पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वीकेएसयू:अंगीभूत कॉलेजों में इंटर की पढ़ाई बंद करने के लिए विवि ने शिक्षा विभाग को भेजा पत्र

आरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय के अंगीभूत कॉलेजों में इंटर की पढ़ाई बंद करने की कवायद शुरू

अगले सत्र 2021-23 से वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय के अंगीभूत कॉलेजों में इंटर की पढ़ाई बंद करने को लेकर विश्वविद्यालय ने शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव को पत्र लिखा है। एकेडमिक काउंसिल एवं सिंडिकेट की बैठक के निर्णय का हवाला देते हुए अंगीभूत कॉलेजों से इंटर की पढ़ाई समाप्त करने को कहा है।

कुलसचिव श्यामानंद झा ने बताया कि 15 सितंबर को सम्पन्न हुई विद्वत परिषद् की बैठक में कॉलेजों से इंटरमीडिएट की पढ़ाई बंद करने का निर्णय लिया गया था। इस निर्णय को 19 सितंबर 2020 को सिडिंकेट की बैठक रखा गया। जिसमें सभी सदस्यों ने हामी भरते हुए इस मुहर लगा दिया था।

विश्वविद्यालय ने प्रधान सचिव को पत्र लिखते हुए कहा है कि रेसलाईजेशन के आधार पर सभी अंगीभूत कॉलेजों में पदों कि संख्या को कम कर दिया गया है। शिक्षकों की कमी के कारण कॉलेजों में इंटर की पढ़ाई करना संभव नहीं है। कॉलेजों से इंटर की पढ़ाई समाप्त कर दिया जाए। गौरतलब हो कि अंगीभूत कॉलेजों से इंटर की पढ़ाई बंद करने को लेकर लगातार आवाज उठता रहा है।

शिक्षक संघ कई दफा इस पर अपनी प्रतिक्रिया भी दे चुका है। इसकी मूल वजह वर्ष 2019 में इंटर की उत्तरपुस्तिकाओं के मूल्यांकन में योगदान नहीं करने वाले अंगीभूत कॉलेजों के शिक्षकों पर प्राथमिकी की धमकी बिहार बोर्ड द्वारा दी गयी थी। जिसके बाद शिक्षक संघ ने इस पर आवाज उठाया था। इंटर को अलग करने की मांग सरकार से की थी।

वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय सेवा शिक्षक संघ के महासचिव सह एकेडमिक काउंसिल के सदस्य डॉ किस्मत सिंह ने बताया कि निर्णय के आलोक में विश्वविद्यालय जल्द से जल्द प्रस्ताव भेजे। बताया कि इस बार स्थिति यह रही कि अंगीभूत कॉलेज के शिक्षकों से इंटर कि कॉपी के साथ मैट्रिक की कॉपी भी जांच कराई गई जो सही नहीं था। जिस पर विश्वविद्यालय ने कवायद तेज कर दिया है।

शिक्षक बोले- इंटर का अतिरिक्त बोझ क्यों उठाए
एकेडमिक काउंसिल की बैठक में सदस्यों ने अपना पक्ष रखते हुए कहा था कि रेसलाईजेशन के आधार पर सभी अंगीभूत कॉलेजों में पदों कि संख्या को कम कर दिया गया है। शिक्षकों की कमी के कारण कॉलेजों में इंटर की पढ़ाई करना संभव नहीं है। अंगीभूत कॉलेजों में नियुक्त शिक्षक यूजी और पीजी के विद्यार्थियों को ही पढ़ाएंगे। क्योंकि इनकी नियुक्ति यूजी और पीजी के लिए हुई है, फिर इंटर का अतिरिक्त बोझ वे क्यों सहे।

जिसके बाद इस प्रस्ताव पर एकेडमिक काउंसिल ने अपनी मंजूरी दे दिया था। यह संभावना जताई जा रही है कि इंटर की पढ़ाई अंगीभूत कॉलेजों में नए सत्र से नहीं होगी। अगर सरकार की स्वीकृति प्राप्त हो जाती है तो अगले सत्र से अंगीभूत कॉलेजों में इंटर में नामांकन के आसार कम है। इधर, अधिकारियों की मानें तो इंटर की पढाई बंद करने पर अब सरकार को अंतिम निर्णय लेना है। इस दिशा में कार्रवाई के लिए शिक्षा विभाग को पत्र भेजा गया है।

विवि ने सिंडिकेट के लिए चार शिक्षकों का किया मनोनयन

वीकेएसयू प्रबंधन ने सिंडिकेट के लिए चार शिक्षकों का मनोनयन किया है। दो पीजी हेड और दो अंगीभूत कॉलेजों के प्राचार्य को सिंडिकेट सदस्य एक वर्ष के लिए बनाया गया है। इसमें पीजी कॉमर्स विभाग एवं संस्कृत विभाग के हेड को एक टर्म के लिए सदस्य बनाया गया है

अंगीभूत कॉलेज में इंटर की पढ़ाई बंद हुई तो छात्रों की बढ़ेगी परेशानी
सत्र 2021-23 से अंगीभूत कॉलेजों में नामांकन बंद होने से हजारों छात्रों के एडमिशन के लिए बिहार बोर्ड को नया विकल्प तलाशना पड़ेगा। वहीं विद्यार्थियों की भी परेशानी बढ़ सकती है। गौरतलब हो कि अधिकतर अंगीभूत कॉलेजों में इंटर के सभी संकाय अर्थात कला, विज्ञान और वाणिज्य की पढ़ाई होती है।

17 अंगिभूत कॉलेजों में लगभग 25 हजार सीटें है जहां तक प्राईवेट इंटर कॉलेज और प्लस टू विद्यालय की बात है वहां सीटें भी कम है। अगर अंगीभूत कॉलेजों में पढ़ाई बंद होती है तो इंटर कॉलेज और प्लस टू विद्यालयों में सीटें बढ़ानी पड़ सकती हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उत्तम व्यतीत होगा। खुद को समर्थ और ऊर्जावान महसूस करेंगे। अपने पारिवारिक दायित्वों का बखूबी निर्वहन करने में सक्षम रहेंगे। आप कुछ ऐसे कार्य भी करेंगे जिससे आपकी रचनात्मकता सामने आएगी। घर ...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser