पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

फसल नहीं उगाई:अतिवृष्टि से फसल क्षति का किसानों को मिलेगा मुआवजा, खेतों का होगा आकलन

अमनौर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • डीआरडीए निदेशक ने कहा कि प्रखण्ड के विभिन्न क्षेत्रों में अति वृष्टि के कारण कई खेतों में फसल नहीं उगाई गई

प्रखण्ड मुख्यालय के सामुदायिक सभागार में अतिवृष्टि के कारण हुए फसल क्षति का आकलन को लेकर एक बैठक हुई। इसकी अध्यक्षता बीडीओ मंजुल मनोहर मधुप ने की। जिसमें मुख्य रूप से डीआरडीए निदेशक जनार्दन अग्रवाल,सीओ मृत्युंजय कुमार,कृषि पदाधिकारी नवल किशोर सिंह,समेत सभी कृषि सलाहकार, आवास सहायक, राजस्व कर्मचारी शामिल थे।

डीआरडीए निदेशक ने कहा कि प्रखण्ड के विभिन्न क्षेत्रों में अति वृष्टि के कारण कई खेतों में फसल नहीं उगाई गई है। वहीं जहां फसल उगाई गई है वहां अधिक पानी लगने के कारण फसल नष्ट हो गई है।कुछ खेतों में पानी लगने के बाद पानी का निकासी होने से फसल बच जाते है। इस अनुसार फसल क्षति संबंधी सही आंकलन करने की आवश्यकता बताया। उन्होंने कहा कि वर्षा वृष्टि से किसान के हुए फसल क्षति या फसल नही बोई गई हो वैसे किसान को रिपोर्ट के अनुसार एनडीआरफ के नियमानुसार फसल की कम से कम 33 % क्षति होने पर उन्हें कृषि इनपुट अनुदान उपलब्ध कराई जा सकती है। उन्होंने कृषि पदाधिकारी को निर्देश दिया कि कम समय मे सर्वेक्षण की रिपोर्ट उपलब्ध कराई जाये। जिससे किसानों को मुआवजा समय पर दिया जा सके।

खबरें और भी हैं...