पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दुस्साहस:श्राद्ध भोज में डीजे के साथ लौंडा नाच को रोकने गई पुलिस पर पथराव, एसएचओ और तीन कर्मी घायल

अमनौरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लखना गांव में गुरुवार की रात मृत्यु भोज के दौरान डीजे के साथ लौंडा नृत्य कार्यक्रम चल रहा था। जो कोविड -19 व लॉकडाउन का उल्लंघन हो रहा था। सीओ सुशील कुमार के नेतृत्व में पुलिस पदाधिकारी वहां पहुंच कार्यक्रम पर रोक लगाई। घर वाले आक्रोशित होकर पुलिस पर टूट पड़े। पथराव करने लगे। जिससे थानाध्यक्ष समेत चार पुलिस कर्मी बुरी तरह घायल हो गए। पुलिस व सीओ की गाड़ी को भी क्षति ग्रस्त कर दी गई। किसी तरह अधिकारी वहां से जान बचाकर भागे। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर एसडीओ मढ़ाैरा बिनोद कुमार तिवारी,डीएसपी इंद्रजीत बैठा के साथ अमनौर तरैया भेल्दी मकेर पुलिस पहुंच छापेमारी किया। इस दौरान गांव पुलिस छावनी में तब्दील हो गई। घर वाले सभी फरार हो गए थे।

पुलिस छापेमारी कर पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया। डीजे का सामान जब्त कर लिया। घायल पुलिस कर्मियों का उपचार स्थानीय पीएचसी में कराई गई। घायलों में थाना अध्यक्ष सुजीत कुमार,सैफ के जवान सुदर्शन सिंह, राज किशोर शर्मा, राम नरेश सिंह बताए जाते है। घटना के संबंध में पुलिस का कहना है कि लखना गांव के शक्ल राय की मृत्यु के पश्चात इनके दमाद द्वारा मृत्यु भोज का आयोजन किया गया था। इस दौरान लौंडा नृत्य कराया जा रहा था। जहां लोगों की काफी संख्या में भीड़ एकत्र हुई थी।

आरोपी पर होगी कड़ी कार्रवाई
थानाध्यक्ष सुजीत कुमार ने बताया कि इस मामले में कड़ी कार्रवाई करते हुए 25 लोगों को नामजद तथा 30 अज्ञात के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कर लिया गया है। लखन गांव के अवधेश राय, गेरना मशरक निवासी मंगेश पण्डित,बिजेंद्र पंडित,रत्न पण्डित,रंजन पंडित को गिरफ्तार कर छपरा जेल भेजने की बात कही।

खबरें और भी हैं...