पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Ara
  • After Administrative Strictness, Smuggling Of Sand Was Curbed, But Illegal Mining Started Again On Surundha Island

अवैध बालू का खेल फिर शुरू:प्रशासनिक सख्ती के बाद बालू की तस्करी पर लगा था अंकुश, पर सुरौंधा टापू पर अवैध खनन फिर हुआ शुरू

आरा6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रशासनिक सख्ती के बाद अवैध बालू के तस्कर गिरोह और उसके सफेदपोश संरक्षक फिर से सक्रिय हुए

जिला प्रशासन की सख्ती के बाद कुछ दिनों से अवैध बालू उत्खनन और परिवहन पर अंकुश लगा है। अवैध वालू परिवहन के लिए कुख्यात आरा -छपरा फोरलेन और सकड्डी-नासरीगंज स्टेट हाईवे पर अब ओवरलोड गाड़ियां नगण्य दिखती हैंं। जिले में बालू खनन और ओवरलोडिंग इस कदर खुलेआम होने लगा था कि इसे रोकने के लिए डीएम रोशन कुशवाहा और एसपी राकेश कुमार दुबे को खुद सड़क पर छापेमारी के लिए उतरना पड़ा था। इस क्रम में कई दागदार पुलिसकर्मियों को सस्पेंड भी किया गया। इसके बाद से बालू उत्खनन और परिवहन अंकुश लगा हुआ है लेकिन कुछ दिन की प्रशासनिक सख्ती के बाद अवैध बालू के तस्कर गिरोह और उसके सफेदपोश संरक्षक फिर से सक्रिय हो गए हैं। अब फिर से नगर पंचायत कोईलवर के क्षेत्र में पड़ने वाले सुरौंधा टापू और सोन नदी में बालू का अवैध कारोबार शुरू हो गया है।

जिसमें खनन विभाग या क्षेत्र में पड़ने वाले थाना की संलिप्तता से इंकार नहीं किया जा सकता है। जिससे रोजाना लाखों रुपये अकेले भोजपुर जिला को राजस्व की क्षति हो रही है। यह स्थिति तब है जब प्रशासन का सख्त आदेश है कि किसी भी थाना क्षेत्र में अवैध उत्खनन और परिवहन नहीं होना चाहिए। जिस थाना क्षेत्र में अवैध बालू उत्खनन और परिवहन होगा; वहां के थानाध्यक्ष पर कार्रवाई होगी।

सुरौंधा टापू पर सैकड़ों नावें पहुंच रहीं अवैध बालू खनन के लिए
कोईलवर थाना क्षेत्र के वार्ड नंबर-3 और 5 के सामने सोन नदी व सुरौधा टापू पर नदी के रास्ते रोजाना सैकड़ों नाव बालू उत्खनन के लिए पहुंच रही है। जहां दर्जनों पोकलेन मशीन इस ऐतिहासिक धरोहर को बर्बाद करने में जुट गया है। जिससे हरा-भरा, खूबसूरत व आइलैंड दिखने वाला सुरौधा टापू पर संकट घिर गया है।

अवैध बालू खनन के लिए इलाके में कई जगहों पर छिपाकर रखे गए हैं दर्जनों पोकलेन मशीन
दैनिक भास्कर में लगातार छपने के बाद पुलिस और प्रशासन ने छापेमारी कर दो दर्जन से ज्यादा मजदूर, नाविक को गिरफ्तार किया था। एक पोकलेन मशीन भी जब्त की गयी थी। करीब एक पखव्रारा बाद फिर से सोन नदी में बालू का अवैध उत्खनन शुरू हो गया है। सोन नदी के जलस्तर में वृद्धि होने के साथ नदी के रास्ते सैकडों सुरौंधा टापू और नये सिक्सलेन पुल के समीप पहुंचना शुरू कर दिए है। जिस पर बालू लोड कर डोरीगंज, सोनपुर, पटना, हाजीपुर समेत कई जगहों पर ले जा रहे है। क्योंकि की तीन जिलों के 85 घाट को बंद किये जाने से बालू की मुंहमांगी कीमत मिल रही है।

खबरें और भी हैं...