ज्ञापन सौंपा:भोजपुरी पेंटिंग के संरक्षण और डीआरएम से सहयोग कराने के लिए दिया ज्ञापन

आरा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भोजपुरी पेंटिंग के संरक्षण और दानापुर डीआरएम से विशेष सहयोग कराने के लिए परामर्शदात्री समिति के सदस्य को आरा रेलवे स्टेशन परिसर में ज्ञापन दिया गया। ज्ञापन भोजपुरी कला संरक्षण मोर्चा के शिष्टमंडल द्वारा सदस्य सौरभ तिवारी को सौंपा गया। मौके पर मोर्चा के संयोजक भास्कर मिश्र ने कहा की भोजपुरी पेंटिंग हमारी पारंपरिक सांस्कृतिक विरासत का एक महत्वपूर्ण अंग है।

इसके प्रसार से नई पीढ़ी को अपनी परंपरा और संस्कृति का ज्ञान होगा और उसपर उन्हें गर्व होगा। उपसंयोजक सह वरिष्ठ चित्रकार विजय मेहता ने कहा कि हमारी पेंटिंग का सौंदर्य अन्य किसी भी लोककला से कमतर नहीं है।बल्कि हमारी पेंटिंग को देखकर लोगों का अंतर्मन आनंदित होता है। कोषाध्यक्ष सह वरिष्ठ चित्रकार कमलेश कुंदन ने पेंटिंग की बारीकियों से अवगत कराते हुए कहा कि भोजपुरी पेंटिंग बहुत जल्द राष्ट्रीय क्षितिज पर अपनी विशेष पहचान बनाएगा।

वरिष्ठ चित्रकार रौशन राय, सुरेश पांडेय, विजय मेहता, कमलेश कुंदन, निक्की कुमारी, शालिनी कुमारी और रूपा कुमारी द्वारा आरा रेलवे स्टेशन पर भव्य भोजपुरी पेंटिंग बनाया गया है। उसकी भव्यता और उत्कृष्टता देखकर माननीय सदस्य पूर्व मध्य रेलवे आश्चर्यचकित रह गए। वरिष्ठ रंगकर्मी ओपी पांडेय ने कहा कि सौरभ तिवारी जैसे सकारात्मक युवा से भोजपुरिया क्षेत्र के लोगों को बहुत सारी अपेक्षाएं हैं।मुझे पूरा विश्वास है कि इनके पहल से भोजपुरी पेंटिंग को नया मुकाम हासिल होगा। ज्ञापन देने के दौरान स्टेशन प्रबंधक प्रवीण कुमार चित्रकार रोशन राय गायक नागेंद्र पांडे और शुभम कुमार समेत कई लोग मौजूद थे।

भोजपुरिया क्षेत्र के सभी रेलवे स्टेशन व लोकल-एक्सप्रेस ट्रेनों में पेंटिंग लगवाने का होगा प्रयास : दानापुर रेलवे बोर्ड में शामिल परामर्शदात्री समिति के सदस्य सौरभ तिवारी ने कहा कि मेरे लिए यह हर्ष की बात है कि भोजपुरी पेंटिंग आरा रेलवे स्टेशन पर अंकित किया गया है। मेरा यह प्रयास होगा कि न केवल भोजपुरिया क्षेत्र के स्टेशनों पर बल्कि इन स्टेशनों से प्रारंभ होने वाले सभी लोकल और एक्सप्रेस ट्रेनों में दर्शनीय भोजपुरी पेंटिंग का अंकन हो। इससे स्थानीय लोगों के अलावा देश-विदेश से आनेवाले भी इस समृद्ध सांस्कृतिक विरासत से परिचित हो सके।

खबरें और भी हैं...