पहल / क्वारेंटाइन सेंटर पर प्रवासियों से बातचीत में सीएम बोले- योग्यता के अनुसार रोजगार उपलब्ध कराएंगे

Speaking to the migrants at Quarantine Center, CM said- will provide employment according to merit
X
Speaking to the migrants at Quarantine Center, CM said- will provide employment according to merit

  • सीएम ने वीसी से जिले के कुल्हड़िया और पिरौटा क्वारेंटाइन सेंटर पर रह रहे प्रवासियों से पूछा हालचाल

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

आरा. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से आमने-सामने देख अपना कुशल क्षेम पूछते ही, कुल्हड़िया प्लस टूूू उच्च विद्यालय क्वारेंटाइन सेंटर की प्रवासी चंपा देवी, सुषमा देवी और दीपक कुमार के चेहरे खुशी से खिल उठे। जैसे ही मुख्यमंत्री ने पूछा आप कहां से आए हैं, इस पर चंपा देवी और सुषमा देवी ने  कहा कि वे गुजरात के राजकोट से आई हुई है। राजकोट में वे दरवाजे का हैंडल बनाने का कार्य करती थी। कार्य बंद होते ही हम लोगों को विवश होकर घर आना पड़ा। यदि, यहां काम मिलता है, तो हमें खुशी होगी।

पास में खड़े दीपक कुमार ने सीएम को बताया कि वह मेरठ में बेकरी का काम करता था, यदि यहां मौका मिलेगा तो अपने जिले में रहकर ही काम करना चाहते हैं। सदर प्रखंड के पिरौटा प्रशिक्षण संस्थान में बनी क्वारेंटाइन सेंटर में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग केे दौरान वहां रह रही ललिता देवी सेे सीएम ने पूछा, वह  कहां से  आई और वहां क्या करती थी?  इस पर खुशी से चहकते हुए ललिता नेे बताया की अहमदाबाद से आई हुई है। वहां पर रह कर कपड़ा का झोला बनाती थी।

इसी सेंटर में रह रहे रामकिशन भगत ने बताया कि वह सूरत से आए हुए है। वहां पर रह कर वे बुनकर का काम करते थे। फैक्ट्री बंद होने से हम लोग 20 लोग साथ ही यहां पर आए हुए हैं।  हमें मौका मिला तो हम लोग यहीं पर रहकर कार्य करना चाहते हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सभी को यह आश्वासन दिया कि उनकी योग्यता केे अनुसार रोजगार की व्यवस्था की जा रही ।
आचनक आयोजित हुआ मुख्यमंत्री का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कार्यक्रम
भोजपुर जिले के कोईलवर स्थित कुल्हड़ीया और सदर प्रखंड के पीरौटा क्वारेंटाइन सेंटर में अचानक शनिवार की दोपहर मुख्यमंत्री का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग प्रवासी से रू ब रू होने का कार्यक्रम तय हुआ है। एकाएक इस तरह के कार्यक्रम होने की सूचना मिलते ही जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया। इसे गंभीरता से लेते हुए डीएम रोशन कुशवाहा स्वयं पीरौटा चले गए और डीडीसी हरिनारायण पासवान को कोईलवर के कुलहडीया में भेज कमान को संभाला। दोनों अफसर  स्वयं पहुंचकर सभी प्रकार की तैयारी कराने के साथ शनिवार की शाम 4 बजे से हुए कार्यक्रम को सफल बनाया।
भोजपुर में 4745 प्रवासी श्रमिक रेड जोन वाले राज्यों से आए हैं
भोजपुर जिले में अब तक 4745 प्रवासी देश के रेड जोन माने जाने वाले राज्य दिल्ली, महाराष्ट्र और गुजरात से आए हुए हैं। इसकी जानकारी डीएम रोशन कुशवाहा ने सेंटर पर मुख्यमंत्री को वीसी के दौरान दी। सीएम को डीएम ने बताया कि अब तक बाहर से आए प्रवासी मजदूरों में लगभग 900 लोगों का जॉब कार्ड जेनरेट किया गया है, तथा उन्हें मनरेगा के तहत कार्य दिए जाने की तैयारी की जा रही है। डीएम ने बताया कि बाहर से आए कुशल श्रमिकों को चालक, भवन निर्माण, सड़क निर्माण, एलपीजी प्लांट गिधा व बिहिया इंडस्ट्रीज एरिया के औद्योगिक केंद्रों में कार्य उपलब्ध कराने की कार्रवाई की जा रही है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना