मनमानी:कोरोना महामारी में भी बगैर मास्क के कोचिंग पहुंच रहे विद्यार्थी, सरकार के आदेशों की उड़ रहीं धज्जियां

अतरी14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सरकारी आदेश के बाद भी बंद नहीं हुए कई कोचिंग संस्थान, बिना मास्क के आ रहे विद्यार्थी - Dainik Bhaskar
सरकारी आदेश के बाद भी बंद नहीं हुए कई कोचिंग संस्थान, बिना मास्क के आ रहे विद्यार्थी

कोचिंग सेंटर बंद रखने के सरकारी आदेश के बाद भी प्रखंड क्षेत्र में कोंचिंग संस्थान खुले हुए हैं। शिक्षा को व्यवसाय बना चुके कोचिंग सेंटर वाले बच्चों की जिंदगी से खिलवाड़ करने पर आतुर हैं। शायद यही वजह है कि बच्चे इस कड़ाके की ठंड और कोरोना की लहर में भी बगैर मास्क के साढ़े पांच बजे सुबह से ही कोचिंग में पहुंचना शुरू कर देते हैं। स्थानीय प्रशासन के द्वारा नजरअंदाज करने से बच्चों का भविष्य पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। ऐसी स्थिति में कोरोना प्रोटोकॉल और सरकारी आदेश की धज्जियां उड़ाते हुए कोचिंग संचालक अपने अपने कोचिंग का संचालन करने में मशगूल हैं।

सरकारी आदेश हवा-हवाई: मैगरा व डुमरिया में भी खुले हैं कोचिंग संस्थान
सरकार आदेश के बाद भी डुमरिया और मैगरा मे कोचिंग सेंटर चालू है। कड़कड़ाती ठंड और कोरोना संक्रमण को देखते हुए 21 जनवरी तक संस्थान को बंद किया गया है। इसके बावजूद ग्रामीण क्षेत्रों में कोचिंग का संचालन हो रहा है। मैगरा, डुमरिया में कोचिंग सेंटर बन्द नहीं हुआ है।

खबरें और भी हैं...