वोटिंग आज:बड़हरा की 22 पंचायतों में जनता मालिक आज दिखाएगी दम, सुबह 7 बजे से वोटिंग

आरा/बड़हराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश और बिहार की सीमा से सटे बड़हरा प्रखंड क्षेत्र में 194723 वोटर आज 2374 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करने के लिए मतदान करेंगे। इन वोटरों में 1,04460 पुरुष वोटर, 90255 महिला मतदाता तथा थर्ड जेंडर के 8 मतदाता शामिल हैं। मतदान सुबह 7 बजे से प्रारंभ हो जाएगा। प्रखंड क्षेत्र के 22 पंचायत में मुखिया, सरपंच, पंचायत समिति सदस्य, वार्ड सदस्य और पंच पद के लिए 2339 प्रत्याशी खड़े हैं।

वही जिला परिषद के 3 पद के लिए कुल 35 प्रत्याशी चुनाव मैदान में अपना - अपना भाग्य आजमा रहे हैं। 2 राज्यों की सीमा एक साथ मिलने के साथ बीच में गंगा नदी होने के कारण यहां शांतिपूर्ण चुनाव कराना प्रशासन के लिए चुनौती है। मतदान के दौरान किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए प्रशासन के द्वारा एक दर्जन नाव की व्यवस्था विशेष तौर से की गई है।

शांतिपूर्ण मतदान के लिए जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन के द्वारा सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। गंगा पार खवासपुर पंचायत होने के कारण वहां के लिए विशेष व्यवस्था करते हुए अलग-अलग मजिस्ट्रेट व पुलिस अफसरों की तैनाती की गई है। पूरे प्रखंड क्षेत्र में कुल 238 मजिस्ट्रेट व पुलिस अफसर तैनात किए गए हैं। प्रत्येक पंचायत के लिए 22 कलस्ट्रल का निर्धारण करते हुए कलस्ट्रल पदाधिकारी और पुलिस पदाधिकारी तैनात किए गए हैं। इसके साथ ही एक पंचायत पर 3 सेक्टर मजिस्ट्रेट और पुलिस पदाधिकारी तैनात किए है।

दो पंचायत पर जोनल मजिस्ट्रेट, सुपर जोनल मजिस्ट्रेट तथा तीन पंचायत पर सुपर जोनल मजिस्ट्रेट और पुलिस अफसर को तैनात किया गया है इस प्रकार पूरे प्रखंड क्षेत्र शांतिपूर्ण मतदान के लिए 238 मजिस्ट्रेट और पुलिस अफसर के साथ सैकड़ों पुलिस के जवान लगाए गए हैं।

सुपर जोनल मजिस्ट्रेट के रूप में वरीय अफसरों में शामिल डीडीसी हरि नारायण पासवान, एडीएम कुमार मंगलम, डीआरडीए के डायरेक्टर सुनील कुमार पांडे, जगदीशपुर और पीरो के एसडीओ समेत कई अफसरों को तैनात किया गया है। बड़हरा की भौगोलिक स्थिति और अति संवेदनशील प्रखंड होने के कारण यहां के अधिकांश जोनल मजिस्ट्रेट, प्रखंड और अंचल के प्रखंड विकास पदाधिकारी तथा अंचलाधिकारी को बनाया गया है।

प्रशासन की खवासपुर पंचायत पर विशेष फोकस
बड़हरा प्रखंड क्षेत्र के गंगा पार खवासपुर पंचायत में शांतिपूर्ण मतदान के लिए प्रशासन विशेष चौकसी बरत रहा है। इस पंचायत के लिए ही विशेष रूप से सेक्टर मजिस्ट्रेट, जोनल मजिस्ट्रेट और सुपर जोनल मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है। इसके साथ ही आवागमन के लिए आधा दर्जन नाव की व्यवस्था की गई है।

खबरें और भी हैं...