पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bihar Legislative Assembly Election 2020 For 8 Graduate And Teacher Constituencies Seats Update News

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना काल में बरसा वोट:विधान परिषद चुनाव में ग्रेजुएट पर भारी पड़े शिक्षक मतदाता; ग्रेजुएट में 48.50 और शिक्षक निर्वाचन में 72.50 हुई वोटिंग

पटनाएक महीने पहलेलेखक: मनीष मिश्रा
पाटलिपुत्र कॉलोनी में नोट्रेडम स्कूल के मतदान केंद्र पर खड़े लोग।
  • दोपहर बाद मतदान के लिए घर से बाहर निकले मतदाता
  • 2014 की तुलना में शिक्षक निर्वाचन में 8 प्रतिशत की औसत वृद्धि
  • ग्रेजुएट में वर्ष 2014 के बराबर रहा मतदान का प्रतिशत

बिहार विधान परिषद शिक्षक स्नातक निर्वाचन में शिक्षक मतदाता ग्रेजुएट पर भारी पड़े हैं। बिहार विधान परिषद के द्विवर्षीय निर्वाचन के तहत स्नातक एवं शिक्षक निर्वाचन क्षेत्रों की चार-चार सीटों के लिए हुए मतदान में ग्रेजुएट में 48.50 और शिक्षक निर्वाचन में 72.50 वोटिंग हुई है। ग्रेजुएट निर्वाचन में कोसी में सबसे अधिक 58.52 प्रतिशत रही जबकि शिक्षक निर्वाचन में सारण क्षेत्र में सबसे अधिक 85 प्रतिशत वोटिंग हुई है। गुरुवार को दोपहर बाद मतदाता घर से बाहर निकले। दोपहर 12 बजे तक मतदान का ग्राफ काफी कम था। पटना सहित कई जिलों में मतदान का ग्राफ 10 प्रतिशत रहा लेकिन दोपहर बाद से अचानक ग्राफ तेजी से आगे बढ़ा।

जानिए कहां-कहां कितनी वोटिंग

पटना ग्रेजुएट में 44.53, तिरहुत ग्रेजुएट में 43.91, दरभंगा ग्रेजुएट में 47.28, कोसी ग्रेजुएट में 58.52 प्रतिशत मतदान हुआ है। वहीं शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र में पटना शिक्षक निर्वाचन में 55.30, सारण शिक्षक निर्वाचन में 85, तिरहुत में 79.77 और दरभंगा शिक्षक 70.03 प्रतिशत मतदान हुआ है। मतदान का औसत ग्रेजुएट में 48.50 और शिक्षक में 72.50 रहा है।

वर्ष 2014 पर भारी पड़ा कोरोना काल का चुनाव

वर्ष 2014 में बिहार विधान परिषद शिक्षक स्नातक निर्वाचन में हालात सामान्य रहा लेकिन इसके बाद भी कोरोना काल का चुनाव भारी पड़ा है। वर्ष 2014 में ग्रेजुएट निर्वाचन में 48.50 प्रतिशत औसत मतदान हुआ था जबकि कोरोना काल में मुश्किलों के साथ हुए चुनाव में भी औसत मतदान का प्रतिशत भी 48.50 रहा। वहीं शिक्षक निर्वाचन में वर्ष 2014 में मतदान का प्रतिशत 64 प्रतिशत रहा जबकि कोरोना काल में मतदान में 72.50 प्रतिशत औसत मतदान हुआ है।

स्नातक निर्वाचन में 59 प्रत्याशियों का भाग्य बाक्स में बंद

स्नातक निर्वाचन में 59 प्रत्याशियों का भाग्य गुरुवार को बाक्स में बंद हो गया है। स्नातक निर्वाचन में दरभंगा स्नातक, तिरहुत स्नातक, कोसी स्नातक में कुल 633 पोलिंग स्टेशन बनाए गए थे। यहां कुल 407889 मतदाताओं की संख्या है जिसमें 307363 पुरुष और 100480 महिला व 46 थर्ड जेंडर मतदाता हैं।
शिक्षक निर्वाचन में 43 प्रत्याशियों के भाग्य बाक्स में बंद

