पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

चुनावी मुद्दा:विकास से काेसाें दूर हैं कोईलवर प्रखंड के दोनों विधानसभा क्षेत्र

आरा5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सड़काें पर जाम ही बन गई है कोईलवर क्षेत्र की पहचान
  • सड़क के लिए नगर का इकलौता प्लस टू विद्यालय भी कर किया गया जमींदोज

कोईलवर की पहचान सिर्फ जाम के रूप में जाना जाता है। एक दशक पहले जैसा ही कोईलवर है। प्रखंड में दो विधानसभा क्षेत्र है। जिनमें एक आरा-पटना एनएच-30 के दक्षिण में जो संदेश विधान जिसमें नगर पंचायत कोईलवर भी है व दूसरा उत्तर जो बड़हरा विधानसभा का क्षेत्र आता है।

प्रखंड के अंतर्गत संदेश विधानसभा में नगर पंचायत कोईलवर समेत धन्डीहा, कुल्हड़िया, सकड्डी, भदवर, नरवीरपुर, गोपालपुर, खनगांव, जलपुरा व जोगता है। वहीं बड़हरा विधानसभा में चंदा, दौलतपुर, राजापुर, मथुरापुर, खेसरहिया, बीरमपुर, गीधा, कायमनगर है। प्रखंड में 17 पंचायत है। जिसमें दोनों विधानसभा के 206 मतदान केंद्र हैं।

यूं कहें तो पूर्व में सोन नद से घिरा कोईलवर का विकास नहीं हुआ। हालांकि सोन नद पर पुराने रेल सह रोड पुल के समांतर फोरलेन पुल के एक लेन का निर्माण कराया जा रहा है। जिसका एक लेन तैयार हो गया है लेकिन आदर्श आचार संहिता के कारण उद्घाटन की राह देख रहा है। जिस पुल के लिए 65 साल पुराना नगर पंचायत का इकलौता तारा मणि भगवान साव प्लस टू विद्यालय को अधिग्रहण कर जमींदोज कर दिया गया। जिससे उसमें पढ़ने वाले 1500 छात्रों के साथ क्रूर मजाक किया गया।
नगर पंचायत में है बिहार का इकलौता मानसिक आरोग्यशाला

नगर पंचायत में बिहार का इकलौता मानसिक आरोग्यशाला है। लेकिन दो-दो विधानसभा के विधायक इसकी सुधि तक नहीं लेने पहुंचे है। जिस कारण मानसिक आरोग्यशाला में सुविधाओं का अभाव है। हालांकि सांसद महोदय पिछले कार्यकाल के दौरान मेडिकल कॉलेज, इंजीनियरिंग कॉलेज को लेकर कई बार दौरा कर चुके थे।

जिसे बनाने के बनाने के लिए ब्लूप्रिंट तैयार हो गया था। लेकिन ना ही इंजीनियरिंग कॉलेज बना ना ही मेडिकल कॉलेज की नींव पड़ी। जबकि मानसिक आरोग्यशाला परिसर में स्वास्थ्य विभाग की अब भी एक सौ एकड़ से ज्यादा जमीन उपलब्ध है। वहीं कोईलवर में ब्रिटिश काल का 1937 में बना प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र अभी भी वही हाल है। जबकि इसके साथ अस्तित्व में आये कई अस्पताल सीएससी से रेफरल तक बन गए है।

बबुरा में आरा-छपरा नये पुल बन जाने से इस पीएचसी का महत्व और बढ़ गया है। लेकिन सुविधाओं के मामले में यह फिसड्डी साबित हो रहा। लोग बताते है सोन नद के तट जहां जुहू चौपाटी के रूप में विख्यात होना चाहिए। बिंदगावां में सोन, गंगा व सरयू का संगम स्थल पर्यटक स्थल के रूप में विख्यात होता तो विकास कहते लेकिन इस क्षेत्र और विकास से विधायक, सांसद, नेता, मंत्री को कोई मतलब नहीं लगता।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप सभी कार्यों को बेहतरीन तरीके से पूरा करने में सक्षम रहेंगे। आप की दबी हुई कोई प्रतिभा लोगों के समक्ष उजागर होगी। जिससे आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा तथा मान-सम्मान में भी वृद्धि होगी। घर की सुख-स...

और पढ़ें