पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कोरोना इफेक्ट:नवरात्र आज से, पर कोरोना के कारण बाजार शांत

आरा3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बाजार में खरीदारी करते इक्के-इुक्के लोग।
  • ग्राहकों में नहीं दिखा दिख रहा त्योहारों को लेकर उत्साह, दुकानदारों को घाटे का अंदेशा

कोरोना महामारी का असर पूरे पर्व-त्योहार पर दिख रहा है। शनिवार से शारदीय नवरात्र शुरू है। शहर में कही भी पंडाल लगाकर भव्य दुर्गा पूजा नही किया जा रहा है। लोग अपने घर में ही कलश व मिट्टी की बनी मां दुर्गा की मूर्ति रखकर पूजा कर रहे है। कोरोना का असर बाजार पर पड़ा है। पिछले साल की अपेक्षा बाजार में कुछ खास चहल पहल नही रही। शुक्रवार को पूजा की सामग्री खरीदने को लेकर दुकानों पर न के बराबर भीड़ थी। बाजार में चहलकदमी भी कम रही। दुकानदार अपना प्रतिष्ठान खोलकर ग्राहक का इंतजार कर रहे थे। परन्तु एक दो लोग ही पूजा की सामग्री खरीदने के लिए आए। ऐसा ही हाल शहर के तमाम दुकानदारों का रहा। मां आरण्य देवी मंदिर के समीप जलपुरा स्टोर के प्रोपराइटर राहुल कुमार ने बताया कि पिछले साल की अपेक्षा इस बार न के बराबर ग्राहक आए है। सुबह में दुकान खोलते है और शाम में एक दो ग्राहक के आने के बाद दुकान बढ़ा देते है। जिला प्रशासन इस बार दुर्गा पूजा करने का आदेश जारी कर देता तो मार्केट कुछ अच्छा रहता। लेकिन ऐसा कुछ हुआ नही। श्रृंगार दुकानदार रोहित कुमार ने कहा कि एक तो छह महीने से लॉक डाउन के दंश झेले है। उम्मीद था कि दुर्गा पूजा में कुछ कमाई हो जाए। लेकिन सरकार के द्वारा सही निर्णय नही लिया गया है। गुप्ता मनिहारी, गणेश प्रसाद, केशरी मनिहारी, जीतू केशरी ने कहा कि दुर्गा पूजा में हमलोग इतना कमा लेते थे कि तीन माह तक हमलोगों का घर आराम से चल जाता था। अब भगवान जाने क्या होगा।

नवरात्र के पहले दिन मां शैलपुत्री की पूजा होगी
शारदीय नवरात्र आज से शुरू हो चुका है। पहले दिन मां शैलपुत्री की पूजा की जाती है। महावीर मंदिर के पुजारी सुमन बाबा ने बताया कि सूर्योदय के बाद समय में कलश स्थापना कर सकते हैं इससे पहले भगवान गणेश की पूजा कलश पूजा इसके बाद मां शैलपुत्री की पूजा की जाएगी। मां शैलपुत्री को सफेद चीजों का भोग लगाया जाता है और अगर यह गाय के घी में बनी हों तो व्यक्ति को रोगों से मुक्ति मिलती है और हर तरह की बीमारी दूर होती है।

दुकानदारों के चेहरे खरीदारी होने से मायूस

इस मसले पर जब एक्सपर्ट से बात की गई तो कई बात सामने आई। प्रेम पंकज उर्फ ललन जी ने बताया कि दुर्गा पूजा में कपड़ा व्यापारियों को काफी नुकसान हुआ है। दुर्गा पूजा में लोग कपड़ों की खरीदारी करते हैं। लेकिन इस बार ज्यादा खरीदारी नहीं हुआ है। इसके अलावा पंडाल, टेंट, लाइट एंड साउंड से जुड़े लाखों लोगों को आर्थिक क्षति उठाना पड़ा है। इस बार के सीजन में शादी-विवाह भी नहीं हुआ है। दुर्गा पूजा दीपावली और छठ में लोग कुछ न कुछ खरीदारी करते हैं। इसी तीन त्योहार में व्यापारी की साल भर की कमाई होती है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का प्रोग्राम बन सकता है। साथ ही आराम तथा आमोद-प्रमोद संबंधी कार्यक्रमों में भी समय व्यतीत होगा। संतान को कोई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी भरा माहौल ...

और पढ़ें