शिक्षक निर्वाचन में कुल 43 प्रत्याशियों का भाग्य बाक्स में बंद हो गया है। गुरुवार देर शाम बाक्स को स्ट्रांग रूम में बंद हो गया। शिक्षक निर्वाचन में पटना शिक्षक,दरभंगा शिक्षक, तिरहुत शिक्षक और सारण में हुआ। यहां 40415 मतदाताओं में 31694 पुरुष और 8715 महिला व 4 थर्ड जेंडर मतदाता शामिल हैं। इसके लिए 340 पोलिंग स्टेशन पूरे प्रदेश में बनाए गए थे।

न वोटर आए न कोई शिकायत

निर्वाचन कार्यालय में दोपहर 4 बजे तक कोई शिकायत नहीं मिली थी। निर्वाचन कार्यालय का कहना है कि न तो कोई सामान्य शिकायत आई है और ना ही कोई गंभीर। पटना के प्रमडलीय आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल और डीएम पटना कुमार रवि ने बताया कि सुबह 8 बजे से मतदान प्रारंभ है, वोटरों की संख्या काफी कम है। सुरक्षा को लेकर पूरा ध्यान दिया जा रहा है। मतदाताओं से अपील भी की जा रही है कि वह वोटिंग के लिए आएं कोरोना का कोई खतरा नहीं है। वोटिंग का काम पूरी तरह से सुरक्षा के साथ किया जा रहा है।

मॉडल बूथ की बत्ती हुई गुल

पटना के नाट्रेडम हाई स्कूल दीघा बूथ संख्या 22 पर लोग मतदान करने के लिए धीरे-धीरे पहुंच रहे हैं। वहीं कोरोना से बचने के लिए पुलिसकर्मियों को फेस शील्ड दी गई है। लेकिन वो इसका प्रयोग नहीं कर रहे हैं। मतदाताओं को मास्क और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना अनिवार्य है। लेकिन कई मतदाता लापरवाही बरतते दिख रहे हैं। वे बार- बार मास्क को छूते-हटाते नजर आ रहे हैं। यहां पहले वोट में 14 मिनट लगा। इस मॉडल बूथ की बत्ती कुछ देर के लिए गुल हो गई। लोग मोबाइल की फ्लैश लाइट में वोट डालते दिखे।

मॉडल बूथ की बत्ती कुछ देर के लिए गुल हो गई। लोग मोबाइल की फ्लैश लाइट में वोट डालते दिखे।
मॉडल बूथ की बत्ती कुछ देर के लिए गुल हो गई। लोग मोबाइल की फ्लैश लाइट में वोट डालते दिखे।

आज बिहार विधान परिषद की 8 सीटों के लिए चुनाव हो रहा है। कोरोना काल में ये पहला चुनाव है जिसमें वोटर घर से निकलकर मतदान कर रहे हैं। 4 स्नातक और 4 शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र के लिए चुनाव हो रहे हैं। विधानसभा से पहले विधान परिषद का चुनाव वोटरों के लिए ट्रेलर की तरह है। इस चुनाव में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं। पटना के दीघा स्थित नाट्रेडम हाई स्कूल बूथ पर पहले वोट में 14 मिनट लगा। इस मॉडल बूथ की बत्ती कुछ देर के लिए गुल हो गई।

मतदान केंद्र के बाहर बना गोल घेरा।
मतदान केंद्र के बाहर बना गोल घेरा।

चुनाव आयोग के लिए ये चुनाव ट्रायल भी है। विधान परिषद का चुनाव छोटे स्तर पर होता है, इसमें वोटर सीमित होते हैं। ऐसे में चुनाव आयोग के सामने ये चुनौती होगी कि इस चुनाव को कोरोना के लिहाज से कितना सुरक्षित कराया जाता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- यह समय विवेक और चतुराई से काम लेने का है। आपके पिछले कुछ समय से रुके हुए व अटके हुए काम पूरे होंगे। संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी समस्या का भी समाधान निकलेगा। अगर कोई वाहन खरीदने क...

और पढ़ें