पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अब 24x7 जगमग:रिंग सिस्टम से 24 घंटे होगी बिजली आपूर्ति, खुले तार भी ढके जाएंगे

आराएक महीने पहलेलेखक: धर्मेन्द कुमार सिंह
  • कॉपी लिंक

भोजपुर जिले के आरा नगर निगम और नगर पंचायत वाले शहरी क्षेत्र के 82,000 उपभोक्ताओं के लिए बड़ी खुशखबरी है। अब उनके लिए 24 घंटे बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए बिजली कंपनी रिंग सिस्टम से सभी को जोड़ने जा रही है। इसके लिए आधुनिक ढंग से रिंग मेंस यूनिट (आरएमयू) तकनीक का प्रयोग किया जाएगा।

बिहार का भोजपुर दूसरा जिला होगा जहां इस तकनीक के सहारे पहली बार 33000 और 11000 के नंगे तारों के बदले कवर्ड वायर लगाए जाएंगे। इस नई तकनीक के सहारे आरा शहर के सभी 5 पावर सब स्टेशन और 14 फीडर समेत अन्य नगर पंचायत के पीएसएस व फीडर को एक दूसरे से कई अतिरिक्त नए मार्गों से जोड़ा जाएगा। इन सभी कार्यों को करने के लिए साउथ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी को विभिन्न प्रकार के केबल व आरा में 1210 किलोमीटर लंबी उच्च तकनीक के वायर की आवश्यकता होगी। वही, नगर पंचायत में भी लगभग 500 किलोमीटर वायर लगेंगे।

आरा में बनाए गए प्रस्ताव के अनुसार 33000 का लाइन के लिए 21 किलोमीटर और जहां ऊपर से तार नहीं गुजर सकता है, वहां अंडर ग्राउंड 10 किलोमीटर तक केबल लगाने का प्रस्ताव बनाया गया है। वही 11000 के लिए 179 किलोमीटर तार की आवश्यकता होगी। इधर, 440 वोल्ट अथार्थ एलटी तारों को जगह-जगह से जोड़ने और नए रास्ते बनाने के लिए 1000 किलोमीटर लंबी दूरी तक का तार समेत अन्य उपकरण लगेंगे। इसके

लिए राज्य मुख्यालय से मांगे जाने के बाद बिजली कंपनी ने कवायद तेज करते हुए तेजी से प्रस्ताव बना रही है। एक से दो सप्ताह में प्रस्ताव बनाकर उसकी मंजूरी के लिए राज्य मुख्यालय भेज दिया जाएगा। सब कुछ ठीक रहा तो 2 से 3 माह के अंदर कार्य शुरू होने की संभावना है।

जानना जरूरी : आरा में कौन-कौन है पावर सब स्टेशन और फीडर | आरा में बिजली कंपनी का एक पावरग्रिड है। वह धोबीघटवा में है। आरा शहर में बिजली आपूर्ति करने के लिए 5 पावर सब स्टेशन (पीएसएस) पहले से हैं। वहीं छठा पावर सबस्टेशन नगर निगम कार्यालय के पास बन रहा है। पांच पावर सब स्टेशन में जापानी पीएसएस, गोढ़ना पीएसएस, पूर्वी गुमटी पीएसएस, धरहरा पीएसएस और धोबीघटवा पीएसएस है। वही शहर में

बिजली आपूर्ति व्यवस्था सही ढंग से चलाने के लिए इन 5 पावर सब स्टेशन से 14 फीडर निकाले गए हैं। वहीं तीन अतिरिक्त फीडर अभी निर्माणाधीन है। इन्हीं सब फीडर से शहरी क्षेत्रों के 60 हजार उपभोक्ताओं को बिजली आपूर्ति की जाती है।

दस करोड़ रुपए की राशि होगी खर्च, जिले के सभी शहरी क्षेत्र इस योजना से जुड़ेंगे | आरा शहर समेत कोईलवर, पीरो, जगदीशपुर, बिहिया शाहपुर में 24 घंटे बिजली व्यवस्था चालू रखने के लिए लगभग ₹10 करोड़ की राशि खर्च होगी। इसमें 85% राशि तार पर और 15% राशि अन्य उपकरण पर खर्च होगी। यह राशि केंद्र और बिहार सरकार के इंटीग्रेटेड पावर डेवलपमेंट स्कीम के तहत खर्च होगी। इस योजना से जहां आरा शहरी क्षेत्र के 62,000 उपभोक्ताओं को लाभ मिलेगा। वही अन्य नगर पंचायत क्षेत्र के 20000 उपभोक्ताओं को भी इसका लाभ मिलेगा।

खबरें और भी हैं...