पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शत प्रतिशत टीकाकरण:टीका एक्सप्रेस से 18+ लोगों को भी लगाई जायेगी वैक्सीन

औरंगाबाद नगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक ने इस संबंध में डीएम और सिविल सर्जन को भेजा है पत्र

कोरोना वैक्सीनेशन अभियान को और भी सुविधाजनक व सरल बनाने के उद्देश्य से राज्य सरकार ने नया निर्देश जारी किया है। जारी नये निर्देश के तहत टीका एक्सप्रेस से अब 18+ लोगों को भी वैक्सीन लगाने का निर्णय लिया गया है। इसको लेकर राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने डीएम व सिविल सर्जन को इस संबंध में पत्र भेजा है। जिसमें इसको लेकर तैयारी करने की जानकारी दी गई है।

कार्यपाल निदेशक के द्वारा भेजे गए पत्र के माध्यम से बताया गया है कि राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत ग्रामीण क्षेत्र में तथा टीका एक्सप्रेस के माध्यम से शहरी क्षेत्रों में 45 वर्ष व इससे अधिक आयु वर्ग के लाभार्थियों का टीकाकरण उनके घर के नजदीक जाकर किया जा रहा है। जिसपर विचार करने के बाद निर्णय लिया गया है कि अब टीका वाहन से 18+ आयु वर्ग के लोगों को भी टीका लगाया जाएगा।
माइक्रो प्लान बनाकर होगा टीकाकरण, शत प्रतिशत वैक्सीन देने का लक्ष्य
पत्र में बताया गया है कि टीका एक्सप्रेस के चयनित जगहाें में सत्र स्थलों के संचालन में कोई परेशानी न हो इसका पूरा ध्यान रखा जाए। 18+ व 45+ आयु वर्ग के लाभार्थियों के लिए कोविन पोर्टल पर अलग-अलग आयोजन किया जाए। इसके अलावे वैक्सीन का वेस्टेज न हो। इसका भी ध्यान रखा जाए। किसी भी परिस्थिति में राज्य में उपलब्ध कोविशिल्ड व को वैक्सीन दोनों एक साथ एक ही दल को उपलब्ध नहीं कराया जाए। प्रत्येक टीका वाहन पर माइक्रो प्लान के अनुसार सत्र पर अनुमानित लाभार्थियों के संख्या के आधार पर शत प्रतिशत टीकाकरण किया जाए। इसका व्यापक प्रचार-प्रसार भी सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है।

टीका लगवाने के लाेगों को बताए गए फायदे

वैक्सीन रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाकर वायरस से लड़ने की क्षमता बढ़ाती है। अगर आप संक्रमित नहीं हुए हैं तो बीमारी से लड़ने के लिए पहले ही प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा देगी। अगर आपका इम्युनिटी सिस्टम कमजोर है तो यह बूस्टर की तरह काम करेगा।

गांवों में टीका लेने के लिए लोगों को किया जा रहा जागरूक : टीका को लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में कई तरह के अफवाह फैले हुई है। इस तरह की अफवाह ने जिला प्रशासन को भी परेशानी में डाल दिया है। यही कारण से जिले के तमाम वरीय पदाधिकारी और प्रखंडों के पदाधिकारी गांव-गांव में घूमकर अफवाहों पर ध्यान नहीं देने और नजदीकी स्थलों पर जाकर टीका लेने की अपील भी कर रहे हैं। इसके साथ ही लगातार जनप्रतिनिधियों की भी बैठक कर उनसे से अपील की जा रही है कि वे अपने-अपने क्षेत्र के लोगों को टीका लेने के लिए प्रोत्साहित करें।

खबरें और भी हैं...