हादसे में तीन की मौत:बोलेरो से टक्कर के बाद 5 फीट ऊंचा उछला टेंपो, ससुर-दामाद और नाती की मौत, 6 घायल

जगदीशपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आरा-मोहनिया नेशनल हाईवे 30 पर जगदीशपुर थाना क्षेत्र के कितापुर गांव के समीप मंगलवार की सुबह बोलेरो गाड़ी और टेम्पो में आमने-सामने की टक्कर हो गयी। इस घटना में ऑटो पर सवार ससुर, दामाद व नाती समेत 3 लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गयी। जबकि, मां-बेटी व ऑटो चालक समेत 6 लोग जख्मी हो गए। सुबह लगभग 7 बजे हुए इस हादसे का भयावह मंजर यह था कि टक्कर में ऑटो सड़क से 5 फीट ऊपर हवा में उछल गया।

मृतकों में जगदीशपुर थाना क्षेत्र के बभनियांव गांव निवासी स्व. नगीना भगत के 55 वर्षीय पुत्र हीरालाल भगत, रोहतास जिले के बिक्रमगंज थाना क्षेत्र के घुसियां कला गांव निवासी उनका दामाद ललन भगत व इनका 9 वर्षीय पुत्र पुरुषोत्तम कुमार है। जख्मियों में रोहतास जिला के बिक्रमगंज थाना क्षेत्र के घुसियां गांव निवासी व मृतक ललन भगत की पत्नी पूनम देवी, 11 वर्षीया पुत्री पम्मी कुमारी, जगदीशपुर थाना क्षेत्र के बभनियांव गांव निवासी ऑटो चालक महेंद्र राम का पुत्र रविन्द्र राम, पटना जिला के खगौल थाना क्षेत्र के दानापुर लखनी बिगहा गांव निवासी तेतरी देवी, उनकी पुत्री नैना कुमारी व देवर पंकज कुमार है।

घटना के बाद जख्मियों को आनन-फानन में इलाज के लिए इसाढ़ी बाजार स्थित एक निजी क्लीनिक ले जाया गया। जहां से गंभीर स्थिति गंभीर देखते हुए घायलों को सदर अस्पताल आरा रेफर कर दिया गया। बोलेरो का चालक बोलेरो छोड़कर फरार हो गया। ग्रामीणों में आक्रोश भड़क उठा। गुस्साए ग्रामीणों ने आरा-मोहनिया नेशनल हाईवे 30 पर बभनियांव गांव के समीप तीनों शवों को सड़क के बीचो-बीच रखकर सड़क जाम कर दिया।

सड़क जाम होने के कारण सड़क के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतारें लग गयी और आवागमन पूरी तरह ठप हो गया। जगदीशपुर के थानाध्यक्ष संजीव कुमार पुलिस बलों के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और लोगों को समझाने-बुझाने की कोशिश शुरू की। मृतक हीरालाल भगत के घर महज कुछ दिनों पहले ही खुशियों व उल्लास का माहौल था। बीते 21 नवम्बर को मृतक हीरालाल के पुत्र पप्पू भगत का तिलक व 28 नवम्बर को बक्सर जिले के चौगाईं थाना क्षेत्र के बैदा गांव में बारात गई थी। खुशियां चंद दिनों बाद मातम में बदल गई।

शादी समारोह में भाग लेकर घर जा रहे थे ऑटो पर सवार लोग
मृतक हीरालाल भगत के पुत्र पप्पू भगत की शादी समारोह के समाप्ति के बाद हीरालाल भगत, उनके दामाद ललन भगत, बेटी पूनम कुमारी, नाती पुरुषोत्तम कुमार व नतिनी पम्मी कुमारी के साथ एक सप्ताह पूर्व बभनियांव अपने मायके आयी तेतरी देवी, अपनी बेटी नैना कुमारी व देवर पंकज कुमार के साथ बभनियांव गांव से ही ऑटो रिजर्व कर आरा जा रहे थे। तभी इसाढ़ी बाजार से 300 मीटर आगे कितापुर गांव के समीप हादसा हुआ।
इस हादसे में हीरालाल भगत, दामाद ललन भगत एवं नाती पुरुषोत्तम कुमार की घटनास्थल पर ही मौत हो गयी। जबकि ललन भगत की पत्नी पूनम देवी, पुत्री पम्मी कुमारी व ऑटो चालक रविंद्र राम, पटना जिला के खगौल थाना क्षेत्र के दानापुर लखनी बिगहा गांव निवासी तेतरी देवी, उसकी पुत्री नैना कुमारी एवं देवर पंकज कुमार के साथ हादसे में ऑटो चालक रविन्द्र राम गंभीर जख्मी हो गए। इसके बाद उन्हें इलाज के लिए निजी क्लीनिक से आरा सदर अस्पताल ले जाया गया।

गिरफ्तारी व मुआवजे की मांग को लेकर 5 घंटे तक जाम रहा हाईवे
घटना के बाद गुस्साए ग्रामीण सड़क पर उतर आये और परिजनों के साथ तीनों शवों को सड़क के बीचोबीच रखकर बोलेरो चालक की गिरफ्तारी व उचित मुआवजे की मांग को लेकर नेशनल हाइवे 30 को जाम कर दिया। जाम होने से सड़क के दोनों तरफ छोटे बड़े वाहनों की लंबी कतारें लग गयी। सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष संजीव कुमार पूरे दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंच आक्रोशित लोगों को समझाने-बुझाने व जाम हटाने की कवायद में जुट गए। लेकिन आक्रोशित ग्रामीण नहीं मानें।
बाद में अंचलाधिकारी कुंदन लाल व एसडीपीओ श्याम किशोर रंजन भी घटनास्थल पर पहुंच आक्रोशित लोगों को समझा-बुझाकर सड़क जाम हटवाने के प्रयास में जुट गए। काफी मान-मनौव्वल, कबीर अंत्येष्टि योजना की राशि देने व जल्द ही उचित मुआवजा दिए जाने का आश्वासन देकर सड़क जाम हटवाया गया। लगभग 5 घंटे सड़क जाम हटने के बाद राहगीरों ने राहत की सांस ली और आवागमन सामान्य हो सका।

अपने घर का इकलौता चिराग़ था पुरुषोत्तम
बिक्रमगंज थाना क्षेत्र के घुसियां कला गांव निवासी मृतक ललन भगत का पुत्र पुरुषोत्तम कुमार अपने एक भाई एक बहन में छोटा था व अपने मां-बाप का इकलौता चिराग था, जो इस भीषण हादसे में बुझ गया। मृतक विगत कुछ वर्षों से अपने पूरे परिवार के साथ गुजरात के अहमदाबाद में रहकर प्राइवेट कंपनी में जॉब करते थे। अपने साले की शादी में आना ललन भगत के परिवार के लिए काफी दुर्भाग्यपूर्ण रहा। वहीं दूसरे मृतक ललन भगत के ससुर हीरालाल भगत को दो पुत्र पप्पू कुमार, पंकज कुमार, तीन पुत्री पूनम कुमारी, पूजा कुमारी व प्रीति कुमारी है। मृतक हीरालाल भगत की पत्नी बिंदा देवी की मृत्यु 5 वर्ष पूर्व ही बीमारी के कारण हो गई थी। घटना के बाद मृतको के घरों में कोहराम मच गया है।

खबरें और भी हैं...