पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पहल:अब जिले के विद्यालयों में ई-लॉट्स के प्रचार-प्रसार के लिए लगेंगे फ्लैक्स बोर्ड

आरा15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
भोजपुर का जिला शिक्षा कार्यालय। - Dainik Bhaskar
भोजपुर का जिला शिक्षा कार्यालय।
  • वर्ग एक से 12 तक के छात्र-छात्राएं ई-लॉट्स पर क्लिक कर ऑनलाइन पाठ्य सामग्री का लें लाभ

बिहार शिक्षा परियोजना परिषद पटना, राज्य शिक्षा शोध प्रशिक्षण परिषद पटना और यूनिसेफ ने संयुक्त रूप से ई-लॉट्स (लाइब्ररी ऑफ टीचर एंड स्टुडेंंट) ऐप लांच किया है। इस ऐप के जरिए वर्ग प्रथम से 12 वीं तक के छात्र-छात्राएं ऑनलाइन पाठ्य पुस्तक का लाभ उठा सकते है। बिहार बोर्ड एवं एनसीआरटी की पुस्तक सहित सारे स्टडी मेटेरियल एक क्लिक करने पर छात्र-छात्राओ को घर बैठे मिल सकता है। इस ऐप के लांच करने का मूल उद्देश्य विकट परिस्थिति में भी बच्चों को शिक्षा की मुख्य धारा से जुड़े रखना है। इसके प्रचार-प्रसार के लिए जिले के सभी विद्यालयों में फैलक्स बोर्ड लगाए जाएंगे। जिला कार्यक्रम पदाधिकारी कृष्ण कुमारी गुप्ता ने बताया कि शिक्षा के क्षेत्र में बिहार का एक गौरवशाली इतिहास रहा है।

ई-लॉट्स ऑनलाइन ई-लाइब्रेरी गौरवशाली इतिहास की पुनरावृति है। कोविड-19 संक्रमण के कारण शिक्षा का व्यापक असर पड़ा है। इसलिए बिहार राज्य में सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले वर्ग प्रथम से 12वीं तक के छात्रों के पढ़ने की निरंतरता को बनाए रखने के लिए शिक्षा विभाग लगातार प्रयास कर रहा हैं। ताकि इस दौरान भी बच्चे की पढ़ाई बाधित नहीं हो। इस क्रम में पाठ्य पुस्तकों के आधार पर ई-सामग्री का निर्माण किया गया है। जिसे इ लॉट्स ऐप एवं विभाग के आधिकारिक वेबसाइट पर अपलोड किया गया है।

इसका उपयोग मोबाइल से भी किया जा सकता है। इ-लॉट्स ऐप वर्ग प्रथम से 10वीं तक हिंदी और अंग्रेजी भाषा में और 12वीं के लिए अंग्रेजी भाषा में उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में इस इ-लाइब्रेरी में शिक्षा विभाग द्वारा प्रकाशित सभी प्रकार के ट्रेनिंग मॉड्यूल और अध्ययन सामग्रियों को भी अपलोड किया जाएगा। समाज के सभी तपके के छात्र-छात्राएं इसका लाभ उठा सकते है। उन्होंने बताया कि सभी विद्यालयों में ई-लॉट्स के प्रचार-प्रसार के लिए राज्य कार्यालय से निर्देश मिला है। जल्द ही विद्यालयों में ई-लॉट्स के प्रचार-प्रसार के लिए फैलक्स बोर्ड लगाएं जाएंगे। इसको धरातल पर उतराने के लिए विद्यालयों को पत्राचार किया गया है।

प्ले स्टोर से ऐप डाउनलोड कर छात्र उठा सकते है लाभ
ई-लॉट्स (लाइब्ररी ऑफ टीचर एंड स्टुडेंंट) का लाभ उठाने के लिए छात्र-छात्राओं को प्ले स्टोर पर जाकर ऐप डाउनलोड करना होगा। ऐप में शिक्षक, विद्यार्थी एवं अभिभावक सहित अन्य सभी के लिए विकल्प मौजूद है। ऐप ई लॉट्स के माध्यम से बच्चे को ऑनलाइन किताबों के साथ-साथ पाठ से संबंधित वीडियो सामग्री का भी लाभ एक ही जगह मिल सकता है। आने वाले समय में इस लाइब्रेरी में शिक्षा विभाग द्वारा प्रकाशित सभी प्रकार के ट्रेनिंग मॉड्यूल और अध्ययन सामग्रियों को अपलोड किया जाएगा।

बिहार पहला राज्य बन गया जिसने अपनी ई-लाइब्रेरी खुद बनाई है। अब बच्चे एक ऐप के माध्यम से सारे पाठ्य पुस्तकों को आसानी से पढ़ सकते हैं उससे जुड़े हुए वीडियोज को वही देख सकते हैं। अपना स्व-मूल्यांकन भी कर सकते हैं। इस ऐप का उपयोग करना काफी सरल है।

जून माह में शिक्षकों दिया गया था ऑनलाइन प्रशिक्षण
सहायक कार्यक्रम पदाधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि जून माह में ही इसको लेकर शिक्षकों को प्रशिक्षण दिया गया था। पहले कई छात्रों द्वारा यह आपति जतायी जा रही थी कि पुस्तक नहीं होने की वजह से हमलोग पढ़ाई नहीं कर पा रहे है। वहीं अभिभावकों की भी शिकायत रहती थी कि बच्चों को स्टडी मेटेरियल विद्यालय की तरफ से नहीं मिल रहा है, जिसकी वजह से हमलोगों के बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा नहीं मिल पा रही है। सभी शिकायतों को ध्यान में रखते हुए ई-लाट्स ऐप को लांच किया गया है। आज हर किसी के हाथ में स्मार्ट फोन है, इसकी मदद से बच्चे गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त कर सकते है।

खबरें और भी हैं...