• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Waterlogging Problems In Sasaram; Waterlogging Due To Kaimur River; Bihar Bhaskar Latest News

सासाराम में जलजमाव से परेशान हुए लोग:कैमूर पहाड़ी से आए पानी से डूबा सासाराम शहर का पूर्वी भाग, सैकड़ों घर जलमग्न, घरों से निकलना भी हुआ मुश्किल

रोहतास9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मोहल्लों में घुसा पानी। - Dainik Bhaskar
मोहल्लों में घुसा पानी।

जिला मुख्यालय सासाराम भयंकर जलजमाव की समस्या का सामना कर रहा है। परंतु सबसे विषम स्थिति शहर के पूर्वी क्षेत्र की है। जहां पीछले दो दिनों से आ रहे कैमूर पहाड़ी के पानी से जल स्तर बढ़ता जा रहा है। कई मोहल्लें कमर तक पानी में डूब गए हैं। समस्या यह है कि पानी के आने का क्रम जारी है, परंतु पानी निकासी की व्यवस्था नगर निगम नहीं कर पा रहा है।

पानी की वजह से फंसी गाड़ी।
पानी की वजह से फंसी गाड़ी।

टापू की तरह नजर आ रहे मोहल्ले

वार्ड नंबर 34 न्यू एरिया, गायत्री नगर, बौलिया, माइको, पंचशील कॉलोनी समेत कई मुहल्लों में जलजमाव बढ़ते जा रहा है। जीटी रोड दक्षिण बसे कई नये कॉलोनी भी जलजमाव की चपेट में हैं। एसपी जैन कॉलेज जाने वाली सड़क पर पहाड़ से आने वाला पानी सड़क पार कर इन मुहल्लों में आ रहा है। सबसे विभत्स स्थिति न्यू एरिया, पंचशील, डिलियां व माइको मुहल्ला की हैं जो इन दिनों तो पूरी तरह से बाढ़ में घिरे टापू की तरह नजर आ रहे हैं।

पहाड़ी तालाब लबालब होने से बढ़ी है समस्या
शहर का पूर्वी भाग के कई मुहल्ले कैमूर पहाड़ी के निचले हिस्से में बसे हैं। पहाड़ी से बरसात में आने वाले जल को संग्रहित करने के लिए कई बड़े-बड़े तालाब बने हुए हैं। लेकिन इस वर्ष लगातार हो रही बारिश से ये तालाब लबा-लबा भर गए है। अब जो पानी पहाड़ी से आ रहा है वो तालाब के ओवर फ्लो के कारण इन मुहल्लों में लगतार आ रहा है, जिससे स्थिति विषम होती जा रही है।

वार्ड 34 के पूर्व पार्षद अतेंद्र सिंह कहते हैं कि पीछले दो दिन से पहाड़ से लगातार पानी आने से हालत बिगड़ गई है। कहा कि नगर परिषद द्वारा कच्चा नाला खोद समस्या का तत्कालीन समाधान का प्रयास भी अपर्याप्त साबित हो रहा है। जितना पानी आ रहा है उसके अनुपात में बहुत कम पानी निकल पा रहा है।

खबरें और भी हैं...