पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बाढ़ की आशंका:फिर बढ़ने लगा गंगा और सोन का जलस्तर

आरा6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 24 घंटे में गंगा नदी में 15 सेमी और सोन का जलस्तर 23 सेमी तक की बढ़ोतरी हुई
Advertisement
Advertisement

भोजपुर जिले में चार दिनों तक लगातार गंगा व सोन नदी का जलस्तर घटने के बाद एक बार फिर इसमें बढ़ोतरी शुरु हो गई है। शनिवार के दिन गंगा का जलस्तर जहां 15 सेंटीमीटर बढ़ा वही सोन का जलस्तर अचानक 23 सेंटीमीटर तक बढ़ गया है। हालांकि इस बढ़ोतरी के बाद भी फिलहाल किसी तरह का कोई खतरा भोजपुर में नहीं दिख रहा है। मालूम होगी विगत चार दिनों पहले गंगा का जलस्तर डेंजर लेवल से 88 सेंटीमीटर नीचे तक जा पहुंचा था।

28 जुलाई से इस के जलस्तर में लगातार गिरावट आते हुए 31 जुलाई तक इसका जलस्तर एक 51: 55 मीटर तक आ पहुंचा था। शुक्रवार के दिन गंगा का जलस्तर बक्सर और इलाहाबाद में बढ़ने के कारण इसका प्रभाव शनिवार को भोजपुर में दिखा। शनिवार की सुबह गंगा का जलस्तर 51: 55 मीटर से बढ़ते हुए 51:70 मीटर तक जा पहुंचा था।

इस प्रकार शुक्रवार की अपेक्षा शनिवार को गंगा के जलस्तर में 15 सेंटीमीटर की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। इधर, सोन नदी का जलस्तर 31 जुलाई को 50:10 मीटर पर था। शनिवार को इसमें इजाफा होते हुए इसका जलस्तर 50: 33 मीटर तक जा पहुंचा है। सोन नदी महज एक दिन में 23 सेंटीमीटर तक बढ़ी है। गंगा नदी का जलस्तर 51: 70 मीटर तक पहुंचने के बाद भी यह डेंजर लेवल से 1:38 मीटर अभी नीचे बह रही है।

बढ़ोतरी जारी रही तो 3 से 4 दिनों में डेंजर लेवल पर पहुंच जाएगी गंगा
बक्सर, बनारस और इलाहाबाद के गंगा नदी में यदि जलस्तर बढ़ने का सिलसिला जारी रहा तो आगामी 3 से 4 दिनों में डेंजर लेवल को पार कर सकती है गंगा नदी। ऊपरी क्षेत्र में यदि 2 से 3 दिनों तक लगातार नदी का जलस्तर बढ़ता रहा तो उसका असर तीन से चार दिनों के बाद भोजपुर में दिखाई पड़ता है। यहां डेंजर लेवल से महज 1: 38 मीटर ही नीचे गंगा बह रही है।

निचले हिस्सों में पानी घुसने का बढ़ा खतरा
बड़हरा के गंगा नदी में यदि जलस्तर 1: 30 मीटर भी बढ़ा दो इसका पानी निचले हिस्से के खेतों में फैलाना शुरू हो जाएगा। विगत पांच दिनों पहले गंगा का जलस्तर 52: 20 मीटर होते ही कुछ निचले हिस्से में पानी फैलना शुरू हो गया था।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - अपने जनसंपर्क को और अधिक मजबूत करें। इनके द्वारा आपको चमत्कारिक रूप से भावी लक्ष्य की प्राप्ति होगी। और आपके आत्म सम्मान व आत्मविश्वास में भी वृद्धि होगी। नेगेटिव- ध्यान रखें कि किसी की बात...

और पढ़ें

Advertisement