पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टीके का टोटा:13 प्रखंडों में वैक्सीनेशन नहीं; आरा शहर में टीका खत्म, लोगों ने किया हंगामा व प्रदर्शन

आराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पहले टीकाकरण में लोग नहीं दिखा रहे थे रुचि, अब वैक्सीन की कमी

कोरोना संक्रमण काल में बिहार सरकार द्वारा बुधवार से घोषित अनलॉक 4 का पहला दिन भोजपुर जिले के लिए अच्छा नहीं रहा। जिले में 14 प्रखंड हैं। जिनमें 13 प्रखंड में कोरोनावायरस से बचाव के लिए वैक्सीन उपलब्ध नहीं थी। इस वजह से कोविड-19 के लिए बनाए गए सेंटर्स पर वैक्सीन लेने आए इच्छुक लोगों को बिना टीकाकरण कराए लौटना पड़ा। इनमें पहली और दूसरी डोज लेने वाले दोनों तरह के लोग शामिल थे। लगातार वैक्सीन

कम आने के कारण किसी न किसी वैक्सीन सेंटर पर हंगामा हो रहा है। बुधवार को शहरी इलाके के छह वैक्सीनेशन सेंटर और कोईलवर, बिहिया, बड़हरा, जगदीशपुर सहित 14 प्रखंडों में दुसरे दिन भी वैक्सीनेशन नहीं हुआ। ग्रामीण इलाकों में गुरुवार को सभी संेटर पर वैक्सीनेशन होगा। शहरी इलाकों के छह सेंटर पर 672 लोगों को कोरोनारोधी टीका दिया गया।

टीकाकरण केंद्रों पर घंटों इंतजार करने के बाद भी कई लोगों को नहीं लग सका टीका

सदर पीएचसी में भी लटका रहा ताला | सदर पीएचसी के वैक्सीन सेंटर पर भी ताला लटका रहा। कई लोग सदर पीएचसी में सुबह से आ रहे थे और स्वास्थ्यकर्मियों से पुछकर लोग वैक्सीन नही आएगा सुनकर वापस घर लौट जा रहे थे। इधर सदर पीएचसी के चिकित्सा पदाधिकारी डा पीेके रमण ने बताया कि वैक्सीन कम आने के कारण लोगों का सदर पीएचसी में वैक्सीनेशन नहीं हो सका।

शहरी इलाकों के छह सेंटर पर 911 लोगों को दिया कोरोनारोधी टीका

शहर के लावारिस सेवा केन्द्र, सांस्कृतिक भवन,अतरिक्त स्वास्थ्य केन्द्र मौलाबाग, धरहरा, गौसगंज व अनाईठ सेंटर पर ही वैक्सीनेशन हुआ। सुबह से ही लावारिस सेवा केन्द्र व सांस्कृतिक भवन सहित सभी छह सेंटर पर लाेगों की भीड़ लगी हुई थी। लावारिस सेवा केन्द्र वैक्सीन सेंटर पर दोपहर तक वैक्सीन समाप्त हो गया था लेकिन वैक्सीन के इंतजार में 70 वर्षीय बुजुर्ग हरेराम सिंह, शीतल टोला निवासी रामाज्ञा प्रसाद ने बताया कि एक घंटे में ही वैक्सीन यहां समाप्त हो गया।

40 डोज वैक्सीन थी, लगवाने के लिए पहुंचे गए सौ से अधिक लोग

इधर बुधवार को दोपहर में उस समय शहर के सांस्कृतिक भवन में हंगामा लोगों ने कर दिया जब 100 से ऊपर की संख्या में लोग कतार में खड़े थे और वैक्सीन सिर्फ 40 डोज था। स्वास्थ्यकर्मियों ने निवेदन किया है कि 40 लोगों को ही डोज दिया जा सकेगा इसपर लोग आक्रोशित हो गए और हंगामा करने लगे। वैक्सीनेशन सेंटर पर ज्यादा संख्या में महिलाएं थी जो इस उमस भरी गर्मी में पसीने से तर-बतर होकर वैक्सीन लेने के लिए कतार में खड़ी थी। मौके पर आक्रोशित लोगों ने स्वास्थ्य विभाग हाय-हाय के नारे भी लगाए। कुछ देर तक तो स्वास्थ्यकर्मियों का घेराव कर उन्हे वैक्सीनेशन सेंटर से बाहर भेज दिया।

लगभग एक घंटे तक हंगामा होता रहा लेकिन कोई भी स्वास्थ्य विभाग से अधिकारी उन्हे देखने तक नहीं आया। इधर हंगामे कर रहे लोगों ने बताया कि वैक्सीनेशन हो रहा है कि मजाक बनाया जा रहा है। जब वैक्सीन ही कम है तो इतनी भीड़ लगाने की क्या जरुरत है। अंत में लोग स्वास्थ्य विभाग को कोसते हुए अपने-अपने घर लौट गए।

खबरें और भी हैं...