पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Aurangabad
  • 7 Crore Business On Vishwakarma Puja, Four wheelers And Three wheelers Worth Rs. Six Crore Were Sold, People Also Bought Bikes Worth 1.25 Crore

बाजार की इम्यूनिटी मजबूत:विश्वकर्मा पूजा पर 7 करोड़ का कारोबार, पौने छह करोड़ के चारपहिया और तीन पहिया वाहन बिके, लोगों ने सवा करोड़ की बाइकें भी खरीदी

औरंगाबाद11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बाइक की खरीदारी को लेकर शो-रूम में लगी ग्राहकों की भीड़
  • पिछले साल हुआ था करीब सोलह करोड़ का कारोबार, लॉकडाउन के बाद बाजार में यह पहली उछाल

काेविड-19 को बाजार ने मात देना शुरू कर दिया है। बाजार का इम्यूनिटी मजबूत हो रहा है। विश्वकर्मा पूजा पर ऑटोमोबाइल सेक्टर में जमकर खरीदारी हुई। पिछले साल की तुलना में थोड़ी कम तो है, लेकिन जिले में अचानक सात करोड़ का कारोबार होने से कारोबारी उत्साहित हैं। विश्वकर्मा पूजा पर 76 चारपहिया व तीन पहिया वाहन बिका। वहीं 87 दोपहिया वाहन बिके।

ऑटो सेक्टर क्षेत्र के जानकारों ने बताया कि टाटा शो-रूम में चारपहिया व तीन पहिया मिलाकर बड़े-छोटे करीब डेढ़ करोड़ का वाहन का कारोबार हुआ। वहीं महेन्द्रा ट्रैक्टर में भी सवा करोड़ की कारोबार हुई। जबकि महेन्द्रा शो-रूम में स्कॉर्पियो, जाइलो व अन्य गाड़ियों के कारोबार एक करोड़ से ज्यादा का किया। स्वराज ट्रैक्टर ने भी करीब एक करोड़ का कारोबार किया है। वहीं रॉयल इन्फील्ड, बजाज, टीवीएस, होंडा व हिरो ने सवा करोड़ का कारोबार किया है।

कोविड-19 से बाजार था ठप, छह डीलरों ने व्यवसाय छोड़ा
ऑटो मोबाइल सेक्टर कोविड से बूरी तरह प्रभावित हुआ। लिहाजा शो-रूम मालिक से लेकर कर्मचारियों के सामने रोजगार व खाने का संकट तो शो-रूम के मालिकों के सामने व्यवसाय बचाने की चुनौती थी। नाम न छापने के शर्त पर एक बाइक शो-रूम के मालिक ने बताया कि कोविड के दौरान कारोबार बूरी तरह से बर्बाद हो गया। लगा सबकुछ खत्म हो गया। उन्होंने यह भी बताया कि 28 डीलर में से छह डीलर व्यवसाय ही छोड़ दिए। कई डीलराें की स्थिति अभी भी दयनीय है, लेकिन इसी बीच विश्वकर्मा पूजा की कारोबार ने उन्हें चुनौतियों से लड़ने का इम्यूनिटी दिया है। अब लगता है बाजार धीरे-धीरे सुधर जाएगा। वहीं ऑटो सेक्टर में काम करने वाले कर्मचारियों में भी खुशी का माहौल दिनभर बना रहा।

इस बार घरों में ही करें विश्वकर्मा पूजा, क्योंकि कोरोना को देना है मात

इस बार घरों में ही विश्वकर्मा पूजा धूमधाम से मनाएं। सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए। क्योंकि राक्षस रूपी कोरोना वायरस को हराना है। जिला प्रशासन के गाइडलाइन के अनुसार जिले के मंदिर अभी भी बंद हैं। कंटेनमेंट जोन में एहतियात बरता जा रहा है। इसलिए लाउडस्पीकर बजाकर पूजा करना और सोशल डिस्टेंस को भंग करने को जिला प्रशासन ने प्रतिबंधित किया है। सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए आप पूरे भक्ति भाव से अपने घरों में और अपने वाहनों को पूजा करें। भगवान विश्वकर्मा भी इस बार हमारी पूजा में धूम धड़ाके के बजाय हमारी भक्ति और साधना देखना पसंद करेंगे। इसलिए दैनिक भास्कर आपसे अपील करता है कि आप जिला प्रशासन के गाइडलाइन के अनुसार और कोरोना को हराने और समाज को बचाने के लिए सादगी पूर्वक घरों में पूजा करें। एसडीओ डॉ. प्रदीप कुमार ने बताया कि सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए सभी लोग पूजा करें। किसी भी प्रतिबंधित बिंदूओं का उल्लंघन करने से बचें।

आज भी मुहूर्त, शाम 7 से रात 10 बजे तक सबसे शुभ
विश्वकर्मा पूजा हर वर्ष बंगाली माह भाद्र के आखिरी दिन भाद्र संक्रांति को मनाया जाता है, इसे कन्या संक्रांति भी कहा जाता है। इस वर्ष कन्या संक्रांति दो दिन है। बीते दिन बुधवार के बाद आज गुरुवार को भी विश्वकर्मा पूजा का मुहूर्त है। शिक्षक व कर्मकांडी ब्राह्मण उज्जवल रंजन ने बताया कि यह गुरुवार को दिनभर रहेगा, लेकिन देर शाम 7 बजे से रात 10 बजे तक बहुत ही शुभ मुहूर्त है। ऐसे सुबह से लेकर शाम तक भी अच्छा मुहूर्त है। लिहाजा इस मुहूर्त में विधिपूर्वक भगवान विश्वकर्मा की पूजा करने से रोजगार और बिजनेस में तरक्की मिलेगी। घर में भगवान विश्वकर्मा का वास होगा। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार भगवान विश्वकर्मा को देवताओं का शिल्पी कहा जाता है। वे निर्माण एवं सृजन के देवता हैं। वे संसार के पहले इंजीनियर और वास्तुकार कहे जाते हैं। घर में अगर इनकी आगमन हो तो इससे शुभ कुछ नहीं हो सकता। इनके आगमन से मां लक्ष्मी, गणेश व भगवान विष्णु स्वत: चले आते हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन परिवार व बच्चों के साथ समय व्यतीत करने का है। साथ ही शॉपिंग और मनोरंजन संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत होगा। आपके व्यक्तित्व संबंधी कुछ सकारात्मक बातें लोगों के सामने आएंगी। जिसके ...

और पढ़ें