पीड़ितों को परेशानियों का करना पड़ रहा सामना:वरीय अधिकारी की बात नहीं सुन रहे थानेदार, 6 वर्ष बाद भी चार्जशीट नहीं

आराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस अधीक्षक ने कहा कि विभागीय कार्रवाई करने के लिए जांच की जा रही है - Dainik Bhaskar
पुलिस अधीक्षक ने कहा कि विभागीय कार्रवाई करने के लिए जांच की जा रही है

जिले में कुछ थानों में मनमर्जी तरीके से काम हो रहे हैं। इन थानाें के सही तरीके से कार्य नहीं कर पाने के कारण पीड़ित परिवार को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। मामला टाउन थाना और नवादा थाना से जुड़ा हुआ है। पीड़ित परिवार ने टाउन थाना के एएसआई मजहर खान पर अपने पिता के मृत्यु प्रमाण-पत्र की जांच में छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया था। इस मामले में पीड़ित परिवार ने एसपी से मिलकर पर शिकायत दर्ज कराया दिया था। एसपी विनय तिवारी ने इस मामले को जांच करने के लिए टाउन थाना के थानाध्यक्ष के निवर्तमान इंस्पेक्टर को सौंपा था।

यह भी आदेश दिया था कि केस के इंचार्ज पर एफआईआर दर्ज कर जांच करने की अनुशंसा है। लेकिन इंस्पेक्टर ने इस मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया और कार्रवाई नहीं की। पीड़ित परिवार दोबारा एसपी के पास मिलने गए। दूसरा मामला नवादा थाना क्षेत्र के कांड संख्या 86/16 का है। छह साल बीत जाने के बाद भी केस के इंचार्ज कोर्ट में चार्ज-शीट दाखिल नहीं किया गया है। इसके वजह से पीड़ित महिला ने एसपी से गुहार लगाई थी। एसपी ने थानाध्यक्ष और केस इंचार्ज को फटकार भी लगाई थी।

कार्य में लापरवाही पर होगी कार्रवाई: एसपी
कार्य में लापरवाही बरतने वाले थानाध्यक्ष बिल्कुल बख्शे नहीं जाएंगे। उन पर विभागीय कार्रवाई करने के लिए जांच की जा रही है। विनय तिवारी, एसपी, भोजपुर

खबरें और भी हैं...