अनियमित्ता / अरियरी में साइन बोर्ड में सिमट कर रह गई पांच लाख रुपये लागत की संसदीय क्षेत्र विकास योजना की पीसीसी ढ़लाई

PCC molding of Parliamentary Area Development Scheme costing five lakh rupees left in sign board in Ariyari
X
PCC molding of Parliamentary Area Development Scheme costing five lakh rupees left in sign board in Ariyari

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

अरियरी. अरियरी प्रखंड अंतर्गत मसौढ़ा गांव में संसदीय क्षेत्र विकास योजना के अंतर्गत 5 लाख रुपये की लागत राशि से पीसीसी की ढ़लाई साइन बोर्ड में ही सिमट कर रह गई है। इतना ही नहीं ठेकेदारों व अधिकारियों की मिलीभगत से योजना का कार्य कागजात पर पूर्ण कर पुष्टि भी कर दी गई है। दरअसल, अरियरी प्रखंड के मसौढ़ा गांव में संसदीय क्षेत्र विकास योजना के अंतर्गत दशरथ पासवान के घर से होते हुए शिव मंदिर से लेकर शरद यादव के घर तक पीसीसी ढ़लाई का कार्य किया जाना था। इसको लेकर सांसद विभाग से स्वीकृति भी मिल गई थी।

इससे संबंधित ठेकेदारों के द्वारा कार्य प्रारंभ भी किया गया था। लेकिन ठेकेदारों  द्वारा लगभग 100 फीट की पीसीसी के ढ़लाई का कार्य अधूरा छोड़ दिया गया हैं। जिसके बाद योजना की पुष्टि के लिए साइन बोर्ड लगा कर जांच भी कराया जा चुका है। इस बाबत ग्रामीण कौशल, किशोर प्रभाकर, सुमन कुमार, मुकेश प्रसाद, पवन कुमार सहित अन्य ग्रामीणों ने बताया कि संसदीय क्षेत्र विकास योजना के अंतर्गत लगभग 100 का पीसीसी ढ़लाई का कार्य नहीं होने के कारण जगह-जगह छोटे छोटे गड्ढे बन गए हैं।

वहीं, लगातार हो रही बारिश के कारण छोटे-छोटे गड्ढों में जलजमाव हो गई है। जिसके कारण पूरा रास्ता कीचड़मय हो गया है। वहीं, इस रास्ते से जाने वाले राहगीरों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। साथ ही उन्होंने बताया कि ठेकेदार व अधिकारी की मिलीभगत से 27 जून को जिला के अधिकारी के द्वारा मसौढ़ा गांव पहुंचकर योजना की पुष्टि करने को लेकर साइन बोर्ड का को लगाया गया था। उसके बाद साइन बोर्ड को हटा दिया गया है।

जिसके कारण शरद यादव के घर तक पीसीसी ढलाई का कार्य अब भी अधूरा रह गया है। इसको लेकर ग्रामीणों में काफी आक्रोश व्याप्त है। इस बाबत जिला योजना पदाधिकारी विजय शंकर ने बताया कि इस योजना की शिकायत ग्रामीणों ने लोक जन शिकायत में आया था जिसकी जाँच भी कराई गयी थी। लेकिन डीएम द्वारा आपत्ति जताने एवं पुन: जाँच कराने की बात कहा गया था। जिसके कारण यह जांच शिथिल पड़ गयी है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना