पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मोतिहारी में पुलिस टीम पर हमला:दो गुटों के बीच समझौता कराने पहुंची थी पुलिस, SI समेत 4 पुलिसकर्मी जख्मी, पुलिस की गाड़ी को भी क्षतिग्रस्त किया

मोतिहारी11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मारपीट में घायल ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
मारपीट में घायल ग्रामीण।

मोतिहारी के सपही में दो गुटों के बीच मारपीट की घटना की सूचना पर बीच-बचाव करने पहुंची रघुनाथपुर पुलिस पर एक गुट के सदस्यों ने हमला बोल दिया है। इस हमला में रघुनाथपुर ओपी के दरोगा सहित चार पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं। जिनका इलाज मोतिहारी सदर अस्पताल में चल रहा है। हमलावरों ने पुलिस की गाड़ी को भी अपना निशाना बनाया है तथा पुलिस की गाड़ी को क्षतिग्रस्त कर दिया है। घटना रविवार की सुबह करीब 11 बजे की है।

सपही गांव में ललन कुशवाहा व मुसाफिर बैठा के बीच 2 कट्ठा 3 धूर घड़ारी की जमीन को लेकर जमीनी विवाद चल रहा है। इस विवादित जमीन पर मुसाफिर बैठा अपना घर बना रहे थे। इसको लेकर ललन कुशवाहा ने उन्हें घर बनाने से मना किया। मना करने पर वे गुस्सा गए। दोनों गुट के लोग आपस में भीड़ गए। दोनों गुटों के बीच जमकर मारपीट होने लगी। लोग एक दूसरे पर लाठी, फरसा आदि लेकर भीड़ गए।

घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस
घटना की सूचना जैसे ही रघुनाथपुर ओपी पुलिस को मिली। वे घटनास्थल पर दोनों गुटों के बीच हो रही मारपीट की घटना में बीच-बचाव करने पहुंची। इस दौरान रघुनाथपुर ओपी के दारोगा रामशरण सिंह सहित पुलिसकर्मी रवि कुमार, दिगंबर कुमार व राजू पटेल जख्मी हो गए।

ललन ने पुलिस को किया फोन
बैठा गुट के लोग जबरन विवादित जमीन पर अपना मकान बना रहे थे। इसी को लेकर कुशवाहा व बैठा गुट के लोगों के बीच मारपीट हो रही थी। इस बात की जानकारी ललन कुशवाहा ने रघुनाथपुर ओपी पुलिस को फोन कर दी। वे मामले को शांत करने व बीच-बचाव के लिए पहुंचे। ललन कुशवाहा ने बैठा गुट के मुसाफिर बैठा, बह्मदेव बैठा, सुंदर बैठा के पुत्र, मुसाफिर बैठा के दो पुत्र व बह्मदेव बैठा के दो पुत्र को आरोपित किया है।

खबरें और भी हैं...