है। पड़ताल के दौरान देर शाम तक कुल 15 लाख 50 हजार रुपए कैश मिले हैं। जो दोपहर तक करीब 12 लाख थे। रुपयों को फ्लैट में अलग-अलग जगहों पर छिपाकर रखा गया था।

इसके साथ-साथ 33.75 लाख रुपए की सोने-चांदी की ज्वेलरी मिली है। अब तक 8 से अधिक अलग-अलग बैंक अकाउंट्स के डिटेल्स मिले हैं। दो बैंकों में इनका लॉकर भी मिला है। जिसे विजिलेंस टीम ने फ्रीज करवा दिया है। इसके अलावा SBI LIFE, IDFC, HDFC LIFE, TATA AIA, AXIS MF जैसी अलग-अलग बीमा कंपनियों में कुल 31 पॉलिसी कौंतय ने खुद के और अपने परिवार के नाम ले रखा है। इसमें अब तक 30 लाख से अधिक का इंवेस्टमेंट कर चुके हैं।

सरकार से बोलते रहे झूठ
इस छापेमारी के दौरान जितने भी जमीन और फ्लैट के डिटेल्स सामने आए हैं, वो सभी कौंतय कुमार और उनकी पत्नी के नाम पर हैं। टीम के हाथ अलग-अलग जगहों पर इनके तरफ से दूसरे जगहों पर किए गए बड़े इंवेस्टमेंट्स का भी पता चला है। अब विजिलेंस टीम बैंक जाकर हर एक अकाउंट का डिटेल्स भी खंगालेगी। आशंका इस बात की जाहिर की जा रही है कि मंगलवार को जितनी चल-अचल संपत्तियों का पता चला है। उससे अधिक इन्होंने अर्जित कर रखी है।

सभी संपत्तियों को खंगाला जा रहा है। जिस हिसाब से इनकी काली कमाई का खुलासा मंगलवार को हुआ है, उससे सरकार के अधिकारियों के होश उड़े हुए हैं। क्योंकि, हर साल जमा करने वाले वार्षिक संपत्ति के डिटेल्स में कौंतेय ने काफी जानकारियां छिपाई है। राज्य सरकार से झूठ बोला है। इसी वजह इनके खिलाफ विजिलेंस ने 13 सितंबर को FIR नंबर 38/2021 दर्ज किया है। यह केस 1 करोड़ 76 लाख 83 हजार के आय से अधिक की संपत्ति का है।

खबरें और भी हैं...