• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Ara
  • In Order To Make Education Enjoyable And Quality, During The Bandh, Middle School KaziChak Was Decorated With Paintings.

स्कूलों की सूरत बदली:शिक्षा को आनंददायी व गुणवत्तापूर्ण बनाने के लिए बंद के दौरान मध्य विद्यालय काजीचक को पेंटिंग से सजाया गया

कोईलवरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • बच्चों की सुविधाओं को ध्यान में रखकर कई कार्य करवाए गए, शुद्ध पेयजल की भी व्यवस्था हुई

लॉकडाउन के कारण सभी विद्यालय में पठन पाठन बंद है। ऐसे में कोईलवर प्रखण्ड में एक ऐसा विद्यालय है। जहां बच्चों को गुणवत्तापूर्ण व शिक्षण को आनंददायी बनाने के उद्देश्य से अनवरत प्रयास जारी है। मध्य विद्यालय काजीचक सह उच्च माध्यमिक विद्यालय काजीचक, पंचायत चंदा, कोईलवर के प्रधानाध्यापक डा. दयाशंकर प्रसाद, वरीय शिक्षक राजाराम सिंह ‘प्रियदर्शी’ ने बताया कि विद्यालय में शुद्ध पेयजल, बच्चों को हाथ धोने के लिए पर्याप्त नल, बैठने के लिए बेंच-डेस्क, बालक और बालिकाओं के लिए अलग-अलग शौचालय एवं यूरिनल, कक्षा एक और दो के छोटे विद्यार्थियों के लिए आनंददायी कक्ष पाठशाला को बेहतर तरीके से पेंटिंग के साथ सजाया गया है।

जिसमें बच्चे आसानी से चित्र के माध्यम से आकर्षित पठन पाठन कर सीखेंगे। वहीं दूसरी तरफ कक्षा 9 व 10 के लिए उन्नयन, स्मार्ट क्लास का निर्माण कराया गया है। जहां विद्यार्थी टीवी के माध्यम से शिक्षण प्राप्त करेंगे। मालूूूम हो कि बिहार सरकार, शिक्षा विभाग की प्रत्येक पंचायत में एक उच्च विद्यालय खोलने की योजना के तहत कोईलवर प्रखंड के चंदा पंचायत अंतर्गत मध्य विद्यालय काजीचक को उच्च माध्यमिक विद्यालय में अपग्रेड किया गया है। विद्यालय के प्रधानाध्यापक डा.दयाशंकर प्रसाद ने बताया कि शैक्षणिक सत्र 2020-21 में कक्षा 9 के बच्चों का नामांकन प्रारंभ हो गया है।

जिसमें पंचायत के मध्य विद्यालय पचैना बाजार, नया हरिपुर, पुराना हरिपुर के आठवीं कक्षा उत्तीर्ण विद्यार्थी अपना नामांकन कराकर शिक्षा ग्रहण करेंगे। साथ ही बताया कि शिक्षा विभाग द्वारा जारी नामांकन पखवाड़ा 1 जुलाई से 15 जुलाई 2020 के तहत अनामांकित बच्चे, छिजित बच्चे, गांव में आये हुए प्रवासी बच्चों के नामांकन हेतु विद्यालय के पोषक क्षेत्र में शिक्षकों द्वारा सर्वे का कार्य चल रहा है। और उनका नामांकन भी चल रहा है। ज्याें ही वैश्विक महामारी कोरोना से स्थिति समान्य होगी, शिक्षा विभाग के द्वारा जारी आदेश का अनुपालन करते हुए शैक्षणिक गतिविधियां प्रारंभ कर दी जायेगी।

खबरें और भी हैं...