11 दिसंबर को राष्ट्रीय लोक अदालत:अमृत महोत्सव के तहत दो अक्टूबर से 14 नवंबर तक विधिक जागरूकता कार्यक्रम, ज्यादा मामलों के निष्पादन का लक्ष्य

औरंगाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जानकारी देते जिला जज। - Dainik Bhaskar
जानकारी देते जिला जज।

बुधवार को जिला विधिक सेवा प्राधिकार के अध्यक्ष सह जिला जज मनोज कुमार तिवारी व सचिव प्रणव शंकर द्वारा जिला जज के प्रकोष्ठ में प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया। जिसमें अमृत महोत्सव के आयोजन एवं आगामी राष्ट्रीय लोक अदालत को सफल बनाने में सबका भागीदारी सुनिश्चित कराने की अपील की।

जिला जज व सचिव द्वारा बताया गया कि दो अक्टूबर से 14 नवंबर तक प्रतिदिन आजादी के अमृत महोत्सव के तहत विभिन्न जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। जिसमें जिला प्रशासन भी सहयोग करेगी। दो अक्टूबर को ही कार्यक्रम का विस्तृत कैलेण्डर जारी किया जाएगा। उक्त कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य पैन इंडिया जागरूकता अभियान के तहत पूरे देश में गरीब अनुसूचित जाति, जनजाति एवं वैसे व्यक्ति जिन्हें विधिक अधिकारों की जानकारी नहीं है, उन्हें अपने विधिक अधिकारों के प्रति जागरूक करना है।

प्रेस वार्ता के दौरान जिला जज व सचिव ने बताया कि हमारे आस-पास कई ऐसे समस्याएं होती है, जिनका निदान जानकारी के अभाव में मुश्किल हो जाती है और व्यक्ति को उनके उचित अधिकार प्राप्त नहीं हो पाते हैं। उदाहरण के रूप में आयकर रिटर्न बहुत से लोग दाखिल नहीं करते हैं। चाहे वह प्रतिदिन मजदूरी करने वाला ही क्यों न हो आयकर रिटर्न दाखिल करनी चाहिए।

प्राधिकार ने अपना लक्ष्य तय कर रखा है
जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव प्रणव शंकर ने बताया कि 11 दिसंबर को औरंगाबाद सिविल कोर्ट व दाउदनगर अनुमंडलीय कोर्ट में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जाएगा। जिसकी तैयारी शुरू कर दी गई है। प्राधिकार ने अपना लक्ष्य तय कर रखा है। पिछले आयोजित हुए राष्ट्रीय लोक अदालत से लगभग 50 प्रतिशत अधिक मामले निष्पादन कराने का लक्ष्य है।

खबरें और भी हैं...