कोरोना को हराना है / ग्रामीणों की पहल; चंदा जुटाकर सैनिटाइजर-मास्क खरीदे और लोगों में बांट दिए, गांव में रिश्तेदारों के आने पर भी लगाई रोक

नाकों पर ग्रामीण शिफ्ट में पहरा दे रहे. नाकों पर ग्रामीण शिफ्ट में पहरा दे रहे.
X
नाकों पर ग्रामीण शिफ्ट में पहरा दे रहे.नाकों पर ग्रामीण शिफ्ट में पहरा दे रहे.

  • गांव की हर गली, मंदिर, गुरुद्वारे में सैनिटाइजर का छिड़काव किया, दूसरी ओर लोगों को मास्क भी बांटे गए
  • गांव में रिश्तेदारों के आने पर पाबंदी है। इमरजेंसी में कोई आता है तो उसे सैनिटाइजेशन प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है

दैनिक भास्कर

Mar 26, 2020, 09:28 AM IST

नाभा. पंजाब में नाभा जिले का अगेता गांव। यहां की आबादी करीब 750 है। महज 10% लोग शिक्षित हैं। ऐसे में कोरोनावायरस के खतरे को समझते हुए ग्रामीणों ने गांव को बचाने की ठान ली है। काेराेना के खतरे काे लेकर जहां लाेग इंसानियत भूलकर नियमाें का उल्लंघन कर रहे हैं। ऐसे में अगेता गांव के लोग चंदा जुटाकर सैनिटाइजर और मास्क खरीद लाए। गांव की हर गली, मंदिर, गुरुद्वारे में सैनिटाइजर का छिड़काव किया। दूसरी ओर लोगों को मास्क भी बांटे गए।

दवा लेने ही निकल सकते हैं; जरूरी सामान, नकदी जैसी सेवाएं गांव में ही 

ब्लॉक प्रधान हरविंदर सिंह ने बताया कि गांव की सड़कों पर बैरिकेड्स लगाए हैं। लोगों पर नजर रखी जा रही है। लोग दवा लेने ही बाहर जा सकते हैं। लेकिन उन्हें एक रजिस्टर आने-जाने का समय और जाने की वजह दर्ज करनी होगी। जरूरी सामान और नकदी गांव में ही मुहैया कराई जा रही है।

3 नाकों पर ग्रामीण शिफ्ट में पहरा दे रहे

गांव में रिश्तेदारों के आने पर पाबंदी है। इमरजेंसी में कोई आता है तो उसे सैनिटाइजेशन प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है। गांव के तीन पब्लिक नाकों पर ग्रामीण शिफ्ट के हिसाब से पहरा दे रहे हैं। गांव के बाहर मजदूरी पर जाने वाले लोगों को खाना और दवाएं गांव में ही मुहैया कराई जा रही हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना