पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Ara
  • The Government Did Not Send The Amount To The Account Of The Municipal Corporation, The Work Of Construction Of Godhana Road Hanged

लापरवाही:सरकार ने नगर निगम के खाते में नहीं भेजी राशि, गोढ़ना रोड बनाने का काम लटका

आराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सरकार ने नगर निगम के खाते में नहीं भेजी राशि, गोढ़ना रोड बनाने का काम लटका

नगर निगम अपने कार्यशैली को लेकर बराबर चर्चा में रहा है इस बार नगर निगम सड़क निर्माण कार्य के लिए कुछ ऐसा ही काम किया है। विधानसभा चुनाव से पहले सरकार ने नगर निगम को गोढना रोड निर्माण के लिए आदेश दिया। नगर निगम ने गोढना रोड का टेंडर निकाला गया। इस योजना के लिए नगर निगम ने एक करोड़ 30 लाख का बजट बनाकर सरकार के पास भेजा सरकार ने इस योजना की मंजूरी भी दे दी। योजना शुरू करने के लिए सरकार ने नगर निगम के खाते में 30 हजार रुपये भेज दिया। गोढना रोड को बनाने के लिए कार्य शुरू हो गया।

जब सरकार ने अपना वादा पूरा नही किया तो नगर निगम ने सरकार से योजना का बाकी रुपये का भुगतान करने का पत्र लिखा। लेकिन सरकार ने नगर निगम के खाते में रुपया नही भेजा। नगर निगम ने संवेदक को राशि नही दिया तब कार्य बंद कर दिया गया। इसके बाद गोढना रोड का कार्य रुक गया। चुनाव भी समाप्त हो गया सूबे में सरकार भी बन गई। लेकिन सड़काें का हाल पूछने वाला कोई नही है । इस रोड से लगभग 2 लाख लोग प्रभावित है। सड़क बन जाने से लोगो को आने जाने में सहूलियत होती।

हल्की बारिश में गोधना रोड बन जाता है झील, सड़क दुर्घटना | गोड़ना रोड का निर्माण नही होने से सड़क कम गढ्ढा ज्यादा हो गया है। यू कहा जाए कि सड़क गढ्ढे में तब्दील हो गया है। हल्की बारिश में भी झील जैसा नजारा बन जाता है। जिससे छोटे वाहन सहित बड़े वाहन को काफी परेशानी होती है। गोढ़ना रोड में वाहन चलाना चालकों के लिए एक चैलेंज रहता है। कब गाड़ी किधर पलट जाए ये कहना मुश्किल है। इसके बावजूद भी नगर निगम के द्वारा सड़क निर्माण नही कराया गया है। अब बारिश का मौसम है स्थिति और बदतर हो गई।

इस सड़क से 7 शहरी इलाका और 6
इस सड़क से 7 शहरी इलाका और 6 ग्रामीण इलाका प्रभावित है। शहरी इलाकों में पावरगंज, कैलाशनगर, गौतमबुद्ध नगर, कॉपरेटिव कॉलोनी, बंगला कॉलोनी, पटेलनगर, मिल्की अनाइठ है। वही ग्रामीण इलाकों में पियनिया, बकरी, करबा, खलिसा, चकिया, दरियागंज है। इस सड़क से करीब लाखाें लोग प्रभावित है। लेकिन नगर निगम के कार्य प्रणाली के कारण अबतक सड़क का निर्माण नही कराया गया है।

खबरें और भी हैं...