पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मरम्मत:एकौना-सहार और तरारी-पीरो जर्जर पथ की जल्द शुरू की जाएगी मरम्मत

आरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पीएमजीएसवाई अंतर्गत बनने वाली सड़कों की जमीन लीज पर ली जाएगी
  • रात में वाहन चालकों की सुविधा के लिए सड़क पर बनाई जाएगी सफेद लाइनें

भोजपुर जिले में कई स्थानों पर जर्जर हो चुकी एकौना-सहार और तरारी- पीरो जर्जर पथ का मरम्मत अविलंब शुरू होगा। दूसरी ओर, जिले में पीएमजीएसवाई के अंतर्गत चयनित ग्रामीण सड़कों के लिए जमीन लीज पर लेकर भी सड़क बनाई जाएगी। उक्त निर्णय डीएम रोशन कुशवाहा की अध्यक्षता में गुरुवार को जिला स्तरीय बैठक में लिया गया है।

डीएम ने दोनों पथ की मरम्मति नियमानुसार कराने का निर्देश शाहाबाद पथ प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता को दिया। जिन पथों को ब्लैक टाप कराया गया है, उन पथों पर सफेद लाइनिंग कराने को कहा गया, ताकि रात्रि में वाहनों के चालकों को सुविधा हो। इधर, ग्रामीण कार्य विभाग के अफसरों को पीएमजीएसवाई अंतर्गत चयनित हुए जिन पथों के निर्माण में जमीन की समस्या आ रही है।

वहां स्थानीय रैयतों से जमीन लीज पर लेने का निर्देश दिया गया। मुख्यमंत्री ग्राम संपर्क टोला योजना अंतर्गत चिन्ह्ति पथों के निर्माण के संबंध में आवश्यक कार्रवाई करने को कहा गया। विकास संबंधी कई अन्य योजनाओं की समीक्षा करते हुए डीएम ने संबंधित अफसरों को कई नए निर्देश दिए हैं।
तरारी एवं बड़हरा समेत कई प्रखंडों में आवास योजना दयनीय
भोजपुर जिले में प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना की स्थिति तरारी, बड़हरा, जगदीशपुर, उदवन्तनगर, पीरो, अगिआंव एवं संदेश प्रखंड क्षेत्र में सबसे ज्यादा दयनीय है। डीएम की बैठक में इसका खुलासा होते ही उन्होंने सभी प्रखंडों के पीओ को इसमें अविलंब सुधार लाने का निर्देश दिया। ऐसा नहीं करने पर सभी के खिलाफ कार्रवाई करने की चेतावनी दी है।
श्रमिकों को काम देने में गड़हनी, चरपोखरी, सहार, बिहिया और उदवंतनगर फिसड्डी
मानव दिवस सृजन की समीक्षा के क्रम में पाया गया कि गड़हनी प्रखण्ड में मानव दिवस सृजन सबसे कम है। यहां 45.4%, चरपोखरी 57.9%, सहार 59.1%, बिहियाँ 62.1% एवं उदवन्तनगर 61.8% की स्थिति भी संतोषजनक नहीं पायी गयी। इसे देखते हुए सभी कार्यक्रम पदाधिकारियों विशेष रूप से गड़हनी, चरपोखरी, सहार, बिहियाँ एवं उदवन्तनगर को निर्देश दिया गया कि कच्चे कामों में मनरेगा अन्तर्गत मानव दिवस सृजित कर लक्ष्य को पूर्ण किया जाए। साथ ही 60ः40 के अनुपात को ध्यान में रखते हुए पक्के कार्यों को कार्या को कराया जाए।
लापरवाही: 84 में से महज 4 आंगनबाड़ी केंद्र ही बन पाए
डीएम के आंगनबाड़ी भवनों के कार्य की समीक्षा के क्रम में यह लापरवाही उजागर हुई। नए बनने वाले 84 आंगनबाड़ी केंद्रों में से महज 4 आंगनबाड़ी केंद्र वर्ष 2016 से लेकर 2018 तक बन पाए हैं। वित्तीय वर्ष 2016-17 एवं 2017-18 तक कुल 84 चैरासी आगनबाडी केन्द्र बनाने का लक्ष्य था। इस बारे में सभी कार्यक्रम पदाधिकारियों को कड़ी चेतावनी दी।

समय पर भुगतान करने में जगदीशपुर और तरारी सबसे पीछे
कार्य की समीक्षा के क्रम में पाया गया कि विकास योजनाओं में समय पर भुगतान करने में जगदीशपुर प्रखण्ड सबसे पीछे है। यहां 71.1% है। इसके अतिरिक्त तरारी 75.7% एवं पीरो 76.2% एवं संदेश का 85.7% का जिले में समय से सबसे कम भुगतान होता है। संबंधित कार्यक्रम पदाधिकारियों को जनवरी के प्रथम सप्ताह तक प्रगति लाने को कहा गया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें