टेलीमेडिसिन महाअभियान चलाया:घर बैठे 1195 मरीजों ने टेलीमेडिसिन से कराया इलाज,

आराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

देश स्तर पर हेल्थ वैलनेस सेंटर की चौथी वर्षगांठ के मौके पर टेलीमेडिसिन महाअभियान चलाया गया। भोजपुर जिले में 20 सेंटरों पर 1195 मरीजों का इलाज किया गया। ई-संजीवनी ऐप के माध्यम से घर बैठे या प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र या उप केंद्र से कोई भी मरीज अपनी समस्या एएनएम के माध्यम से डॉक्टर को बता सकते हैं। महाभियान के दौरान टेलीमेडिसिन से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा मरीज के बताने पर डॉक्टर के द्वारा कौन-कौन सी बीमारी है, और उसका किस दवा से समाधान होगा की जानकारी देने के साथ क्या-क्या जरूरी उपाय करने हैं, इसकी जानकारी दी जा रही थी।

आवश्यकता पड़ने पर डॉक्टर के द्वारा दवा लिखा जा रहा था। दवा लिखे जाने के साथ ही एएनएम के पास मौजूद कंप्यूटर पर दवा की पर्ची निकलती थी। उसी पर्ची पर लिखे गए दवा को एएनएम और सीएचओ के द्वारा मरीज के बीच मुफ्त में वितरण किया जा रहा था। टेलीमेडिसिन के द्वारा इलाज कराने के लिए कुल 1340 मरीजों ने निबंधन कराया। इनमें से 1195 का इलाज किया गया।

145 मरीजों का नेटवर्किंग प्रॉब्लम हो जाने के कारण दवा नहीं लिखा जा सका। मौके पर सिविल सर्जन डॉ राम प्रीतसिंह, टेलीमेडिसिन के नोडल पदाधिकारी डॉ प्रवीण कुमार कर रहे थे। आवश्यकता पड़ने पर जरूरी सहयोग डीपीएम रवि रंजन कर रहे थे।टेलीमेडिसिन से इलाज करने के क्रम में पूरे राज्य में भोजपुर जिला सातवें रैंक पर आया है।

खबरें और भी हैं...