पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पहल:आंगनबाड़ी केन्द्रों में गर्भवती को दी गई पोषण की पोटली

औरंगाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • गोदभराई उत्सव का आयोजन कर गर्भावस्था के दौरान उचित पोषण की दी गई जानकारी

जिले के सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों पर गुरूवार को गोद भराई उत्सव का आयोजन किया गया। मंगल गीतों से कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया और गर्भवती महिला को उपहार के रूप में पोषण की पोटली दी गई। गर्भवती महिलाओं को चुनरी ओढ़ाकर और टीका लगाकर गोदभराई का रस्त पूरी की गई। सभी महिलाओं को अच्छे सेहत के लिए पोषण की आवश्यकता व महत्व के बारे में जानकारी दी गई।

वहीं गर्भस्थ शिशु की बेहतर स्वास्थ्य की कामना की गई। गर्भावस्था के दौरान उचित पोषाहार के साथ- साथ आयरन की गोनी खाने की सलाह दी गई। साफ पानी व ताजा भोजन करने की सलाह दी गई। बताया गया कि यह संक्रामक रोगों से बचाव करता है।

ओबरा प्रखंड के इमामबाड़ा आंगनबाड़ी केन्द्र संख्या 159 पर सेविका उषा कंुवर की अध्यक्षता में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस मौके पर सहायिका अनिता कुमारी, आशा कार्यकर्ता निर्मला कुमारी सहित अन्य मौजूद रहे। इधर प्रखंड के विभिन्न आंगनबाड़ी केन्द्रों पर भी कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

एनीमिया प्रबंधन की दी गई जानकारी, रोकथाम जरूरी
गोद भराई रस्म के दौरान एनीमिया प्रबंधन की जानकारी दी गई। बताया गया कि गर्भवती माता, किशोरियां व बच्चों में एनीमिया की रोकथाम जरूरी है। गर्भवती महिला को 180 दिन तक आयरन की एक लाल गोली जरूर खानी चाहिए। 10 वर्ष से 19 साल की किशोरियों को भी प्रति सप्ताह आयरन की एक नीली गोली का सेवन करनी चाहिए।

छह माह से पांच साल तक के बच्चों को सप्ताह में दो बार एक-एक मिलीलीटर आयरन सिरप देनी चाहिए। साथ ही गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को आयरन की गोली खाने की सलाह दी गई। जिसमें बताया गया कि गर्भवती महिला कुछ सावधानी और समय से पौष्टिक आहार का सेवन करें तो बिना किसी अड़चन के स्वस्थ बच्चे को जन्म दे सकती हैं।

स्तनपान के साथ ऊपरी आहार की काफी जरूरत
बताया कि शिशु के जन्म के एक घंटे के भीतर मां का गाढ़ा-पीला दूध बच्चे की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। अगले छह माह तक केवल मां का दूध बच्चे को कई गंभीर रोगों से सुरक्षित रखता है। 6 माह के बाद बच्चे का शारीरिक एवं मानसिक विकास काफी तेजी से होता है। इस दौरान स्तनपान के साथ ऊपरी आहार की काफी जरूरत होती है।

घर का बना मसला व गाढ़ा भोजन ऊपरी आहार की शुरुआत के लिए जरूरी होता है। वहीं, कहा कि सामान्य प्रसव के लिए गर्भधारण होने के साथ ही महिलाओं को चिकित्सकों से जांच कराना चाहिए और चिकित्सा परामर्श का पालन करना चाहिए। इन सारी बातों पर चर्चा कर लाभार्थियों को इसकी जानकारी दी गयी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने व्यक्तिगत रिश्तों को मजबूत करने को ज्यादा महत्व देंगे। साथ ही, अपने व्यक्तित्व और व्यवहार में कुछ परिवर्तन लाने के लिए समाजसेवी संस्थाओं से जुड़ना और सेवा कार्य करना बहुत ही उचित निर्ण...

    और पढ़ें