ओवरलोड बालू:छपरा में नो इंट्री, दूसरी ओर पटना ने सिक्सलेन पर 150 ट्रक भेजे, नतीजा- भोजपुर में महाजाम

कोईलवर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सोमवार को छपरा में ट्रकों की नो-इंट्री को लेकर इसका असर कोईलवर में भी देखने को मिला। जिससे कोईलवर के तीन-तीन हाइवे समेत लिंक रोड भी 15 घंटा से जाम रहा। इधर कोईलवर पुल के पूरबी छोर से बिहटा तक जाम होने के कारण बिहटा पुलिस पुराने पुल में फिर से 130 भारी और मालवाहक वाहनो को प्रवेश करा दिया। वहीं, नये सिक्सलेन पुल पर नो-इंट्री में पटना की ओर से आरा की तरफ लगभग 150 ट्रकों को भेज

दिया। जाम के कारण ओवरलोड बालू वाले ट्रक नये सिक्सलेन पर खड़ी हो गयी। जिससे दोनों पुल पर दस दिनों बाद फिर से भारी वाहनों के एक जगह खड़े होने के कारण डेडलोड बढ़ गया। छपरा में नो-इंट्री को लेकर सारण जिले के डोरीगंज से लेकर कोईलवर पुल तक ट्रकों की लंबी लाइन लगी हुई है। जाम में खड़े ट्रक चालक छपरा में नो-इंट्री खुलने का इंतजार करते देखे गए।

आरा-छपरा फोरलेन, आरा-पटना एनएच-30, सकड्डी-नासरीगंज स्टेट हाइवे की स्थिति ऐसी हो गयी है कि छपरा की तरफ जाने के लिए बालू लोड ट्रक एक लेन में खड़ी है। वहीं, कोईलवर पुराने पुल, नये सिक्सलेन पुल से नगर होते झलकुनगर जाने वाले लिंक रोड पर दोनों लेन में बालू ट्रकों लंबी कतार लगी है। समाचार लिखे जाने सोमवार रात्रि 8 बजे तक हजारों ट्रकें जस की तस खड़ी हैं।

खबरें और भी हैं...