शहीद के परिवार को किया गया सम्मानित:अमृत महोत्सव कार्यक्रम }एसबी कॉलेज में वक्ताओं ने कहा कि जवानों का शहादत बेकार नहीं जाएगा

आरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आजादी के 75 वर्ष पूरे होने पर एनसीसी की तरफ से एसबी कॉलेज में अमृत महोत्सव कार्यक्रम किया गया। जिसमें देश के विभिन्न कोने-कोने से शहीद हुए सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। जिले के वीर सपूत शहीद जालिम सिंह की पत्नी जलकी देवी एवं उनके परिजनों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का नेतृत्व 5- बिहार बटालियन के कमान अधिकारी मनीष कुमार ने किया।

उन्होंने बताया कि जालिम सिंह ने वर्ष 1984 में जम्मू एवं कश्मीर प्रांत के जवाहर सुरंग में भारी हिमस्खलन और बर्फबारी के समय 3 लोगों की जान बचाई और काम करने के दौरान अदम्य साहस का परिचय दिया जिसके लिए उन्हें पहली बार शौर्य चक्र दिया गया था। वर्ष 2008 में उत्तर सिक्किम में भूस्खलन में सैन्य टुकड़ियों की आवाजाही के लिए सुचारू व्यवस्था करने के लिए रास्ते को मशीन से क्लियर करने के दौरान गिरते पत्थर की चपेट में आने से घायल होते हुए भी वीरगति को प्राप्त हो गए हैं। जिसके लिए उन्हें वर्ष 2009 में मरणोपरांत दूसरी बार शौर्य चक्र दिया गया।

उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम का सीधा प्रसारण गैलेट्री अवार्ड पोर्टल पर किया गया था। इसके बाद यूट्यूब और अन्य माध्यमों से प्रसारित किया गया।कार्यक्रम में विभिन्न विद्यालय एवं महाविद्यालय के 150 एनसीसी कैडेट शामिल हुए। सम्मान समारोह में प्रशासनिक अधिकारी कर्नल सत्यानंद ठाकुर,एनसीसी पदाधिकारी चंदन यादव, पूर्ति माहौर, सूबेदार मेजर रामनिवास सिंह व सूबेदार जेपी सिंह सहित अन्य शामिल थे।

खबरें और भी हैं...